रक्षा मंत्रालय

भारत और बांग्लादेश की सेनाओं ने संयुक्त अभ्यास शुरू किया


उमरोई, मेघालय में संप्रति-XI

Posted On: 03 OCT 2023 3:21PM by PIB Delhi

भारत और बांग्लादेश ने 03 अक्टूबर 2023 को उमरोई, मेघालय में वार्षिक संयुक्त सैन्य अभ्यास, सम्प्रीति का 11वां संस्करण शुरू किया। दोनों देशों द्वारा बारी-बारी से आयोजित यह अभ्यास मजबूत द्विपक्षीय रक्षा सहयोग पहल का प्रतीक है। 2009 में असम के जोरहाट में शुरुआत के साथ, इस अभ्यास के 2022 तक दस सफल संस्करण देखे गए हैं।

14 दिनों के लिए निर्धारित संप्रति-XI में दोनों पक्षों के लगभग 350 जवान शामिल होंगे। यह अभ्यास दोनों सेनाओं के बीच मिलकर काम करने की क्षमता बढ़ाने, सामरिक अभ्यास साझा करने और सर्वोत्तम कार्य प्रणालियों को बढ़ावा देने के महत्व को रेखांकित करता है।

बांग्लादेश की टुकड़ी में 170 जवान शामिल हैं, जिनका नेतृत्व 52 बांग्लादेश इन्फैंट्री ब्रिगेड के कमांडर ब्रिगेडियर जनरल मोहम्मद मफिज़ुल इस्लाम राशेद कर रहे हैं। बांग्लादेश सेना की ओर से प्रमुख इकाई 27 बांग्लादेश इन्फैंट्री रेजिमेंट है। भारतीय दल में मुख्य रूप से राजपूत रेजिमेंट की एक बटालियन के सैनिक शामिल हैं।  माउंटेन ब्रिगेड के कमांडर ब्रिगेडियर एसके आनंद भारतीय दल का नेतृत्व कर रहे हैं। इस अभ्यास में दोनों पक्षों की विभिन्न इकाइयों जैसे तोपखाने, इंजीनियरों और अन्य सहायक हथियारों और सेवाओं के कर्मी भी भाग लेंगे।

संयुक्त राष्ट्र के शासनादेश के अध्याय VII के अनुसार उप-पारंपरिक कार्य के संचालन पर केंद्रित, सम्प्रीति-XI में एक कमांड पोस्ट एक्सरसाइज (सीपीएक्स) और एक फील्ड ट्रेनिंग एक्सरसाइज (एफटभ्एक्स) शामिल होगी, जो समापन अभ्यास के साथ खत्म होगी।

प्रत्येक दल से 20 अधिकारी सीपीएक्स में भाग लेंगे और गहन विचार-विमर्श के बाद निर्णय लेने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। इसके बाद एफटीएक्स होगा जिसमें जमीनी स्तर के संचालन को मान्य किया जाएगा। एफटीएक्स में आतंकवाद विरोधी अभियानों के लिए संयुक्त सामरिक अभ्यासों की एक श्रृंखला शामिल होगी जैसे बंधकों को छुड़ाना, भीड़ नियंत्रण उपाय और आतंकवाद विरोधी अभियानों में हेलीकॉप्टरों का उपयोग। सत्यापन अभ्यास 14 और 15 अक्टूबर 2023 को दारांग फील्ड फायरिंग रेंज, असम में आयोजित किया जाएगा। अभ्यास के दौरान, प्रतिभागियों को 'आत्मनिर्भर भारत' उपकरण की ताकत भी देखने को मिलेगी।

सम्प्रीति-XI भारत और बांग्लादेश के बीच रक्षा सहयोग को और बढ़ाने, गहरे द्विपक्षीय संबंधों, सांस्कृतिक समझ और उप पारंपरिक संचालन में साझा अनुभवों से पारस्परिक लाभ को बढ़ावा देने का वादा करता है।

***

एमजी/एमएस/आरपी/केपी/एचबी/डीके



(Release ID: 1963724) Visitor Counter : 671