स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

डॉ. मनसुख मांडविया ने बेंगलुरु में पीएमबीजेपी के 'आजादी का अमृत महोत्सव' कार्यक्रम को संबोधित किया

'जन औषधि केंद्र लोगों की सेवा करने का एक अहम साधन है': डॉ. मनसुख मांडविया

Posted On: 10 OCT 2021 8:55PM by PIB Delhi

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और रसायन एवं उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने आज बसावनगुडी, बेंगलुरु में प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत 'आजादी का अमृत महोत्सव' कार्यक्रम को संबोधित किया। सभी को सस्ते दाम पर गुणवत्तापूर्ण जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना (पीएमबीजेपी) शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, जन औषधि केंद्रों के नाम से पहचाने जाने वाले समर्पित आउटलेट जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए खोले गए हैं। योजना का उद्देश्य देश के प्रत्येक जिले में कम से कम एक जन औषधि स्टोर स्थापित करना है।

 

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र लोगों की सेवा करने के लिए एक व्यावसायिक अवसर और साधन कैसे है, यह समझाते हुए डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा, 'जन औषधि केंद्र खोलने से, हमारे देश के लोगों की सेवा करने का मौका मिलता है। निवेशकों के लिए इसे एक व्यवहार्य व्यावसायिक अवसर बनाने के लिए सरकार 20 प्रतिशत कमीशन के अलावा 3 लाख रुपये की सहायता भी प्रदान करती है। ब्रांडेड दवाएं बेचने वाली फार्मेसियों की तुलना में कम लाभ मार्जिन की भरपाई के लिए यह सहायता प्रदान की जाती है क्योंकि जेनेरिक दवाएं सस्ती होती हैं।'

उन्होंने आगे कहा, 'हम सहायता इसलिए देते हैं क्योंकि यूनिट बंद करने की स्थिति पैदा नहीं होनी चाहिए।' मनसुख मांडविया ने कहा, 'पीएमबीजेपी गरीबों और किसानों की सहायक और व्यवसाय के लिए एक हितकारी योजना है। गरीबों की मदद करना हमारी प्राथमिकता है और जन औषधि केंद्र गरीब और मध्यम वर्ग के लिए वरदान है।' उन्होंने कहा कि देश में जन औषधि केंद्र को 'मोदी की दवाई की दुकान' के नाम से जाना जाता है।

 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने अपना व्यक्तिगत अनुभव साझा किया कि हृदय रोगी का चिकित्सा खर्च 4500 रुपये से घटकर 800 रुपये प्रति महीना हो गया है। उन्होंने कहा कि जन औषधि केंद्र मानव सेवा है। उन्होंने कहा, 'दान करना लोगों की सेवा का एकमात्र तरीका नहीं है, बल्कि खर्च को कम करने में उनकी मदद करना भी एक सेवा है।'

आखिर में, डॉ. मनसुख मांडविया ने सभी को इस शुभ अवसर पर बधाई दी और कार्यक्रम में उपस्थित वरिष्ठ नागरिकों को जन औषधि वितरित की। भारत की आजादी के 75वें वर्ष में आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में रसायन और उर्वरक मंत्रालय की पहलों की सूचना देते हुए डॉ. मांडविया ने कहा कि 'जन औषधि मित्र' विभिन्न केंद्रों पर आयोजित की जा रही स्वास्थ्य जांच के अलावा देशभर में बुजुर्गों को उनके घर तक दवा किट भी पहुंचाएंगे।

पीएमबीजेपी के 'आजादी का अमृत महोत्सव' कार्यक्रम का वेबकास्ट यहां किया गया:

 

एसजी/एएम/एएस



(Release ID: 1762818) Visitor Counter : 168