संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय

अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ ने भारत को अपने डिजिटल इनोवेशन बोर्ड का सह-अध्यक्ष चुना


भारत में आईटीयू एरिया ऑफिस, डिजिटल इनोवेशन बोर्ड, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन लैब, एक्सेलेरेशन सेंटर, ग्लोबल इनोवेशन सेंटर को बढ़ाने के लिए विभिन्न पहलों पर सहमति बनी

भारत-जापान संयुक्त कार्य समूह की निरंतरता, जिसमें साइबर सुरक्षा, ओआरएएन, क्वांटम एवं प्रौद्योगिकी जैसे उभरते क्षेत्र शामिल

भारत और बहरीन ने आईसीटी क्षेत्र में सक्रिय सहयोग करने का निर्णय लिया, जिनमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, 5जी का उपयोग, साइबर सुरक्षा और डेटा एम्बेसी का विकास जैसे क्षेत्र शामिल हैं

Posted On: 21 MAR 2024 6:10PM by PIB Delhi

भारत सरकार के दूरसंचार विभाग के सचिव डॉ. नीरज मित्तल ने 18-20 मार्च, 2024 तक अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) मुख्यालय में महत्वपूर्ण बैठकों की एक श्रृंखला का आयोजन करने के लिए जिनेवा में एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया। यह यात्रा दूरसंचार तथा सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने और अभिनव पहलों का पता लगाने पर केंद्रित थी। इस यात्रा की मुख्य विशेषताओं में शामिल हैं:

डॉ. नीरज मित्तल की सह-अध्यक्षता में भारत को डिजिटल इनोवेशन बोर्ड का नेतृत्व मिला: भारत सरकार के दूरसंचार विभाग के सचिव डॉ. नीरज मित्तल को सर्वसम्मति से डिजिटल विकास के लिए नवाचार एवं उद्यमिता गठबंधन के तत्वावधान में गठित आईटीयू के डिजिटल इनोवेशन बोर्ड का सह-अध्यक्ष चुना गया। डिजिटल इनोवेशन बोर्ड में एशिया, यूरोप, अफ्रीका, उत्तरी और दक्षिण अमेरिका में आईटीयू के 23 सदस्य देशों के दूरसंचार/आईसीटी मंत्री और उपमंत्री शामिल हैं।

अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) ने नवाचार के क्षेत्र में आईटीयू सदस्यता की महत्वपूर्ण अधूरी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिजिटल विकास हेतु नवाचार एवं उद्यमिता गठबंधन शुरू किया है, जैसा कि विश्व दूरसंचार विकास सम्मेलन 2022 (डब्ल्यूटीडीसी-22) में अपनाई गई किगाली कार्य योजना और आईटीयू पूर्णाधिकार सम्मेलन 2022 (पीपी-22) के परिणामों में व्यक्त किया गया था।

गठबंधन के तीन मुख्य माध्यम हैं: -

  1. डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन लैब
  2. नेटवर्क त्वरण केंद्र
  3. डिजिटल इनोवेशन बोर्ड

इस गठबंधन ने डिजिटल इनोवेशन बोर्ड की स्थापना की है जिससे सभी के लिए ज्यादा समावेशी एवं न्यायसंगत डिजिटल भविष्य तैयार करने के लिए महत्वपूर्ण स्थानीय समर्थकों का निर्माण करने एवं डिजिटल विकास में नवाचार एवं उद्यमिता को बढ़ावा देने वाले अपने अभियान को रणनीतिक मार्गदर्शन, विशेषज्ञता और समर्थन प्रदान किया जा सके।

अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) ने पूरी दुनिया में नेटवर्क त्वरण केंद्रों के प्रयासों का समन्वय करने के लिए आईटीयू एरिया ऑफिस और इनोवेशन सेंटर, नई दिल्ली, भारत में ग्लोबल इनोवेशन सेंटर के साथ इनोवेशन केंद्रों के नेटवर्क की मेजबानी करने के लिए 17 वैश्विक संगठनों का चयन किया है।


डॉ. नीरज मित्तल ने इस सप्ताह की शुरुआत में आईटीयू मुख्यालय में डॉ. कॉसमॉस ज़वाज़वा के साथ बैठकें कीं। बैठक के दौरान भारत में आईटीयू एरिया ऑफिस, डिजिटल इनोवेशन बोर्ड, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन लैब, एक्सेलेरेशन सेंटर, ग्लोबल इनोवेशन सेंटर को बढ़ाने से संबंधित विभिन्न पहलों पर चर्चा हुई और आगे बढ़ने के रास्ते पर सहमति बनी। उन्होंने आईटीयू को विश्व दूरसंचार मानकीकरण सभा (डब्ल्यूटीएसए) 2024 के साथ-साथ भारत में डिजिटल इनोवेशन बोर्ड की अगली बैठक की मेजबानी करने के लिए आमंत्रित किया।

