सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्यम मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav g20-india-2023

पिछले 9 वर्षों में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम टूल रूम और प्रशिक्षण केंद्रों ने 16 लाख युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान किया है, इससे 3 लाख सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम इकाइयां लाभान्वित हुई हैं: श्री नारायण राणे

Posted On: 30 AUG 2023 7:16PM by PIB Delhi

राष्ट्रीय लघु उद्योग दिवस' के अवसर पर केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री श्री नारायण राणे ने ट्विटर पर घोषणा की कि देश भर में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा संचालित 18 टूल रूम और प्रशिक्षण केंद्रों के माध्यम से पिछले 9 वर्षों में 3 लाख से अधिक सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम इकाइयों को लाभान्वित करने के लिए 16 लाख युवाओं को प्रशिक्षित किया गया है।

श्री राणे ने बताया कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय के तहत कार्य करने वाले टूल रूम और प्रौद्योगिकी केंद्र माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। विशेष रूप से ये टूल रूम और प्रौद्योगिकी केंद्र अत्याधुनिक उत्पादों के निर्माण में चरणबद्ध तरीके से सहायता भी प्रदान कर रहे हैं।

श्री राणे ने कहा कि भारत के ये टूल रूम अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार मध्यम व छोटे आकार के उपकरणों का डिजाइन तथा निर्माण करते हैं। इनका इस्तेमाल खेल के सामान, प्लास्टिक, ऑटोमोबाइल, जूते बनाने, कांच, इत्र, फाउंड्री और फोर्जिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं अंतरिक्ष क्षेत्र से संबंधित उद्योगों में किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि हाल ही में प्रक्षेपित किए गए चंद्रयान-3 मिशन में भुवनेश्वर के टूल रूम ने 437 प्रकार के लगभग 54,000 एयरो-स्पेस घटकों का निर्माण किया था। टूल रूम ने कोरोना महामारी के कठिन समय में पीपीई किट, सैनिटाइजर मशीन और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की घरेलू आवश्यकताओं को पूरा करने के साथ-साथ विदेशों में उनके निर्यात में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ने अपने ट्वीट के माध्यम से बताया है कि देश की सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम इकाइयों को अधिक सशक्त करने के लिए 15 अन्य प्रौद्योगिकी केंद्र भी स्थापित किए जा रहे हैं।

*****

एमजी/एमएस/आरपी/एनके/वाईबी



(Release ID: 1953650) Visitor Counter : 159