PIB Headquarters
azadi ka amrit mahotsav

कोविड-19 पर पीआईबी का बुलेटिन

Posted On: 14 JAN 2022 6:12PM by PIB Delhi

 

  • राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत टीके की अब तक 155.39 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं
  • भारत में फिलहाल 12,72,073 सक्रिय मामले
  • सक्रिय मामले वर्तमान में 3.48 प्रतिशत
  • संक्रमण से मुक्त होने की दर 95.20 प्रतिशत
  • बीते 24 घंटे में 1,09,345 मरीज संक्रमण से मुक्त हुए, देश में संक्रमण से मुक्त होने वालों की संख्या बढ़ कर 3,48,24,706 हुई
  • बीते 24 घंटे में देश में 2,64,202 नये मामले दर्ज किये गए
  • अब तक 5,753 ओमिक्रॉन के मामले सामने आए,कल के मुकाबले 4.83 प्रतिशत की वृद्धि
  • दैनिक पॉजिटिविटी दर 14.78 प्रतिशत
  • साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 11.83 प्रतिशत
  • अब तक कुल 69.90 करोड़ जांच की गयी; बीते 24 घंटे में 17,87,457 जांच की गयी

 

   #Unite2FightCorona                  #IndiaFightsCorona

PRESS INFORMATION BUREAU

MINISTRY OF INFORMATION & BROADCASTING

GOVERNMENT OF INDIA

*****

Description: Image

Description: Image

 

भारत में कोविड-19 टीकाकरण का कुल कवरेज 155.39 करोड़ से अधिक हुआ

बीते चौबीस घंटों में करीब 73 लाख टीके लगाए गए

स्वस्थ होने की वर्तमान दर 95.20 प्रतिशत है

पिछले 24 घंटों में 2,64,202 नए रोगी सामने आए

अब तक 5,753 ओमिक्रॉन के मामले सामने आए,कल के मुकाबले 4.83 प्रतिशत की वृद्धि

भारत में सक्रिय मरीजों की संख्या 12,72,073 है

साप्ताहिक सक्रिय मामलों की दर 11.83 प्रतिशत है

 

बीते 24 घंटे में 73 लाख से अधिक (73,08,669) वैक्सीन की खुराक देने के साथ ही भारत का कोविड-19 टीकाकरण कवरेज आज सुबह 7 बजे तक अंतिम रिपोर्ट के अनुसार 155.39 करोड़ (1,55,39,81,819) से अधिक हो गया।

इस उपलब्धि को 1,66,59,387 टीकाकरण सत्रों के जरिये प्राप्त किया गया है। आज सुबह 7 बजे तक की अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार कुल टीकाकरण का विवरण इस प्रकार से है:

 

टीके की कुल खुराक का कवरेज

स्वास्थ्य कर्मी

पहली खुराक

1,03,89,851

दूसरी खुराक

97,68,352

एहतियाती खुराक

14,72,348

अग्रिम पंक्ति के कर्मी

पहली खुराक

1,83,88,501

दूसरी खुराक

1,70,28,660

एहतियाती खुराक

10,80,733

15-18 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

3,14,83,560

18-44 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

52,15,18,598

दूसरी खुराक

36,31,10,223

45-59 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

19,70,42,104

दूसरी खुराक

15,92,79,748

60 वर्ष से अधिक

पहली खुराक

12,27,95,849

दूसरी खुराक

9,98,12,738

एहतियाती खुराक

8,10,554

एहतियाती खुराक

33,63,635

कुल

1,55,39,81,819

 

 

पिछले 24 घंटों में 1,09,345 रोगियों के ठीक होने के साथ ही स्वस्थ होने वाले मरीजों (महामारी की शुरुआत के बाद से) की कुल संख्या बढ़कर 3,48,24,706 हो गई है।

नतीजतन, भारत में स्वस्थ होने की दर 95.20 प्रतिशत है

 

पिछले 24 घंटे में 2,64,202 नए मरीज सामने आए हैं।

भारत में सक्रिय मरीजों की संख्या वर्तमान में 12,72,073 है। वर्तमान में ये सक्रिय मामले देश के कुल पुष्टि वाले मरीजों का 3.48 प्रतिशत हैं।