आईटीयू गतिविधियों में भारत की बढ़ती भागीदारी:

डॉ. नीरज मित्तल ने जिनेवा में भारत के स्थायी मिशन (पीएमआई) में एक समीक्षा बैठक की भी अध्यक्षता की। इस बैठक में पीएमआई के स्थायी प्रतिनिधि श्री अरिंदम बागची और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। बैठक में महत्वपूर्ण उपलब्धियों पर प्रगति और भारत के शिक्षाविदों एवं उद्योग जगत के लोगों की ज्यादा भागीदारी के साथ-साथ आईटीयू गतिविधियों में भारत की भागीदारी को बढ़ाने के प्रयासों की समीक्षा की गई।

 


द्विपक्षीय बैठकें

आईटीयू मुख्यालय में डिजिटल इनोवेशन बोर्ड की बैठक से इतर भारत और जापान के बीच एक द्विपक्षीय बैठक आयोजित की गई। बैठक की सह-अध्यक्षता डॉ. नीरज मित्तल और जापान के आंतरिक मामलों एवं संचार मंत्रालय के उपमंत्री श्री हिरोशी योशिदा ने की। इस बैठक में दूरसंचार एवं आईसीटी क्षेत्रों में भारत और जापान की भागीदारी की समीक्षा की गई तथा दोनों नेताओं ने दोनों देशों के बीच एआई, 5जी उपयोग और क्वांटम उत्पाद प्रमाणीकरण पर सक्रिय सहयोग का प्रस्ताव रखा। दोनों नेताओं ने विश्वसनीय उत्पादों के लिए एक संरचना विकसित करने के लिए सहयोग की आवश्यकता पर बल दिया और आईसीटी पर भारत-जापान संयुक्त कार्य समूह के अंतर्गत 5जी उपयोग और बड़े पैमाने पर एमआईएमओ पर उप कार्य समूहों को संचालित करने पर अपनी सहमति व्यक्त की।

डॉ. मित्तल ने जापानी सरकार और उद्योग प्रतिनिधियों को डब्ल्यूटीएसए 2024 और इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) 2024 में आने और भागीदारी करने के लिए आमंत्रित किया, डब्ल्यूटीएसए 2024 के साथ आयोजित किए जा रहे विभिन्न अन्य कार्यक्रमों में आईटीयू कैलिडोस्कोप, प्रदर्शनियां, एआई फॉर गुड ग्लोबल इम्पैक्ट इंडिया, महिलाओं का नेटवर्क, डब्ल्यूएचओ के साथ सुरक्षित श्रवण पर कार्यशाला और हैकथॉन का आयोजन आदि शामिल हैं।

दूरसंचार सचिव ने डिजिटल नवाचार बोर्ड की बैठक से इतर आईटीयू मुख्यालय, जिनेवा में बहरीन के परिवहन एवं दूरसंचार मंत्री श्री मोहम्मद बिन थमीर के साथ भारत और बहरीन के बीच द्विपक्षीय बैठक की सह-अध्यक्षता की। भारत और बहरीन ने आईसीटी क्षेत्र में सक्रिय सहयोग करने का निर्णय लिया, जिनमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, 5जी का उपयोग, साइबर सुरक्षा और डेटा दूतावास का विकास जैसे क्षेत्र शामिल हैं। दोनों नेताओं ने दोनों देशों के बीच आईसीटी पर समझौता ज्ञापन पर पुनः विचार करने पर सहमति व्यक्त की, जो 2015 में समाप्त हो चुका है।

भारत ने बहरीन के साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पद्धति का निष्पक्ष मूल्यांकन और रेटिंग पर टीईसी मानक, नियामक सैंडबॉक्स पर स्थिति नोट साझा करने का प्रस्ताव रखा।


यह यात्रा वैश्विक दूरसंचार परिदृश्य को आकार देने में भारत की सक्रिय भागीदारी तथा सामाजिक-आर्थिक विकास हेतु नवाचार का लाभ उठाने की भारत की प्रतिबद्धता को रेखांकित करती है।

**

एमजी/एआर/एके/एसके



(Release ID: 2016002) Visitor Counter : 228


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Tamil