वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल और अमेरिका के वाणिज्य सचिव श्री विल्बर रॉस के बीच टेलीफ़ोन पर बातचीत हुई

Posted On: 16 JUL 2020 6:53PM by PIB Delhi

केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग तथा रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल और अमेरिका के वाणिज्य सचिव श्री विल्बर रॉस के बीच 16 जुलाई 2020 को टेलीफ़ोन पर अनौपचारिक बातचीत हुई। एक दिन पहले-15 जुलाई 2020 को भारत-अमेरिका सीइओ फोरम की बैठक का आयोजन किया गया था।

शुरुआत में, दोनों राजनेताओं ने एक-दूसरे का कुशल-क्षेम पूछा और दोनों देशों में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा की तथा महामारी से लड़ने में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत एवं दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र अमेरिका के बीच सहयोग की सराहना की।

दोनों राजनेताओं ने भारत-यूएसए के बीच जारी व्यापार चर्चाओं पर भी बातचीत की और अधिकांश मुद्दों पर दोनों पक्षों द्वारा की गई प्रगति की सराहना की। प्रारंभिक सीमित व्यापार पैकेज को समाप्त करने की इच्छा व्यक्त की गई और भारत-यूएसए द्विपक्षीय व्यापार के महत्त्व को रेखांकित करते हुए, एफटीए की संभावना पर चर्चा हुई।

मंत्री श्री गोयल ने यूएसए द्वारा कुछ भारतीय उत्पादों (24 वस्तुएं) को टीवीपीआरए (पीड़ित सुरक्षा व्यापार पुनर्प्रधिकार अधिनियम) सूची में रखने और उन्हें 'बाल श्रम क्षेत्र’ के रूप में नामित' करने पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इससे अमेरिकी सरकारी एजेंसियों के आपूर्ति अनुबंध में भाग लेने का अवसर नहीं मिल पाता है। इसके समाधान के लिए वाणिज्य सचिव श्री रॉस ने दोनों देशों के श्रम विभाग के अधिकारियों के बीच बैठक की पेशकश की।

मंत्री श्री गोयल ने लंबित 'यूएस-इंडिया सामाजिक सुरक्षा समझौता' पर भी बातचीत की, जिसपर फरवरी 2020 में राष्ट्रपति ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान भी चर्चा हुई थी। भारत की चिंता की सराहना करते हुए, सचिव श्री रॉस ने उल्लेख किया कि अमेरिका की वैधानिक आवश्यकताओं को पूरा करना होगा। उन्होंने अमेरिका के सामाजिक सुरक्षा प्रशासक और संबंधित भारतीय अधिकारियों के बीच एक बैठक आयोजित करने और संभावित समाधान पर चर्चा करने की पेशकश की।

मंत्री श्री गोयल ने कहा कि अमेरिका ने भारत से झींगा के आयात पर प्रतिबंध इस आधार पर लगाया गया था कि भारत में मछली पकड़ने की प्रथा समुद्री कछुओं की रक्षा के लिए अमेरिकी नियमों के अनुरूप नहीं है। उन्होंने समुद्री कछुओं की रक्षा में भारतीय तटीय राज्यों द्वारा किए गए विभिन्न संरक्षण उपायों का उल्लेख किया। सचिव श्री रॉस ने भारत की चिंताओं की सराहना की और इस संबंध में अमेरिकी विभाग के अधिकारियों और समुद्री संरक्षण कार्यालय तथा भारतीय मत्स्य विभाग और वन और पर्यावरण मंत्रालय के बीच चर्चा करने पर सहमति व्यक्त की।

समापन पर, मंत्री श्री गोयल और सचिव श्री रॉस ने एक-दूसरे को धन्यवाद दिया तथा भारत और अमेरिका के बीच व्यापार और आर्थिक संबंधों को और मजबूत करने के लिए साथ मिलकर काम करने का संकल्प व्यक्त किया।

***

एसजी/एएम/जेके/एसएस



(Release ID: 1639253) Visitor Counter : 134