आयुष

आयुष के क्षेत्र में विद्यार्थि‍यों का करियर संवारने के लिए पूरी तरह से तैयार है  आयुष मंत्रालय  

केंद्रीय आयुष मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल 10 सितंबर को गुवाहाटी में ‘आयुष प्रणालियों में विविध और संतोषप्रद करियर’ पर एक सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे

Posted On: 08 SEP 2021 7:07PM by PIB Delhi

आयुष मंत्रालय अब विद्यार्थि‍यों को अधिक समावेशी तरीके से शामिल करने के साथ-साथ आयुष प्रणालियों में उनका करियर संवारने की राह तलाश रहा है। इस दिशा में शुरुआत करने के लिए मंत्रालय ‘आयुष प्रणालियों में विविध और संतोषप्रद करियर- पूर्वोत्तर राज्यों में शिक्षा, उद्यमिता एवं रोजगार पर फोकस’ नामक थीम पर एक सम्मेलन का आयोजन करने जा रहा है। यह सम्मेलन 10 सितंबर को असम के गुवाहाटी में होगा। केंद्रीय आयुष मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल और आयुष संस्थानों एवं अनुसंधान संगठनों के संबंधित प्रमुख इस सम्मेलन के दौरान छात्रों के साथ सीधे संवाद करेंगे।

आयुष मंत्रालय द्वारा पहली बार एक ऐसा सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है जिसमें विद्यार्थि‍यों एवं उनके करियर के विभिन्‍न विकल्पों और इस क्षेत्र में स्टार्ट-अप्‍स की संभावनाओं पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। अगस्त में सभी पूर्वोत्‍तर राज्यों के आयुष और स्वास्थ्य मंत्रियों ने आयुष मंत्रालय द्वारा आयोजित किए गए एक सम्मेलन में भाग लिया था, जिसमें बुनियादी ढांचागत सुविधाओं के विकास के साथ-साथ आयुष चिकित्सा प्रणाली के प्रचार-प्रसार पर व्यापक चर्चाएं हुई थीं।

शुक्रवार को आयोजित किए जाने वाले सम्मेलन में आयुष प्रणालियों में विविध और संतोषप्रद करियर की संभावनाओं पर चर्चा की जाएगी और इस दौरान पूर्वोत्तर राज्यों में शिक्षा, उद्यमिता एवं रोजगार पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इस सम्‍मेलन के दौरान आयुष की सभी विधाओं यथा आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी, सोवा-रिग्पा, सिद्ध, योग और प्राकृतिक चिकित्सा में शिक्षा एवं करियर के अवसरों पर विशेषज्ञों द्वारा प्रस्तुतियां दी जाएंगी। ये विशेषज्ञ उद्योग जगत के नजरिए पर भी गौर करेंगे एवं इस पर चर्चा करेंगे और इसके साथ ही युवा प्रोफेशनलों द्वारा अपना व्यवसाय शुरू करने एवं स्टार्ट-अप स्थापित करने की संभावनाओं के बारे में बात करेंगे।

इस सम्‍मेलन के दौरान विभिन्‍न विषयों के विशेषज्ञों के साथ विद्यार्थि‍यों और विद्वानों का एक परस्‍पर संवादात्‍मक सत्र भी आयोजित किया जाएगा। इस सम्मेलन में विशेष रूप से पूर्वोत्तर राज्यों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। अनेक जाने-माने विशेषज्ञ जैसे कि प्रोफेसर संजीव शर्मा, निदेशक, राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान; डॉ. सुभाष सिंह, एनआईआईआई, कोलकाता; प्रो. असीम अली खान, महानिदेशक, सीसीआरएस, नई दिल्ली; प्रो. डॉ. कनकवल्ली, महानिदेशक, सीसीआरएस, चेन्नई; डॉ. पद्म गुरमीत, निदेशक एनआरआईएस, लेह एवं अन्‍य प्रतिष्ठित जानकार संबंधित आयुष प्रणालियों में अनुसंधान, शिक्षा एवं कैरियर के अवसरों पर काफी विस्‍तार से चर्चाएं करेंगे।

 

***

एमजी/एएम/आरआरएस/डीए                                   



(Release ID: 1753348) Visitor Counter : 347


Read this release in: English , Urdu , Punjabi , Tamil