ग्रामीण विकास मंत्रालय

आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत प्रतिष्ठित सप्ताह अभियान के भाग के रूप में ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थानों (आरएसईटीआई) ने महिला केन्द्रित पाठ्यक्रमों के नये बैच प्रारंभ किए


आरएसईटीआई कार्यक्रम के अंतर्गत कुल प्रशिक्षित उम्मीदवारों में 66 प्रतिशत महिलाएं हैं

संस्थानों के प्रारंभ से अब तक लगभग 26.28 लाख महिला उम्मीदवार प्रशिक्षित की गई हैं और लगभग 18.7 लाख महिलाएं सफल रूप से स्थापित हैं

आरएसईटीआई के अंतर्गत कुल 64 प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में से 10 पाठ्यक्रम विशेष रूप से महिलाओं के लिए हैं

Posted On: 10 MAR 2022 11:36AM by PIB Delhi

        ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 7 मार्च, 2022 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2022 के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत प्रतिष्ठित सप्ताह समारोहों के प्रारंभ के साथ ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थानों (आरएसईटीआई) द्वारा प्रारंभ किए गए महिला केन्द्रित पाठ्यक्रमों के नये बैच शुरू  किए गए। अवसर की आजादी नामक आयोजन में फोकस रूप में महिला उम्मीदवारों के लिए बैच प्रारंभ करके महिलाओं की अधिक भागीदारी सुनिश्चित की गई। आईएसईटीआई कार्यक्रम के अंतर्गत कुल प्रशिक्षित उम्मीदवारों में से 66 प्रतिशत महिलाएं हैं। संस्थानों के प्रारंभ होने के बाद से अब तक लगभग 26.28 लाख महिला उम्मीदवारों को प्रशिक्षित किया गया है और लगभग 18.7 लाख महिलाएं सफलतापूर्वक स्थापित हो चुकी हैं।

RSETI1.jpg

बोलनगीर, ओडिशा के आएसईटीआई में महिला प्रशिक्षुओं का पहला बैच

 

        घर में अगरबत्ती बनाने, हल्के खिलौने बनाने और बेचने, पापड़, अचार, मसाला पाउडर, ब्यूटी पार्लर प्रबंधन तथा परिधान आभूषण उद्यमी जैसे व्यापारों में नए बैच प्रारंभ किए गए। आरएसईटीआई योजना के अंतर्गत कुल 64 प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में से 10 प्रशिक्षण पाठ्यक्रम विशेष रूप से महिलाओं के लिए हैं।

 

RSETI-2.jpg

आएसईटीआई गिरीडीह, झारखंड

 

        ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण कार्यक्रम भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय, राज्य सरकारों तथा प्रायोजक बैंकों के बीच साझेदारी से चलाया जाता है। बैंकों को अपने लीड जिले में ग्रामीण युवाओं को प्रशिक्षित करने के लिए कम से कम एक आरएसईटीआई खोलने का अधिकार दिया गया है ताकि युवा स्वरोजगार उद्यम प्रारंभ कर सकें। आरएसईटीआई कार्यक्रम लघु अवधि के प्रशिक्षण तथा उद्यमियों के दीर्घकालिक सहयोग की दृष्टिकोण से चलता है। 18 से 45 वर्ष के आयु समूह के ग्रामीण गरीब युवा प्रशिक्षण में शामिल होने के पात्र हैं। आरएसईटीआई ग्रामीण गरीब युवाओं की आकांक्षाओं को आकर्षित करने तथा उन्हें क्षेत्र विशेष में उद्यम संबंधी कौशल प्रदान कर लाभ कमाने वाले उद्यमियों के रूप में बदलने वाले संस्थान के रूप में स्थापित हो चुके हैं।

RSETI-3.jpg

आरएसईटीआई गोड्डा, झारखंड

 

         आरएसईटीआई के अतर्गत 64 पाठ्यक्रमों में कुल 39.9 लाख उम्मीदवार प्रशिक्षित किए गए हैं और 31 जनवरी 2022 तक 28.11 लाख उम्मीदवार स्वरोजार में स्थापित हो चुके हैं। यह कार्यक्रम अभी 28 राज्यों तथा 7 केन्द्रशासित प्रदेशों में 23 अग्रणी बैंकों द्वारा प्रायोजित 585 आरएसईटीआई द्वारा लागू किया जा रहा है।

 

RSETI-4.jpg https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image005SCCC.jpg

आरएसईटीआई, काजलगांव, असम

***

एमजी/एएम/एजी/ओपी

 



(Release ID: 1804704) Visitor Counter : 476