रेल मंत्रालय

‘वित्त वर्ष 2021-21 के दौरान माल ढुलाई और आय के मामले में भारतीय रेलवे ने सर्वाधिक ढुलाई के आंकड़े दर्ज किए


वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय रेलवे ने कुल 1232.63 मिलियन टन माल की ढुलाई की है जो पिछले वर्ष की इसी अवधि के 1209.32 मिलियन टन से 1.93 प्रतिशत अधिक है

वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय रेलवे को माल ढुलाई से 1,17,386.00 करोड़ की आय हुई जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की 1,13,897.20 करोड रूपये से 3 प्रतिशत अधिक है

सितम्बर 20 से मार्च 21 से सात महीनों में लगातार अब तक की सबसे अधिक माल ढुलाई हुई है

मार्च 2021 में भारतीय  रेलवे ने 130.38 मिलियन टन माल की ढुलाई की है जो 27.33 प्रतिशत की वृद्धि दिखाता है

मार्च 2021 में ही भारतीय रेलवे को माल ढुलाई से 12,887.71 करोड़ रूपये की आय हुई जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में हुई आय से भी 26.16 प्रतिशत अधिक है

Posted On: 01 APR 2021 4:52PM by PIB Delhi

कोविड की चुनौतियों के बावजूद भी भारतीय रेलवे ने माल ढुलाई के एक नए कीर्तिमान के साथ वित्त वर्ष 2020-21 का समापन किया है  I

वित्त वर्ष 2020-21 के अंतिम माह में भारतीय रेलवे ने 1232.63 मिलियन टन माल की  ढुलाई करके  पिछले  वर्ष  की इसी अवधि की ढुलाई को पीछे छोड़ दिया है जो 1209.32 मिलियन टन थी और यह 1.93 प्रतिशत अधिक की वृद्धि दर्शाता हैI

 

इस अवधि में माल ढुलाई से 1,17,386.0 करोड़ की आय का अर्जन किया जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की आय 1,13,897.20 करोड रूपये से 3 प्रतिशत अधिक है I

 

भारतीय रेलवे ने सितम्बर 2020 से मार्च 2021 तक के लगातार सात महीनों में अब तक की सर्वाधिक माल ढुलाई की हैI

 

मिशन मोड़ में भारतीय रेलवे ने मार्च 2021 में पिछले वर्ष की इसी अवधि से अधिक माल ढुलाई और आय का अर्जन किया है I

 

मार्च 2021 में भारतीय  रेलवे ने 130.38 मिलियन टन माल की ढुलाई की है पिछले वर्ष की इसी अवधि की 103.05 मिलियन टन की माल ढुलाई से जो 27.33 प्रतिशत अधिक हैI भारतीय रेलवे द्वारा की गई 130.38 मिलियन ढुलाई में 58.57 मिलियन टन कोयला, 16.78 मिलियन टन लौह अयस्क, 3.67 मिलियन टन खाद्यान्न, 2.57 मिलियन टन उर्वरक, 3. 97 मिलियन टन खनिज तेल, और 9.56 मिलियन टन सीमेंट (क्लिंकर छोडकर) शामिल है I मार्च 2021 में भारतीय रेलवे को माल ढुलाई से 12,887.71 करोड़ रूपये की आय हुई जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में हुई 10,215.08 करोड़ रूपये की  आय से भी 26.16 प्रतिशत अधिक है

यह उल्लेख करना भी उचित होगा कि रेल से माल ढुलाई को अत्यधिक आकर्षक बनाने के  लिए  भारतीय रेलवे की ओर से कई तरह की रियायतें भी डी जाती हैं I

 

यह भी ध्यान में रखा होगा कि रेलवे की वर्तमान व्यवस्था में मालगाड़ियों की गति में भी अच्छी खासी वृद्धि की गई है I मार्च 2021 में मालगाड़ियों की औसत गति 45.6 किमी प्रति घंटा रही जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की औत गति 24.93 किमी प्रति घंटा से 83 प्रतिशत अधिक है I

 

साथ ही माल ढुलाई में हुए इस सुधार को संस्थागत बनाया जाएगा और इसे आने वाली  शून्य आधारित समय सारिणी में भी शामिल करके इसी  नए स्तर पर रखा जाएगा I

 

इस तरह, भारतीय रेलवे ने कोविड 19 का उपयोग अपनी चहुँ दिशा कार्य क्षमता और कार्य निष्पादन के लिए कर लिया है I

*****

एमजी/एएम/एसटी/डीवी

 



(Release ID: 1709381) Visitor Counter : 208