श्रम और रोजगार मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav g20-india-2023

ईपीएफओ ने जुलाई, 2023 के दौरान कुल 18.75 लाख सदस्यों के साथ उच्चतम पेरोल वृद्धि का रिकॉर्ड बनाया

Posted On: 20 SEP 2023 5:43PM by PIB Delhi

आज जारी ईपीएफओ के अनंतिम पेरोल डेटा से पता चलता है कि ईपीएफओ ने जुलाई, 2023 महीने में कुल 18.75 लाख सदस्य जोड़े हैं। सितंबर, 2017 के बाद की अवधि को कवर करते हुए अप्रैल, 2018 से ईपीएफओ पेरोल डेटा के पहले प्रकाशन के बाद से महीने के दौरान वृद्धि सबसे अधिक है। जून, 2023 के पिछले महीने की तुलना में लगभग 85,932 कुल सदस्यों की वृद्धि के साथ पिछले तीन महीनों से बढ़त की प्रवृत्ति जारी है।

आंकड़ों से संकेत मिलता है कि जुलाई, 2023 के दौरान लगभग 10.27 लाख नए सदस्यों ने नामांकन किया है, जो जुलाई, 2022 के बाद से सबसे अधिक है। ईपीएफओ में शामिल होने वाले अधिकांश नए सदस्य 18-25 वर्ष के आयु वर्ग के हैं, जो महीने के दौरान कुल नए सदस्यों के जुड़ने का लगभग 58.45 प्रतिशत है। यह युवा नामांकन में बढ़ती प्रवृत्ति को दिखाता है, जो अधिकतर देश के संगठित क्षेत्र के कार्यबल में शामिल होने वाले पहली बार नौकरी चाहने वाले हैं।

पेरोल डेटा से पता चलता है कि लगभग 12.72 लाख सदस्य बाहर निकल गए, लेकिन ईपीएफओ में फिर से शामिल हो गए, जो पिछले 12 महीनों में सबसे अधिक है। इन सदस्यों ने अपनी नौकरी बदल दी और ईपीएफओ के अंतर्गत आने वाले प्रतिष्ठानों में फिर से शामिल हो गए और अंतिम निपटान के लिए आवेदन करने की जगह अपने संचय को स्थानांतरित करने का विकल्प चुना, इस प्रकार अपनी सामाजिक सुरक्षा सुरक्षा का विस्तार किया।

पेरोल डेटा के लिंग-वार विश्लेषण से पता चलता है कि जुलाई, 2023 के दौरान लगभग कुल 3.86 लाख महिला सदस्यों को पेरोल में जोड़ा गया है। लगभग 2.75 लाख महिला सदस्य पहली बार सामाजिक सुरक्षा कवरेज के दायरे में आई हैं।

पेरोल डेटा राज्यवार विश्लेषण से पता चलता है कि जोड़े गए कुल सदस्यों के मामले में शीर्ष पांच राज्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, गुजरात और हरियाणा हैं। ये जोड़े गए कुल सदस्यों का लगभग 58.78 प्रतिशत हिस्सा है,  जिससे महीने के दौरान कुल 11.02 लाख सदस्य जुड़े। सभी राज्यों में से महाराष्ट्र इस महीने के दौरान कुल 20.45 प्रतिशत सदस्य जोड़कर अग्रणी है।

उद्योग-वार आंकड़ों की महीने-दर-महीने तुलना से पता चलता है कि व्यापार-वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, भवन और निर्माण उद्योग, इलेक्ट्रिकल, मेकेनिकल और सामान्य इंजीनियरिंग उत्पादों में लगे प्रतिष्ठानों में काम करने वाले सदस्यों में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई है। इसके बाद वस्त्र, वित्त पोषण प्रतिष्ठान, अस्पताल आदि का स्थान रहा। कुल निवल सदस्यता में से लगभग 38.40 प्रतिशत वृद्धि विशेषज्ञ सेवाओं (मानवशक्ति आपूर्तिकर्ताओं, सामान्य ठेकेदारों, सुरक्षा सेवाओं, विविध गतिविधियों आदि सहित) से हुई है।

उपर्युक्त पेरोल डेटा अनंतिम है क्योंकि डेटा सृजन एक सतत प्रक्रिया है, क्योंकि कर्मचारी रिकॉर्ड को अद्यतन करना भी एक सतत प्रक्रिया है। इसलिए पिछला डेटा हर महीने अद्यतन बनाया जाता है। अप्रैल-2018 के महीने से ईपीएफओ सितंबर, 2017 के बाद की अवधि को कवर करते हुए पेरोल डेटा जारी कर रहा है। मासिक पेरोल डेटा में, आधार मान्य यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) के माध्यम से पहली बार ईपीएफओ में शामिल होने वाले सदस्यों, ईपीएफओ के कवरेज से बाहर निकलने वाले वर्तमान सदस्यों तथा बाहर निकल कर फिर से शामिल होने वाले सदस्यों की गिनती  उनकी कुल मासिक पेरोल की जानकारी के लिए की जाती है।

****

एमजी/एमएस/आरपी/एजी/ओपी/डीके-



(Release ID: 1959155) Visitor Counter : 191


Read this release in: Urdu , Tamil , English , Telugu