वित्‍त मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

दीपावली की पूर्व संध्या पर सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कमी की घोषणा की

पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कल से क्रमश: 5 रुपये और 10 रुपये की कटौती की जाएगी

पेट्रोल और डीजल के दाम उसी हिसाब से कम हो जाएंगे

डीजल पर उत्पाद शुल्क में कमी पेट्रोल की तुलना में दोगुनी होगी और आगामी रबी सीजन के दौरान किसानों के लिए एक प्रोत्साहन का काम करेगी

लोगों को राहत देने के लिए राज्यों से भी पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करने का आग्रह किया गया

Posted On: 03 NOV 2021 8:18PM by PIB Delhi

भारत सरकार ने कल से पेट्रोल और डीजल पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क में क्रमश: 5 रुपये और 10 रुपये की कमी करने का महत्वपूर्ण फैसला किया है। पेट्रोल और डीजल की कीमतें उसी हिसाब से कम हो जाएंगी।

डीजल पर उत्पाद शुल्क में कमी पेट्रोल की तुलना में दोगुनी होगी। भारतीय किसानों ने अपनी कड़ी मेहनत से लॉकडाउन के दौरान भी आर्थिक विकास की गति को बनाए रखा और अब डीजल पर उत्पाद शुल्क में भारी कमी आने वाले रबी सीजन के दौरान किसानों को राहत देगी।

हाल के महीनों में, कच्चे तेल की कीमतों में वैश्विक उछाल देखा गया है। इसके परिणामस्वरूप, हाल के हफ्तों में पेट्रोल और डीजल की घरेलू कीमतों में मुद्रास्फीति के दबाव में वृद्धि हुई थी। दुनिया में भी सभी प्रकार की ऊर्जा में कमी और कीमतों में बढ़ोतरी देखी गई। भारत सरकार ने यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया कि देश में ऊर्जा की कमी न हो और पेट्रोल व डीजल जैसी चीजें हमारी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पर्याप्त रूप से उपलब्ध हों।

भारतीयों की उद्यमी क्षमता के दम पर भारतीय अर्थव्यवस्था ने कोविड-19 के चलते आई मंदी के माहौल से निकलकर एक महत्वपूर्ण रफ्तार पकड़ी है। अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों में- वह चाहे विनिर्माण, सेवा या कृषि हों- महत्वपूर्ण आर्थिक गतिविधियां तेजी से बढ़ रही हैं।

अर्थव्यवस्था को और रफ्तार देने के लिए, भारत सरकार ने डीजल और पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क काफी कम करने का फैसला किया है।

पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कमी से खपत बढ़ेगी और मुद्रास्फीति कम रहेगी, जिससे गरीब और मध्यम वर्ग को मदद मिलेगी। आज के फैसले से समग्र आर्थिक चक्र को और गति मिलने की उम्मीद है।

राज्यों से भी आग्रह किया गया है कि वे उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए उसी हिसाब से पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करें।

 

एमजी/एएम/एएस



(Release ID: 1769385) Visitor Counter : 120