वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

एपीडा ने दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में कृषि एवं प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए थाईलैंड के साथ आभासी माध्यम से क्रेता-विक्रेता बैठक आयोजित की

बैंकॉक में ‘टेस्ट ऑफ इंडिया’ अभियान का आयोजन

Posted On: 22 DEC 2020 5:05PM by PIB Delhi

भारतीय कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए एपीडा ने आभासी माध्यम से क्रेता-विक्रेता (बॉयर एंड सेलर) बैठक का आयोजन, थाईलैंड में भारतीय दूतावास के सहयोग से 21 दिसंबर 2020 किया। इस बैठक के जरिए भारत और थाईलैंड की सरकार और व्यापार से संबंधित लोगों को एक मंच पर आने का मौका मिला। इसके जरिए भारत और थाइलैंड को कृषि क्षेत्र के बीच सहयोग बढ़ाने का भी मौका मिलेगा।


विभिन्न देशों के साथ एपीडा द्वारा आयोजित की जा रही क्रेता-विक्रेता बैठक की श्रृंखला में 13वीं कड़ी की बैठक थाईलैंड के साथ थी। इसके पहले एपीडा ने संयुक्त अरब अमीरात, कुवैत, इंडोनेशिया, स्विटजरलैंड, बेल्जियम, ईरान, दक्षिण अफ्रीका, जर्मनी, यूनाइटेड स्टेट्स, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया के साथआभासी का आयोजन किया था।

थाईलैंड के साथ हुई आभासी-क्रेता-विक्रेता बैठक में भारत के व्यापार संगठनों द्वारा एक प्रस्तुति दी गई। जिसमें यह बताया गया कि भारत किन उत्पादों को थाईलैंड को निर्यात कर सकता है। इसके तहत अंगूर, अनार, सब्जियां, डेयरी उत्पाद और रेडी-टू-ईट उत्पादों के निर्यात के बेहतर अवसर हैं। इस दौरान थाईलैंड के व्यापार संगठन और आयातकों ने भी भारत से आयात होने वाले उत्पादों के संबंध में अपनी जरूरत और गुणवत्ता मानकों के बारे में जानकारी दी।

आभासी माध्यम से क्रेता-विक्रेता बैठक में भारत की थाईलैंड में राजदूत सुचित्रा दुरई, एपीडा के चेयरमैन डॉ अंगामुथु, थाईलैंड के बोर्ड ऑफ ट्रेड के डायरेक्टर और थाई फूड प्रोसेसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री विजिट लिमलुरचा, इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रो बेस्ड इंडस्ट्रीज के वाइस चेयरमैन पंपावीसुथावीवैट और फेडरेशन ऑफ थाई इंडस्ट्रीज, एपीडा, भारत और थाईलैंड उच्चायोग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

आभासी माध्यम से क्रेता-विक्रेता बैठक के बाद बैंकॉक में टेस्ट ऑफ इंडिया अभियान भी शुरू किया गया। जिसमें एपीडा द्वारा भेजे गए भारतीय अंगूर, अनार, अनार के एरिल, सब्जियां, डेयरी उत्पाद, रेडी-टू-ईंट उत्पादों को प्रदर्शित किया गया। इसके अलावा बिरयानी के लिए इस्तेमाल होने वाले बासमती चावल, ताजे अंगूर और अनार को सैंपल के रूप में टेस्ट ऑफ इंडिया अभियान में लोगों के सामने प्रदर्शित किया गया। इस मौके पर पहुंचे लोगों ने बिरयानी बनाने की प्रक्रिया और अनार व अंगूर संबंधित प्रक्रिया को बड़े चाव से देखा।

कोविड-19 महामारी को देखते हुए इस समय निर्यात संवर्धन कार्यक्रमोंको आभासी माध्यम से ही आयोजित करना संभव है। ऐसे में एपीडा ने इस दिशा में पहल करते हुए आभासी माध्यम से क्रेता-विक्रेता बैठकको भारत और थाईलैंड के निर्यातकों के लिए किया।

कोविड महामारी के बाद से, भारत के कारोबारी, खाड़ी देश, दक्षिण एशिया और पश्चिमी देशों में कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों के निर्यात के अवसर की बेहतर संभावना देख रहे हैं।

***

एमजी/एएम/पीएस/एसके



(Release ID: 1682756) Visitor Counter : 29