सूचना और प्रसारण मंत्रालय

मोदी सरकार का तोहफा, अब हिमाचल से हरिद्वार तक सीधी ट्रेन सुविधा: अनुराग ठाकुर


ऊना हिमाचल-सहारनपुर एमईएमयू को अब हरिद्वार तक बढ़ाया जाएगा: श्री अनुराग ठाकुर

हिमाचल में बेहतर कनेक्टिविटी सुनिश्चित करना मेरी प्राथमिकता: श्री अनुराग ठाकुर

Posted On: 23 FEB 2024 7:15PM by PIB Delhi

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने आज बताया कि हिमाचल प्रदेश के उना से सहारनपुर तक चलने वाली ट्रेन की सेवा को अब हरिद्वार तक बढ़ाया जाएगा।

श्री अनुराग ठाकुर ने इस बारे में फैसले के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इससे क्षेत्र के निवासियों को बहुत लाभ होगा और तीर्थ पर्यटन में भी वृद्धि होगी।

श्री अनुराग ठाकुर ने कहा, "हमीरपुर संसदीय क्षेत्र और हिमाचल प्रदेश के प्रतिनिधि के रूप में मैं हमेशा इस क्षेत्र के विकास में सक्रिय रूप से लगा हुआ हूं, और हिमाचल प्रदेश में बेहतर कनेक्टिविटी सुविधाएं प्रदान करना मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता है। हरिद्वार प्रमुख धार्मिक स्थल है और हिमाचल प्रदेश से बड़ी संख्या में लोग तीर्थयात्रा के लिए हरिद्वार जाते हैं। मैंने व्यक्तिगत रूप से रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव जी से मुलाकात की और ऐसे प्रावधान का अनुरोध किया ताकि हिमाचल के यात्री ट्रेन से सीधे हरिद्वार जा सकें। मुझे आपको यह बताते हुए खुशी हो रही है पहले ऊना से सहारनपुर तक चलने वाली ऊना हिमाचल-सहारनपुर एमईएमयू ट्रेन की सेवा के हरिद्वार तक विस्तार को रेल मंत्री ने मंजूरी दे दी है। यह ट्रेन अब ऊना से हरिद्वार तक चलेगी, जिससे यात्रियों को बड़ी सुविधा मिलेगी। इसलिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव जी का आभार व्यक्त करता हूं।"

श्री अनुराग ठाकुर ने कहा, "विकास हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है और मोदी सरकार ने ऊना को सौगात देने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने हिमाचल प्रदेश को देश की चौथी वंदे भारत ट्रेन की सौगात दी और मोदी जी खुद इसके उद्घाटन के लिए ऊना आए थे। यह बीजेपी के कारण ही संभव हो पाया है कि भारत की सबसे आधुनिक ट्रेन अब हिमाचल प्रदेश में चल रही है। मोदी सरकार रेलवे सेवाओं के विस्तार और हिमाचल प्रदेश में नई ट्रेनें चलाने से लेकर आवश्यक बुनियादी ढांचे का विकास तक कनेक्टिविटी के किसी भी मुद्दे का हल करने की दिशा में लगन से काम कर रही है। वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए हिमाचल प्रदेश में रेलवे विस्तार के लिए 1838 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। वर्ष 2023-24 के बजट में सामरिक महत्व की भानुपाली-बिलासपुर-बेरी रेल लाइन के लिए 1000 करोड़ रुपये, चंडीगढ़-बद्दी रेल लाइन के लिए 450 करोड़ रुपये और नंगल-तलवाड़ा रेल लाइन के लिए 452 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है। रेलवे विस्तार के लिए 1838 करोड़ रुपये की यह मंजूरी 2009 से 2014 तक यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान मंजूर की गई राशि की तुलना में 17 गुना अधिक है। वर्तमान में, राज्य में 19556 करोड़ रुपये के निवेश के साथ 258 किलोमीटर तक फैली चार परियोजनाओं पर काम चल रहा है।”

