PIB Headquarters
azadi ka amrit mahotsav

कोविड-19 पर पीआईबी का बुलेटिन

Posted On: 20 MAY 2022 6:05PM by PIB Delhi

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0020FX3.png

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001BPSF.jpg

  • राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान में अब तक टीके की 191.96 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं
  • वर्तमान में 15,044 सक्रिय मामले
  • वर्तमान सक्रिय मामले 0.03 प्रतिशत
  • संक्रमण से मुक्त होने की दर 98.75 प्रतिशत
  • बीते 24 घंटे में 2,614  मरीज संक्रमण से मुक्त हुए, देश में संक्रमण से मुक्त होने वालों की संख्या बढ़ कर 4,25,92,455 हुई
  • बीते 24 घंटे में देश में 2,259  नये मामले दर्ज किये गए
  • दैनिक पॉजिटिविटी दर 0.50 प्रतिशत
  • साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 0.53 प्रतिशत
  • अब तक कुल 84.58 करोड़ जांच की गयी, बीते 24 घंटे में 4,51,179 जांच की गई

 

#Unite2FightCorona                          #IndiaFightsCorona

Press Information Bureau

Ministry of Information & Broadcasting

Government of India

***** 

Image

Image

राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 191.96 करोड़ से अधिक टीके लगाए जा चुके हैं

12-14 आयु वर्ग में 3.24 करोड़ से अधिक खुराकें लगाई गई

भारत में कोरोना के सक्रिय मामले 15,044 हैं

पिछले 24 घंटों में 2,259 नए मामले सामने आए

स्वस्थ होने की वर्तमान दर 98.75 प्रतिशत

साप्ताहिक सक्रिय मामलों की दर 0.53 प्रतिशत है
 

भारत का कोविड-19 टीकाकरण कवरेज आज सुबह 7 बजे तक अंतिम रिपोर्ट के अनुसार 191.96 करोड़ (1,91,96,32,518) से अधिक हो गया। इस उपलब्धि को 2,41,17,166 टीकाकरण सत्रों के जरिये प्राप्त किया गया है।

12-14 आयु वर्ग के लिए कोविड-19 टीकाकरण 16 मार्च, 2022 को प्रारंभ हुआ था। अब तक 3.24 करोड़ (3,24,75,018) से अधिक किशोरों को कोविड-19 टीके की पहली खुराक लगाई गई है। समान रुप से 18-59 आयु वर्ग के लिये प्रीकॉशन खुराक भी 10 अप्रैल, 2022 को प्रारंभ की गई थी।

आज सुबह 7 बजे तक की अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार कुल टीकाकरण का विवरण इस प्रकार से है:

 

 

 

स्वास्थ्य कर्मी

पहली खुराक

1,04,06,359

दूसरी खुराक

1,00,32,661

प्रीकॉशन खुराक

50,77,626

 

 

अग्रिम पंक्ति के कर्मी

पहली खुराक

1,84,18,020

दूसरी खुराक

1,75,70,727

 

प्रीकॉशन खुराक

83,02,533

12-14 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

3,24,75,018

दूसरी खुराक

1,33,64,363

15-18 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

5,91,09,660

दूसरी खुराक

4,45,34,980

 

18-44 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

55,67,63,388

दूसरी खुराक

48,63,52,174

प्रीकॉशन खुराक

5,16,058

 

45-59 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

20,31,78,740

दूसरी खुराक

19,00,08,329

प्रीकॉशन खुराक

11,12,877

 

 

 

60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग

पहली खुराक

12,70,39,365

दूसरी खुराक

11,84,58,135

प्रीकॉशन खुराक

1,69,11,505

  प्रीकॉशन खुराक

 

3,19,20,599

कुल

 

1,91,96,32,518

 

भारत में सक्रिय मामले आज 15,044 हैं। सक्रिय मामले, कुल पॉजिटिव मामलों के 0.03 प्रतिशत हैं।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002ULHS.jpg

नतीजतन, भारत में स्वस्थ होने की दर 98.75 प्रतिशत है।पिछले 24 घंटों में 2,614 रोगियों के ठीक होने के साथ ही स्वस्थ होने वाले मरीजों (महामारी की शुरुआत के बाद से) की कुल संख्या बढ़कर 4,25,92,455 हो गई है।

   

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003T8HI.jpg

बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,259 नए मामले सामने आएं।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0046MJO.jpg

