स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

देश में कोविड के वास्तविक मामलों की संख्या केवल 3,58,692 ही है

स्वस्थ हो चुके मामलों की संख्या बढ़कर 6,53,750 तक पहुंची

बिहार के लिए तत्काल विशिष्ट केंद्रीय टीम भेजी जा रही है

Posted On: 18 JUL 2020 2:18PM by PIB Delhi

केंद्र के नेतृत्व में तथा राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा कार्यान्वित, देश में कोविड-19 के प्रभावी प्रबंधन के लिए समयबद्ध, सक्रिय एवं श्रेणीबद्ध कार्यनीतिक पहलों ने यह सुनिश्चित किया है कि कोविड रोगियों के मामलों की वास्तविक संख्या (केस लोड) प्रबंधन योग्य बनी रही है। आज देश में कोविड के वास्तविक मामलों की संख्या केवल 3,58,692 ही है। स्वस्थ हो चुके मामलों की संख्या और अधिक बढ़कर 6,53,750 तक पहुंच चुकी है। स्वस्थ हो चुके मामलों तथा सक्रिय मामलों के बीच का अंतर लगातार बढ़ रहा है। आज इसकी संख्या 2,95,058 है। सभी 3,58,692 सक्रिय मामलों को या तो होम आइसोलेशन में या फिर गंभीर मामलों में अस्पतालों में चिकित्सा देखभाल उपलब्ध कराई जा रही है।

केंद्र तथा राज्य/केंद्र शासित प्रदेश की सरकारों द्वारा समन्वित उपायों ने कोविड महामारी का प्रभावी समग्र प्रबंधन सुनिश्चित किया है। केंद्र सरकार ऐसे मामलों में जहां केस लोड में बढोत्‍तरी देखी जा रही है, केंद्रीय टीमों को भेजने के जरिये राज्य सरकारों के प्रयासों की मदद एवं पूरक सहायता जारी रखी है। बिहार में कोविड प्रबंधन के आकलन में राज्य की सहायता करने तथा सभी आवश्यक मदद उपलब्ध कराने के लिए एक केंद्रीय टीम तैनात की गई। इस टीम में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के संयुक्त सचिव (सार्वजनिक स्वास्थ्य), एनसीडीसी के निदेशक डॉ. एस. के. सिंह और नई दिल्ली स्थित एम्स के एसोसिएट प्रोफेसर (मेडिसिन) डॉ. नीरज निश्चल शामिल हैं। यह टीम कल बिहार पहुंचेगी। 

सरकार की नियंत्रण कार्यनीति का फोकस घर-घर जाकर सर्वे करने, परिधि नियंत्रण कार्यकलापों, समयबद्ध कांटैक्ट ट्रेसिंग, कंटेनमेंट एवं बफर जोनों की निगरानी पर बना हुआ है और इसके अतिरिक्त, एक मानक देखभाल दृष्टिकोण के जरिये गंभीर मामलों का प्रभावी नैदानिक प्रबंधन भी किया जा रहा है।

पिछले 24 घंटों के दौरान, 17,994 कोविड-19 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। स्वस्थ होने की दर अब 63 प्रतिशत है।

आईसीएमआर की नवीनतम टेस्टिंग कार्यनीति सभी पंजीकृत चिकित्सकों को टेस्टिंग की अनुशंसा करने की अनुमति देती है। ट्रूनेट एवं सीबीनैट द्वारा प्रेरित आरटी-पीसीआर जांच एवं रैपिड एंटीजेन प्वाईंट ऑफ केयर (पीओसी) जांचों की वजह से जांच किए गए नमूनों की संख्या में उछाल आया है, पिछले 24 घंटों के दौरान 3,61,024 नमूनों की जांच की गई है, जांच किए गए 1,34,33,742 नमूनों की संचयी संख्या ने भारत के लिए प्रति मिलियन जांच को बढ़ाकर 9734.6 तक पहुंचा दिया है।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशनों/आवासीय सोसाइटियों/गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) द्वारा लघु कोविड देखभाल सुविधा केंद्रों की स्थापना के इच्छुक गेटेड रेजीडेंसियल परिसरों के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। इनका विवरण  https://www.mohfw.gov.in/pdf/CovidCareFacilityinGatedcomplexes.pdf पर उपलब्ध है।

मंत्रालय ने कोविड-19 के संबंध में गेटेड रेजीडेंसियल परिसरों के लिए परामर्शी भी जारी किए हैं। इनका विवरण https://www.mohfw.gov.in/pdf/AdvisoryforRWAsonCOVID19.pdf पर उपलब्ध है।

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मुद्दों, दिशानिर्देशों एवं परामर्शियों पर प्रमाणित और अद्यतन जानकरी के लिए कृपया नियमित रूप से https://www.mohfw.gov.in/ and @MoHFW_INDIA. का अवलोकन करें। 

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी प्रश्नों को technicalquery.covid19[at]gov[dot]in पर तथा अन्य प्रश्नों को ncov2019[at]gov[dot]in और @CovidIndiaSeva . पर भेजा जा सकता है।

कोविड-19 से संबंधित किसी भी प्रश्न के मामले में कृपया स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय हेल्पलाइन नंबर  +91-11-23978046 या 1075  (टौल फ्री) पर काल करें। कोविड-19 पर राज्यों / यूटी के हेल्पलाइन नंबरों की सूची भी  https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdf . पर उपलब्ध है।

***

एसजी/एएम/एसकेजे/एसएस



(Release ID: 1639622) Visitor Counter : 227