श्री अनुराग ठाकुर ने कहा, ''वर्षों से मेरे संसदीय क्षेत्र में ऊना जिले के गगरेट विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न ढांचागत सुधारों की मांग की जा रही है। लोहारली खड्ड पर 500 मीटर लंबे डबल लेन पुल को मंजूरी, दौलतपुर चौक रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, अंब रेलवे स्टेशन तक रेलवे लाइन का विद्युतीकरण और फुट ओवरब्रिज का विस्तार, ऊना रेलवे स्टेशन पर दूसरे प्लेटफार्म और फुट ओवरब्रिज की मंजूरी, पुराने पुल का विस्तार, नई ट्रेनों की मंजूरी के साथ ही चुरारू टकराला अंबाला कैंट-दौलतपुर चौक पैसेंजर स्पेशल ट्रेन और रायमेहतपुर सहारनपुर-ऊना हिमाचल पैसेंजर एक्सप्रेस जैसे प्रमुख ट्रेनों के स्टॉपेज को मंजूरी मिलना पूरे हिमाचल प्रदेश राज्य के लिए मोदी सरकार की ओर से अहम उपहार हैं।''

श्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल जी की अनुशंसा पर तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने हिमाचल प्रदेश के लिए एक औद्योगिक पैकेज की घोषणा की थी जिसका सीधा लाभ ऊना जिले में उद्योगों की स्थापना में मिला।

ऊना जिला हिमाचल प्रदेश का एकमात्र जिला है जो ब्रॉड-गेज रेलवे लाइन से जुड़ा है। पहली ट्रेन वर्ष 1990 में ऊना पहुंची थी।

श्री अनुराग ठाकुर ने आगे कहा, "मोदी सरकार के कार्यकाल में 2014 से मार्च 2019 तक अंब-अंदौरा, चिंतपूर्णी मार्ग और दौलतपुर चौक रेलवे स्टेशनों का काम पूरा हुआ। आज ऊना और अंब अंदौरा रेलवे स्टेशनों से इस जिले को देश के विभिन्न हिस्सों से कुल 13 ट्रेनें जोड़ती हैं। ऊना से साबरमती रेलवे स्टेशन तक दैनिक ट्रेन सेवाएं भी हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ऊना-हमीरपुर रेलवे लाइन की घोषणा 2019 में धर्मशाला में आयोजित इन्वेस्टर मीट में की थी। असल में इस रेलवे लाइन को तीन बार आर्थिक और सामाजिक रूप से महत्वपूर्ण माना गया और 2014 से 2019 तक लोकसभा रेल बजट प्रस्तुतियों में इसके निर्माण के लिए कदम उठाने पर जोर दिया गया। हालांकि, इस घोषणा ने तब गति पकड़ी जब प्रधानमंत्री मोदी जी ने हिमाचल प्रदेश को अपना दूसरा घर बताते हुए इस रेलवे लाइन की अहमियत बताई और व्यक्तिगत रूप से इसका निर्माण शुरू करने के लिए रेलवे मंत्रालय को निर्माण पूर्व औपचारिकताओं को पूरा करने का निर्देश भी दिया ताकि राज्य की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया जा सके।''

श्री अनुराग ठाकुर ने कहा, “यह रेलवे लाइन मां ज्वालामुखी, मां चिंतपूर्णी, मां ब्रजेश्वरी, मां चामुंडा आदि तीर्थ स्थानों को जोड़ते हुए राज्य में धार्मिक और पर्यटन गतिविधियों को बढ़ाएगी, जिससे राज्य के राजस्व में योगदान मिलेगा। इसके अलावा, इससे भारतीय सेना और अर्धसैनिक बलों में सेवारत युवाओं को क्रमशः हमीरपुर और मंडी जिलों में सरकाघाट और धरमपुर तहसीलों के साथ-साथ कांगड़ा जिले में पालमपुर, बैजनाथ, जयसिंहपुर तहसीलों से यात्रा के लिए रेलवे स्टेशन का लाभ मिलेगा।"

ऊना-हमीरपुर रेलवे लाइन के निर्माण के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार 1500 करोड़ रुपये और केंद्र सरकार 4300 करोड़ रुपये का योगदान देगी।

श्री अनुराग ठाकुर ने कहा, “17 फरवरी को नदी पर एक पुल के निर्माण की मंजूरी मिल गई। इससे पठानकोट और जोगिंदरनगर के बीच रेल सेवा की बहाली में तेजी आएगी। इसके साथ ही कांगड़ा और नूरपुर के बीच रेल ट्रैक भी जल्द बहाल किया जाएगा। इसके लिए अनुमोदन प्राप्त करने के लिए मैंने रेल मंत्री से भी मुलाकात की है।''

***

एमजी/एआर/एके/डीवी



(Release ID: 2008533) Visitor Counter : 212