पिछले 24 घंटों में कुल 4,51,179 जांच की गई हैं। भारत ने अब तक कुल 84.58 करोड़ से अधिक (84,58,55,351) जांच की गई हैं। देश में साप्ताहिक पुष्टि वाले मामलों की दर 0.53 प्रतिशत है और दैनिक रूप से पुष्टि वाले मामलों की दर 0.50 प्रतिशत है।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image005F5N0.jpg

जानकारी के लिये : https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1826816

राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की उपलब्‍धता

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 193.53  करोड़ से अधिक  टीके प्रदान किये गए

राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी 16.72 करोड़ से अधिक अतिरिक्त और बिना इस्तेमाल हुई खुराकें  मौजूद हैं

 

केंद्र सरकार देशभर में कोविड-19 टीकाकरण का दायरा विस्तृत करने और लोगों को टीके लगाने की गति को तेज करने के लिये प्रतिबद्ध है। राष्ट्रव्यापी कोविड 19 टीकाकरण अभियान 16 जनवरी,2021 को प्रांरभ हुआ था। कोविड-19 के टीके को सभी के लिए उपलब्ध कराने के लिए नया चरण 21 जून 2021 से शुरू किया गया था। टीकाकरण अभियान की रफ्तार को अधिक से अधिक टीके की उपलब्धता के जरिये बढ़ाया गया है। इसके तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को टीके की उपलब्धता के बारे में पूर्व सूचना प्रदान की जाती है, ताकि वे बेहतर योजना के साथ टीके लगाने का बंदोबस्त कर सकें और टीके की आपूर्ति श्रृंखला को दुरुस्त किया जा सके।

देशव्यापी टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में केंद्र सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नि:शुल्क कोविड टीके प्रदान करके उन्हें पूर्ण सहयोग दे रही है। टीके की सर्व-उपलब्धता के नये चरण में, केंद्र सरकार टीका निर्माताओं से 75 प्रतिशत टीके खरीदकर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नि:शुल्क प्रदान करेगी।

टीके की खुराकें

(20 मई, 2022 तक)

अब तक हुई आपूर्ति

1,93,53,58,865

शेष टीके

16,72,85,910

 

केंद्र सरकार द्वारा अब तक निःशुल्क और सीधे राज्य सरकार खरीद माध्यमों से टीके की लगभग 193.53 करोड़ (1,93,53,58,865) खुराकें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को उपलब्ध कराई गई हैं। अभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की 16.72 करोड़ से अधिक (16,72,85,910) अतिरिक्त और बिना इस्तेमाल हुई खुराकें उपलब्‍ध है, जिन्हें लगाया जाना है।

 

जानकारी के लिये : https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1826817

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कुछ राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड 19 टीकाकरण में उल्लेखनीय गिरावट को लेकर चिंता जताई

कोविड टीकाकरण कवरेज की गति को तेज करने और सभी पात्र लोगों का टीकाकरण करने के लिए जून में दो महीने तक चलने वाला "हर घर दस्तक 2.0" शुरू होगा

टीकाकरण केंद्रों या राज्य सरकार को ऐसे लाभार्थियों को एहतियाती खुराक के लिए विदेश यात्रा के किसी भी दस्तावेज पर जोर नहीं देना चाहिए

राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से कोविड19 वैक्सीन की बर्बादी रोकने का आग्रह किया; "फर्स्ट एक्सपायरी फर्स्ट आउट" सिद्धांत का पालन करें

 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड19 टीकाकरण की काफी धीमी गति को लेकर चिंता व्यक्त की है, और सभी पात्र लोगों को टीका लगाकर पूर्ण टीकाकरण कवरेज की गति में तेजी लाने का आग्रह किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव श्री राजेश भूषण ने इस बारे में आज एक वीडियो कॉन्फ्रेंस (वीसी) के माध्यम से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिवों और एनएचएम एमडी के साथ कोविड टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा करने के बाद सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सूचित किया है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image00279B3.png

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003AA6E.png

 

