कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय

सीसीआई ने कीहिन कॉरपोरेशन, निस्सिन कोग्यो कं. लिमिटेड, शोवा कॉरपोरेशन और हिताची ऑटोमोटिव लिमिटेड द्वारा संयुक्त रूप से दाखिल किये गए प्रस्तावित संयोजन को मंजूरी दी

Posted On: 11 AUG 2020 7:03PM by PIB Delhi

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने कीहिन कॉरपोरेशन, निस्सिन कोग्यो कं. लिमिटेड, शोवा कॉरपोरेशन और हिताची ऑटोमोटिव लिमिटेड द्वारा संयुक्त रूप से दाखिल किये गए प्रस्तावित संयोजन को मंजूरी दी।

प्रस्तावित संयोजन कीहिन कॉरपोरेशन ("केसी"), निस्सिन कोग्यो कं. लिमिटेड ("एनकेसीएल"), शोवा कॉरपोरेशन ("एससी")और हिताची ऑटोमोटिव सिस्टम्स, लिमिटेड ("एचआईएएमएस")से सम्बंधित है और यह होंडा मोटर कंपनी लिमिटेड ("एचएएमसीएल") और हिताची लिमिटेड ("एचएल") के बीच एक संयुक्त उद्यम का निर्माण करता है।

एचएएमसीएल एक सीमित देयता संयुक्त स्टॉक निगम है, जिसका निगमन जापान में हुआ है। एचएएमसीएल विश्व स्तर पर मोटरसाइकिल, स्कूटर, ऑटोमोबाइल और बिजली उत्पादों का विकास, निर्माण और विपणन करती है। भारत में, एचएएमसीएल मुख्य रूप से ऑटोमोबाइल और दो-पहिया मोटर वाहनों के व्यापार में लगी हुई है।

केसी जापान में निगमित है और विश्व स्तर पर ऑटोमोबाइल कलपुर्जों और प्रणालियों का विकास और निर्माण करता है। भारत में, केसी आर एंड डी, मोटर वाहन और मोटरसाइकिल कलपुर्जों का निर्माण और बिक्री करता है।

एनकेसीएल को वाहन ब्रेक पार्ट्स बनाने के उद्देश्य से जापान में निगमित किया गया था। भारत में, एनकेसीएल वाहनों के लिए एकीकृत ब्रेकिंग सिस्टम के निर्माण और आपूर्ति में लगी हुई है।

एससी को 1938 में विमान के कलपुर्जों के निर्माण के लिए शोवा एयरक्राफ्ट प्रिसिजन वर्क्स लिमिटेड के रूप में निगमित किया गया था। इसका वर्तमान व्यवसाय मोटरसाइकिल और हाइड्रोलिक कलपुर्जों, मोटर वाहन कलपुर्जों, ड्राइवट्रेन कलपुर्जों और स्टीयरिंग सिस्टम कलपुर्जों में श्रेणीबद्ध है। भारत में, एससी ऑटोमोबाइल मोटर वाहनों और दो-पहिया वाहनों के लिए शॉक आब्जर्वर  के निर्माण में लगा हुआ है।

एचआईएएमएस को 2009 में एचएल द्वारा निगमित किया गया था, जिसने अपने ऑटो पार्ट्स के व्यावसायिक कार्यों को अलग-अलग किया था। एचआईएएमएस पावरट्रेन सिस्टम, चेसिस सिस्टम और उन्नत ड्राइवर सहायता प्रणाली आदि के विकास, निर्माण, बिक्री और मरम्मत (सर्विस) के व्यवसाय में लगा हुआ है। भारत में, एचआईएएमएस अपनी सहायक कंपनियों के माध्यम से ब्रेकिंग सिस्टम के कलपुर्जों समेत वाहन कलपुर्जों के निर्माण, विपणन, बिक्री और मरम्मत में लगा हुआ है।

सीसीआई का विस्तृत आदेश जल्द ही जारी किया जायेगा।

***

एमजी/एएम/जेके/एसएस



(Release ID: 1645255) Visitor Counter : 33