आयुष

आयुष मंत्रालय “आयुष फॉर इम्युनिटी” अभियान के भाग के रूप में एक अनूठे ई-मैराथन का समर्थन कर रहा है

Posted On: 24 SEP 2020 7:19PM by PIB Delhi

आयुष मंत्रालय ने, मंत्रालय के तीन महीने के आयुष फॉर इम्युनिटी नामकअभियान के अंतर्गत,एक अनूठे ई-मैराथन का आयोजन करने के लिए राजगिरी कॉलेज ऑफ सोशल साइंसेज और राजगिरी बिजनेस स्कूल, कोच्चि के साथ हाथ मिलाया है, जिसका उद्देश्य वांछनीय स्वास्थ्य-प्रचार और रोग निवारक उपायों पर ध्यान केंद्रित करना है। प्रौद्योगिकी, शारिरिक दौड़, चैरिटी और कल्याण कार्यक्रमों के संयोजन से, इस ई-कार्यक्रम के द्वारा प्रतिभागियों के जीवन को सकारात्मकता और अच्छे स्वास्थ्य से जोड़ने की उम्मीद है।

इस ई-मैराथन का आयोजन कोविड-19 से प्रभावित बच्चों की शिक्षा मे सहायता प्रदान करने के लिए और वर्तमान महामारी संकट के दौरान प्रतिभागियों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। ई-मैराथन का मूल विषय "मानसिक स्वास्थ्य की पूर्ति: कोविड-19 महामारी के दौरान और उससे बाद" है।

राजगिरी ई-मैराथन को, सभी आयु वर्ग और भौगोलिक क्षेत्रों के लोगों के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए डिजाइन किया गया है। ई-मैराथन के प्रतिभागी अपनी पसंद के समय और सुरक्षित स्थानों पर इस आयोजन में भाग ले सकते हैं। उन्हें दौड़ने की चुनौतियों को पूरा करने के लिए 10 दिनों की एक लंबी अवधि प्रदान की गई है। एक स्वास्थ्य ऐप प्रतिभागियों के व्यक्तिगत दौड़ माप को एक केंद्रीय सर्वर (कंप्यूटर) में एकीकृत करेगा,जिससे कि सभी प्रतिभागियों को केंद्रीकृत सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन के माध्यम से जोड़ा जा सके।

प्रतिभागियों को emarathon.rajagiri.edu वेबसाइट के माध्यम से अपना नामांकन दर्ज करना होगा और उन्हें आगे बढ़ने के तरीकों के संदर्भ में ई-मेल के द्वारा निर्देशित किया जाएगा। हालांकि प्रतिभागियों को इस आयोजन में शामिल होने के लिए कोई फिटनेस ऐप खरीदने की आवश्यकता नहीं होगी, लेकिन उन्हें दौड़ में भाग लेते समय स्मार्टफोन ले जाने या फिटनेस बैंड पहनने की आवश्यकता होगी।

यह आयोजन 28 सितंबर, 2020 से लेकर 10 अक्टूबर, 2020 (15 दिन) तक खुला रहेगा। इस कार्यक्रम का समापन आयुष फॉर इम्युनिटी अभियान के "विहारा" केंद्र-बिंदु के साथ होगा, जो पूरे माह अक्टूबर, 2020 में जारी रहेगा।

इस आयोजन का उद्देश्य सामाजिक दूरी का पालन करते हुए लोगों के बीच सामाजिक निकटता को बढ़ावा देना है। इस कार्यक्रम में योग, ध्यान, वेबिनार और मनोरंजन के साथ एक संपूर्ण स्वास्थ्य अभियान को शामिल किया गया है।

आयोजकों द्वारा घोषणा की गई है कि पंजीकरण के प्राप्त पूरी राशि को मुंबई के उन 50 बच्चों के बीच वितरित कर दिया जाएगा, जिन्होंने कोविड-19 के कारण अपने माता-पिता को खो दिया है। चाइल्ड लाइन इंडिया फाउंडेशन इस चैरिटी को शिक्षा उपकरण खरीदने की सुविधा प्रदान करेगा। इस अनूठे कार्यक्रम में देश और विदेश के लगभग 8,000 प्रतिभागियों के शामिल होने का अनुमान है।

एमजी/एएम/एके/डीके-

 



(Release ID: 1658814) Visitor Counter : 39