स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

आजादी का अमृत महोत्सव

श्री मनसुख मांडविया ने एचआईवी, टीबी और रक्तदान के लिए जागरूकता अभियान की शुरुआत की

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर लगभग 1 लाख से ज्यादा छात्रों के साथ बातचीत की

Posted On: 12 AUG 2021 4:50PM by PIB Delhi

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, श्री मनसुख मंडाविया ने आज अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर एचआईवी, टीबी और रक्तदान के लिए जागरूकता अभियान के पहले चरण की शुरुआत की, इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री, डॉ. भारती परवीन पवार भी उपस्थित थीं। इस कार्यक्रम का आयोजन राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन (नाको) द्वारा किया गया था।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001A9PM.jpg

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने भारत की स्वतंत्रता के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य कोमनाने के लिए भारत का अमृत महोत्सव को राष्ट्रव्यापी उत्सव के रूप में मनाने के लिए सरकारी स्कूलों और कॉलेजों के 1,00,000 से ज्यादा छात्रों के साथ बातचीत की।वे लोग वर्चुअल इवेंट के माध्यम से विभिन्न प्लेटफार्मों के माध्‍यम से शामिल हुए थे, जैसे किफेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर। एचआईवी, तपेदिक और थैलीसीमिया से पहले प्रभावित हुए और जीवित बचे हुए लोगों ने अपना अनुभव इस कार्यक्रम में साझा किया और बताया किकिस प्रकार से भारत सरकार की योजनाओं ने इन बीमारियों के खिलाफ लड़ने में उनको मददऔर समर्थन प्रदान किया है।

पूरे देश में 1 लाख से ज्यादा युवाओं की भागीदारी परप्रसन्‍नता व्‍यक्‍त करते हुए, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "स्वामी विवेकानंद सबसे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने स्वतंत्र भारत में युवाओं की शक्ति को पहचाना और उनका पोषण किया।उनके पदचिन्‍हों पर चलते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने युवाओं को लाभ पहुंचानेके लिए कौशल विकास मंत्रालय और 'खेलो इंडिया' कार्यक्रम सहित कई योजनाओं और संस्थानों की शुरुआत की है।जब कोई युवा कुछ प्राप्त करने का इरादा कर लेते हैं, तो वे उसे प्राप्त भी करते हैं। अधिकांशतः टीबी के रोगी युवा वर्ग के भी लोग हैं। जब गांव में युवाओं के अंदर यह सोच उत्पन्न होगी कि गांव में टीबी का कोई और रोगी नहीं होतो वे इस उपलब्धि को प्राप्त भी कर लेंगे।मंत्री ने उन सभी गैर सरकारी संगठनों और सीएसओ को धन्यवाद दिया जिन्होंने जागरूकता उत्पन्न करने की दिशा मेंमहत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और रक्तदान शिविर का आयोजन भी कर रहे हैं।

भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आयोजित किए जाने वाले 'आजादी का अमृत' महोत्सव पर बोलते हुए मंत्री ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री ने भारत कीयुवा पीढ़ी से कहा है कि वे अपने लक्ष्य को निर्धारित करें और यह भी निर्धारित करें कि वे अगले 25 वर्षों में क्या प्राप्त करना चाहते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने राष्ट्र से यह भी आग्रह किया कि सभी लोग स्वास्थ्य की प्राप्ति के लिए एक साथ मिलकर काम करने की शपथ लें।

डॉ. भारती पवार ने बताया कि किस प्रकार से सरकार द्वारा देश के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा जोड़ने और निर्णायक बनने के लिए अवसर प्रदान करने हेतु लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। मंत्री द्वारा यह आशा व्यक्त की गई कि हाल ही में लागू की गई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के माध्यम से भारत एक वैश्विक ज्ञान महाशक्ति के रूप में उभर कर सामने आएगा।उन्होंने कहा कि हमारे देश के सशक्त युवा हमारे नागरिकों को स्वस्थ और सार्थक जीवन प्रदान करने वाले हमारे उद्देश्यों को पूरा करेंगे। सतत विकास का तीसरा लक्ष्य यह है कि हम सभी लोगों को बेहतर स्वास्थ्य और सूविधा प्रदान करें। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि 'आजादी का अमृत महोत्सव' भारत 2.0 को पुनर्जीवित करने की शक्ति और क्षमता प्रदान करेगा।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002VWPJ.jpg https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0031RDK.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0047L74.jpg https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image005S91H.jpg

इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव, श्री राजेश भूषण, अपर सचिव (स्वास्थ्य) श्री आलोक सक्‍सेना,  सुश्री आरती आहूजा, अपर सचिव (स्वास्थ्य) और मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

***

एमजी/एएम/एके/एसएस



(Release ID: 1745332) Visitor Counter : 231