गृह मंत्रालय

भारत और अमेरिका के अधिकारियों ने अमेरिका-भारत मादक पदार्थ रोधी कार्यकारी समूह की बैठक का वर्चुअल माध्यम से किया शुभारम्भ


मादक पदार्थ रोधी विनियमन और कानून पालन में सहयोग बढ़ाने पर केन्द्रित व्यापक विचार विमर्श हुआ

दोनों ही पक्षों ने दक्षिण एशिया में मादक पदार्थ रोधी पहलों के लिए क्षमता निर्माण के लिए क्षेत्रीय नेतृत्व के तौर पर भारत की भूमिका को मजबूत बनाने की पहलों पर भी विचार विमर्श किया

भारत और अमेरिका डाटा साझेदारी परिचालन, दवा उपचार और नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के प्रति जागरूकता के प्रसार में सहयोग पर सहमति दी

Posted On: 02 DEC 2020 7:11PM by PIB Delhi

भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका के अधिकारियों ने 24 नवंबर, 2020 को भारत-अमेरिका मादक पदार्थ रोधी कार्यकारी समूह (सीएनडब्ल्यूजी) की बैठक का वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ किया। भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुआई स्वापक नियंत्रण बोर्ड, गृह मंत्रालय के उप महानिदेशक श्री सचिन जैन ने की, वहीं व्हाइट हाउस ऑफिस ऑफ नेशनल ड्रग कंट्रोल पॉलिसी में सहायक निदेशक श्री केम्प चेस्टर, अमेरिका के गृह विभाग में इंटरनेशनल नरकोटिक्स एंड लॉ एन्फोर्समेंट अफेयर्स में उप सहायक सचिव श्री जॉर्गन एंड्रूज और अमेरिका के न्याय विभाग में उप सहायक अटॉर्नी जनरल सुश्री जेनिफर हॉज ने संयुक्त रूप से अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल की अगुआई की। प्रतिनिधिमंडलों ने मादक पदार्थ रोधी विनियमन और कानून लागू करने में सहयोग बढ़ाने पर जोर देते हुए व्यापक विचार विमर्श किया। दोनों पक्षों ने संयुक्त रूप से काम करने के लिए क्षेत्रों की पहचान की और इस अहम मुद्दे पर परस्पर समन्वय जारी रखने का संकल्प लिया।

दोनों ही पक्षों ने भारत और अमेरिका के सामने मौजूद मादक पदार्थों से संबंधित चुनौतियों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। वे अवैध दवाओं और नशीले पदार्थों के साथ ही उनके विनिर्माण में काम आने वाले रसायनों के उत्पादन, विनिर्माण, तस्करी और वितरण पर रोक लगाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भागीदारों ने अपने संबंधित देशों के नियम और कानूनों के क्रम में नशीले पदार्थों की तस्करी को रोकने के अपने प्रयासों को रेखांकित किया और सिंथेटिक नशीले पदार्थों व संबंधित रसायनों पर रोक लगाने के सर्वश्रेष्ठ तरीके साझा करने का प्रस्ताव किया। दोनों पक्षों ने दक्षिण एशिया में मादक पदार्थ रोधी के रूप में क्षमता विकास भारत की क्षेत्रीय नेतृत्व के रूप में भूमिका को मजबूत बनाने से जुड़ी पहलों; क्षेत्रीय स्तर पर परिचालन संबंधी सूचनाओं की साझेदारी बढ़ाकर नशीले पदार्थों की सीमापार तस्करी और अपराधों को रोकने; और मादक पदार्थों से जुड़े मुद्दों पर कानून के पालन में सहयोग बढ़ाने पर भी विचार विमर्श किया। दोनों पक्षों ने दवा उपचार के क्षेत्र और नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के खिलाफ जागरूकता में एक-दूसरे को सहयोग करने पर भी सहमति जाहिर की।

भारत और अमेरिका ने नशीले पदार्थों और उनसे जुड़े रसायनों के उत्पादन, वितरण, परिवर्तन और आयात/  निर्यात के खिलाफ अपने डाटा साझेदारी परिचालन को बढ़ाने पर सहमति जाहिर की। दोनों ही पक्षों ने 2021 की वसंत ऋतु में सीएनडब्ल्यूजी बैठक में इन विचार-विमर्श को जारी रखने पर सहमति दी है।

 

*****                 

 

एमजी/एएम/एमपी/डीए



(Release ID: 1677892) Visitor Counter : 236