नीति आयोग

अटल इनोवेशन मिशन ने स्वास्थ्य सेवा और कृषि नवोन्मेषों की दिशा में काम करने के लिए बायर (Bayer) के साथ सहयोग किया

Posted On: 13 APR 2021 4:19PM by PIB Delhi

नीति आयोग की पहल अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) ने आज देश भर में मिशन के नवाचार और उद्यमिता पहलों की दिशा में काम करने के लिए, स्वास्थ्य सेवा और पोषण के क्षेत्र में मुख्य दक्षताएं रखने वाले वैश्विक उद्यम बायर (Bayer) के साथ सहयोग को मंजूरी दी।

मिशन और बायर के बीच रणनीतिक साझेदारी के लिए एक आशय पत्र पर हस्ताक्षर किए गए और सहयोग को औपचारिक बनाने के लिए उसका आदान-प्रदान किया गया। यह आशय पत्र विज्ञान शिक्षा को बढ़ावा देगा, डिजिटल समाधान और कृषि-तकनीक को आगे बढ़ाकर आपूर्ति श्रृंखलाओं के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी परियोजनाओं को भी मजबूत करेगा। इसके अलावा, बायर कृषि और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्रों में अपने वर्तमान और भविष्य के कार्यक्रमों और नवाचार एवं उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए अटल इनोवेशन मिशन के साथ सहयोग करेगा।

मिशन के एक प्रमुख कार्यक्रम ‘अटल टिंकरिंग लैब्स’(एटीएल) ने स्कूली बच्चों में रचनात्मकता और कल्पना को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। बायर स्कूली बच्चों का मार्गदर्शन करने, उनमें रचनात्मक सोच को विकसित करने, समस्या को हल करने और अनुकूली ज्ञान कौशल को बढ़ावा देने और पारस्परिक रूप से सहमत स्कूलों को समर्थन और अपनाने के अवसर तलाशेगा। इसके अलावा ‘अटल इन्क्यूबेशन सेंटर्स’ (एआईसी) और ‘अटल कम्युनिटी इनोवेशन सेंटर्स’ (एसीआईसी) के एक हिस्से के रूप में, बायर युवा नवोन्मेषकों और स्टार्टअप का मार्गदर्शन करेगा और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए उनके साथ सहयोग करेगा। बायर कृषि और स्वास्थ्य सेवा दोनों क्षेत्रों में डिजिटल समाधान के क्षेत्र में एएनआईसी और एआरआईएसई कार्यक्रमों से तकनीक उद्मियों के साथ सहयोग के अवसर भी तलाशेगा।

मिशन के निदेशक आर रमनन ने वर्चुअल माध्यम से बायर के साथ आशय पत्र का आदान-प्रदान करते हुए कहा, “बायर के साथ सहयोग अटल इनोवेशन मिशन के लिए एक दीर्घकालिक रणनीतिक सहयोग है क्योंकि उनके विशेषज्ञता के क्षेत्र - कृषि, हेल्थकेयर और जीवनविज्ञान राष्ट्रीय महत्व के क्षेत्र हैं, विशेष रूप से महामारी के समय में इनका महत्व और बढ़ जाता है। यह साझेदारी बायर की क्षेत्र से जुड़ी विशेषज्ञता, वैश्विक पहुंच और सुविधाओं का लाभ उठाते हुए प्रकृति को बढ़ावा देने और स्कूल,विश्वविद्यालय और स्टार्टअप में ज्ञान एवं नवाचार को लेकर मदद करने के लिहाज से समग्र होगी।

बायर क्रॉपसाइंस लिमिटेड के उप प्रमुख एवं प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी डी. नारायण ने अपने विचारों को साझा करते हुए कहा, “बायर के लिए नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन के साथ साझेदारी करना खुशी की बात है। इस सहयोग के माध्यम से, हम कृषि और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्रों में भारत में नवाचार एवं उद्यमिता को बढ़ावा देने का प्रयास करेंगे। और ‘अटल टिंकरिंग लैब्स ’की पहल के तहत यह हमें स्कूली बच्चों का मार्गदर्शन करने और उनमें वैज्ञानिक जिज्ञासा को विकसित करने के लिए कई अवसर प्रदान करने में सक्षम करेगा, आविष्कारशील स्टार्ट-अप के साथ मूल्य श्रृंखलाओं में डिजिटल समाधान लाने और साझेदारी में हमारी मदद करेगा। इस महत्वपूर्ण समय में, उद्यमशीलता और विज्ञान आधारित नवाचार, किसानों की आय को दोगुना करने और पूरे भारत में स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच बढ़ाने की दिशा में हमारी प्रगति को तेज करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। ”

बायर भारत में 120 वर्षों से काम कर रहा है और यह कृषि, स्वास्थ्य सेवा एवं पोषण के क्षेत्र में एक अगुआ के रूप में, समाज के एक बड़े हिस्से को लाभ पहुंचाने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी का उपयोग करने की कोशिश करता रहा है। अटल इनोवेशन मिशन और बायर के बीच कृषि और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्रों में इस तरह के पहले सहयोग से भारत में नवाचार और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।

बायर के बारे में जानकारी

बायर स्वास्थ्य सेवा और पोषण जैसे जीवन विज्ञान के क्षेत्रों में मुख्य दक्षताओं वाला एक वैश्विक उद्यम है। इसके उत्पादों एवं सेवाएं, बढ़ती और बूढ़ी होती वैश्विक आबादी के कारण पैदा होने वाली चुनौतियों से निपटने के प्रयासों का समर्थन कर लोगों की मदद करने और धरती को फलते-फूलने देने के लिए तैयार की जाती हैं। बायर अपने व्यवसायों के साथ सतत विकास को बढ़ावा देने और सकारात्मक प्रभाव पैदा करने के लिए प्रतिबद्ध है। साथ ही, समूह का लक्ष्य नवाचार और विकास के माध्यम से अपनी आय शक्ति को बढ़ाना और गुणवत्ता का निर्माण करना है। बायर ब्रांड दुनिया भर में विश्वास, विश्वसनीयता और गुणवत्ता के लिए जाना जाता है। वित्त वर्ष 2020 में, समूह ने लगभग 1,00,000 लोगों को रोजगार दिया और इसकी बिक्री 41.4 अरब यूरो थी। विशेष वस्तुओं के लिए अनुसंधान एवं विकास पर किया गया खर्च 4.9 अरब यूरो था। अधिक जानकारी के लिए, www.bayer.com पर जाएं।

एमजी/एएम/पीके



(Release ID: 1711519) Visitor Counter : 239