 

देश भर में जांच क्षमता का विस्तार लगातार जारी है। पिछले 24 घंटों में कुल 17,87,457 जांच की गई हैं। भारत ने अब तक कुल 69.90 करोड़ (69,90,99,084) जांच की गई हैं।

 

देश भर में जांच क्षमता को बढ़ाया गया है, साप्ताहिक पुष्टि वाले मामलों की दर 11.83 प्रतिशत है और दैनिक रूप से पुष्टि वाले मामलों की दर 14.78 प्रतिशत है।

 

जानकारी के लिये: https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1789828

 

राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की उपलब्‍धता पर अपडेट

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 157.50 करोड़ से अधिक टीके प्रदान किये गए

राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी 15.17 करोड़ से अधिक शेष व अप्रयुक्त टीके मौजूद

 

केंद्र सरकार देशभर में कोविड-19 टीकाकरण का दायरा विस्तृत करने और लोगों को टीके लगाने की गति को तेज करने के लिये प्रतिबद्ध है। राष्ट्रव्यापी कोविड-19 टीकाकरण 16 जनवरी, 2021 को शुरू हुआ। कोविड-19 टीकाकरण का नया चरण 21 जून 2021 से शुरू किया गया था। टीकाकरण अभियान की रफ्तार को अधिक से अधिक टीके की उपलब्धता के जरिये बढ़ाया गया है। इसके तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को टीके की उपलब्धता के बारे में पूर्व सूचना प्रदान की जाती है, ताकि वे बेहतर योजना के साथ टीके लगाने का बंदोबस्त कर सकें और टीके की आपूर्ति श्रृंखला को अधिक बेहतर बनाया जा सके।

देशव्यापी टीकाकरण अभियान के हिस्से के रूप में केंद्र सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नि:शुल्क कोविड टीके प्रदान करके उन्हें पूर्ण सहयोग दे रही है। टीके की सर्व-उपलब्धता के नये चरण में, केंद्र सरकार टीका निर्माताओं से 75 प्रतिशत टीके खरीदकर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नि:शुल्क प्रदान करेगी।

 

वैक्सीन की खुराकें

(14 जनवरी, 2022 तक)

अब तक हुई आपूर्ति

1,57,50,62,435

शेष टीके

15,17,25,871

 

केंद्र सरकार द्वारा सभी प्रकार के स्रोतों से अब तक वैक्सीन की 157.50 करोड़ से अधिक (1,57,50,62,435) खुराकें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सरकारी स्रोत (निशुल्क) और राज्यों द्वारा सीधी खरीद प्रक्रिया के जरिये प्रदान की गई हैं।

राज्यों के पास वैक्सीन की 15.17 करोड़ से अधिक (15,17,25,871) अतिरिक्त और बिना इस्तेमाल की हुई खुराकें मौजूद हैं, जिन्हें लगाया जाना है।

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1789836

कोविड-19: मिथक बनाम तथ्य

कोविड-19 से होने वाली मौतों की संख्या को कम बताने का दावा करने वाली मीडिया की खबरें गलत, आधारहीन और भ्रामक हैं

भारत में ग्राम पंचायत, जिला और राज्य स्तरों पर कानून के अनुरूप जन्म और मृत्यु की रिपोर्टिंग की एक मजबूत प्रणाली है

राज्यों ने नियमित रूप से बड़ी संख्या में अपनी मृत्यु संख्या का मिलान किया है और व्यापक पारदर्शी तरीके से बाकी मौत के बारे में सूचना दी है।

 

मीडिया की कुछ खबरों में पहली दो लहरों में कोविड-19 के चलते भारत में मरने वाले लोगों की वास्तविक संख्या को बहुत कम करके दिखाने का आरोप लगाया गया है। इनमें दावा किया गया है कि मृतकों का अंतिम आंकड़ा लगभग 30 लाख को पार करते हुए इससे 'काफी अधिक' हो सकता है।

