सूचना और प्रसारण मंत्रालय

पूर्वोत्तर क्षेत्र, प्रसार भारती के डिजिटल विकास को तेजी से विस्तार दे रहा है

Posted On: 21 SEP 2021 5:14PM by PIB Delhi

भारतीय डिजिटल मीडिया उद्योग में प्रसार भारती के डिजिटल नेटवर्क ने सिर्फ राजस्व आधारित विकास नहीं किया है बल्कि समावेशी विकास पर ध्यान केंद्रित करके एक विशेष जगह बनाई है। डिजिटल दुनिया में भी लोक प्रसारक जनता की सेवा करते हुए, प्रसार भारती के पूर्वोत्तर के दूरस्थ क्षेत्रों में डिजिटल प्लेटफॉर्म ने यू-ट्यूब पर 220 मिलियन से अधिक बार देखे जाने और 1 मिलियन से अधिक सब्सक्राइबर्स को एक साथ जोड़कर महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं।

हाल ही में ऐसी ही एक उपलब्धि के अंतर्गत, दूरदर्शन आइजोल के यू-ट्यूब चैनल ने 1 लाख सब्सक्राइबर्स की संख्या को पार कर लिया है। व्यूज और सब्सक्राइबर्स आधार में ये वृद्धि टेलीविज़न नाटक, टेलीफिल्म्स और फिल्मों की शैलियों में उच्च गुणवत्ता वाली सामग्री के कारण हुई है।

पूर्वोत्तर क्षेत्र में दूरदर्शन और ऑल इंडिया रेडियो के कई ट्विटर हैंडल के हजारों की संख्या में फॉलोअर्स हैं। कई फॉलोअर्स को ट्विटर से ब्लू टिक वेरिफिकेशन प्राप्त है

डीडी मिजोरम, डीडी गुवाहाटी, डीडी शिलॉन्ग और आकाशवाणी पूर्वोत्तर सेवा के यू-ट्यूब न्यूज चैनलों के सब्सक्राइबर्स का आधार काफी बड़ा है, जिसमें डीडी न्यूज मिजोरम सबसे आगे है।

 

प्रसार भारती के इन पूर्वोत्तर चैनलों में से अधिकांश के डिजिटल माध्यम पर लाखों में व्यूज़ हैं और देखे गए कार्यक्रम का समय लाखों घंटों में हैं, जिसमें मणिपुर का दूरदर्शन और ऑल इंडिया रेडियो चैनल सारणी में शीर्ष स्थान पर हैं।

*****

एमजी/एएम/एमकेएस/एसके



(Release ID: 1756787) Visitor Counter : 328