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने देश भर में कोविड19 टीकाकरण की हाल की गति में तेजी लाने के लिए एक गहन 'मिशन मोड' की तत्काल आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को जून-जुलाई के दौरान दो महीने तक चलने वाले "हर घर दस्तक" अभियान 2.0 की विस्तृत योजना बनाने की सलाह दी है जिसमें जिला, प्रखंड और ग्राम स्तर पर टीकाकरण की की विस्तृत योजना हो। 'हर घर दस्तक' अभियान 2.0 का उद्देश्य अलग-अलग अभियानों के जरिए घर-घर जाकर पात्र लोगों को पहले, दूसरे और एहतियाती खुराक देकर उनका पूर्ण टीकाकरण करना है जिसमें वृद्धाश्रमों, स्कूलों / कॉलेजों के लिए केंद्रित अभियान शामिल हैं। इसमें स्कूल के बाहर के बच्चे (12-18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए केंद्रित कवरेज), जेलों, ईंट भट्ठों, आदि में काम करने वालों का भी टीकाकरण शामिल है। इसमें 60 वर्ष या इससे अधिक की आयु के लोगों के लिए एहतियाती खुराक देना शामिल है, जो इसके अभाव में बीमारी की चपेट में जल्द आ सकते हैं। इसके साथ ही 12-14 वर्ष के समूह में टीकाकरण कवरेज की उल्लेखनीय धीमी गति को भी इंगित किया गया। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से सभी पात्र लाभार्थियों की देय सूचियों के आधार पर सूक्ष्म योजनाओं के साथ प्रभावी निगरानी करने का आग्रह किया गया। उनसे निजी अस्पतालों के साथ नियमित रूप से 18-59 वर्ष आयु वर्ग के लिए एहतियाती खुराक दिलाए जाने की समीक्षा करने का भी आग्रह किया गया।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने राष्ट्रव्यापी कोविड19 टीकाकरण की गति बढ़ाने के लिए एक स्पष्ट और प्रभावी संचार रणनीति पर जोर दिया। उन्होंने इस बात की ओर ध्यान दिलाया कि अनुकूलित क्षेत्रीय संचार की बेहतरीन तरीकों से देश ने 191 करोड़ से अधिक खुराक दिलाने में सराहनीय परिणाम प्राप्त किए हैं। उन्होंने क्षेत्र के असरदार लोगों, सामुदायिक नेताओं, अभिनव अभियानों आदि पर ध्यान केंद्रित करने की सलाह दी।

टीकों की राज्य-वार उपलब्धता बनाम बाकी लाभार्थियों के आंकड़ों के साथ, राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को उनके पास अप्रयुक्त टीके की लगभग एक्सपायरी वाले खुराक के स्टॉक के बारे में सूचित किया गया था। यह खास तौर पर बताते हुए कि कोविड19 वैक्सीन एक अनमोल राष्ट्रीय संसाधन है, उन्हें यह सुनिश्चित करने की कड़ाई से सलाह दी गई कि किसी भी कीमत पर कोविड-19 टीकों की बर्बादी न हो। यह सक्रिय निगरानी के माध्यम से और "फर्स्ट एक्सपायरी फर्स्ट आउट" सिद्धांत के आधार पर सुनिश्चित किया जाना चाहिए, जहां पहले एक्सपायर होने वाली खुराक का टीकाकरण के लिए उपयोग पहले किया जाना चाहिए। यह बताते हुए कि दिसंबर 2021 से राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को उनकी मांग के अनुसार वैक्सीन खुराक की आपूर्ति की गई है, उन्हें सलाह दी गई कि वे पहले आगामी मई, जून और जुलाई महीनों में अप्रयुक्त पड़े खुराक का उपयोग करें।

यह पाया गया कि कुछ राज्यों में, जो व्यक्ति विदेश यात्रा करना चाहते हैं और दूसरी खुराक के 90 दिनों के भीतर एहतियाती खुराक लेना चाहते हैं, उन्हें इच्छित विदेश यात्रा का प्रमाण प्रस्तुत करने के लिए कहा जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने जोर देते हुए दोहराया कि किसी भी परिस्थिति में किसी भी टीकाकरण केंद्र या राज्य सरकार को विदेश यात्रा पर जाने से पहले एहतियाती खुराक की मांग करने वालों से विदेश यात्रा के किसी भी दस्तावेजी प्रमाण के लिए जोर नहीं देना चाहिए। इस संबंध में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को पहले ही जानकारी साझा किया जा चुका है।


जानकारी के लिये : https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1826980

 

एमजी/एएम/केजे

 



(Release ID: 1827109) Visitor Counter : 121


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Manipuri