भारत सरकार के पास वैश्विक स्तर पर स्वीकार्य वर्गीकरण पर आधारित कोविड मौतों को वर्गीकृत करने के लिए एक बहुत व्यापक स्पष्टता है। राज्य सभी मौतों को स्वतंत्र रूप से रिपोर्ट कर रहे हैं और इन्हें केंद्र के स्तर पर एक साथ संकलित किया जा रहा है। वहीं, अलग-अलग समय पर राज्यों द्वारा कोविड-19 के चलते होने वाली मौत की छूटी हुई संख्या प्रस्तुत किए जाने पर इनका नियमित आधार पर भारत सरकार के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है। कई राज्यों ने नियमित रूप से अपनी कोविड मृत्यु संख्या का मिलान किया है और बड़े पैमाने पर पारदर्शी तरीके से मौत की छूटी हुई संख्या की जानकारी दी है। इस बातों को देखते हुए यह खबर करना कि मौतों को कम रिपोर्ट किया गया है, आधारहीन और तर्कहीन है।

 

यह स्पष्ट किया जाता है कि भारतीय राज्यों में कोविड मामलों की संख्या और इससे संबंधित मृत्यु दर में बहुत अधिक अंतर है। सभी राज्यों को एक दायरे में रखने की किसी भी धारणा का आशय होगा कि सबसे कम मृत्यु दर की रिपोर्ट करने वाले राज्यों में बाहरी कारकों के विषम आंकड़ों को प्रस्तुत करना, जो औसत को उच्चतर और गलत परिणामों की ओर ले जाता है।

जानकारी के लिए: - https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1790008

 

कोविड-19: मिथक बनाम तथ्य

महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी बताने वाली मीडिया रिपोर्टें तथ्यात्मक रूप से सही नहीं हैं; ये राज्य के साथ वैक्सीन खुराक के उपलब्ध स्टॉक की सही तस्वीर पेश नहीं करती हैं

महाराष्ट्र के पास कोवैक्सिन की 24 लाख से अधिक बिना प्रयोग की गई खुराकें उपलब्ध हैं; आज अतिरिक्त 6.35 लाख खुराक प्राप्त हुई हैं

 

महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी का आरोप लगाने वाली कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में आगे कहा गया है कि वैक्सीन की कमी के कारण राज्य सरकार राज्य में टीकाकरण की गति को बढ़ाने में असमर्थ है। इस तरह की रिपोर्टें गलत हैं।

यह स्पष्ट किया जाता है कि, आज (14 जनवरी 2022) को उपलब्ध रिपोर्टों के अनुसार, महाराष्ट्र में कोवैक्सिन की 24 लाख से अधिक अप्रयुक्त खुराक उपलब्ध हैं। आज अतिरिक्त 6.35 लाख खुराक प्राप्त हुई है। कोविन पर उपलब्ध उनके साप्ताहिक खपत आंकड़ों के अनुसार, पात्र लाभार्थियों को 15-17 वर्षों तक कवर करने के लिए महाराष्ट्र द्वारा औसत खपत और एहतियाती खुराक प्रति दिन लगभग 2.94 लाख खुराक है। इसलिए, राज्य के पास पात्र लाभार्थियों को कोवैक्सिन के साथ कवर करने के लिए लगभग 10 दिनों के लिए पर्याप्त टीका खुराक है।

इसके अलावा, कोविशील्ड के लिए, राज्य के पास अब तक 1.24 करोड़ अप्रयुक्त और शेष खुराक उपलब्ध हैं। प्रतिदिन 3.57 लाख की औसत खपत के साथ, यह लाभार्थियों के लिए टीके का उपयोग करके टीकाकरण के लिए 30 दिनों से अधिक समय तक बना रहेगा।

इसलिए, मीडिया रिपोर्टें तथ्यात्मक रूप से सही नहीं हैं और महाराष्ट्र के पास उपलब्ध शेष खुराक और अप्रयुक्त कोविड वैक्सीन खुराक की सही तस्वीर को नहीं दर्शाती हैं।

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1790050

 

ट्वीट लिंक्सः-

********

 

एमजी/एएम/एके



(Release ID: 1790196) Visitor Counter : 126