उपभोक्‍ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय

श्री पीयूष गोयल आईएसओ कोपोल्‍को की 44वीं पूर्ण बैठक का उद्घाटन करेंगे


पूर्ण बैठक का मुख्‍य कथ्‍य : उपभोक्ता सम्‍पर्क की चुनौतियाँ और अच्छी प्रक्रियाएं, सतत भविष्य के लिए उपभोक्ताओं को सशक्त बनाना, उपभोक्ता संरक्षण और कानूनी ढाँचे

आईएसओ कोपोल्‍को की पूर्ण बैठक का वैश्विक अर्थव्यवस्था और लोगों के जीवन पर महत्वपूर्ण असर पड़ता है

Posted On: 22 MAY 2023 1:30PM by PIB Delhi

भारत 23-26 मई 2023 को नई दिल्ली में प्रतिष्ठित आईएसओ कोपोल्‍को की वार्षिक पूर्ण बैठक के 44वें संस्करण की मेजबानी कर रहा है। इस कार्यक्रम का उद्घाटन केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता मामले और खाद्य और सार्वजनिक वितरण और कपड़ा मंत्री श्री पीयूष गोयल करेंगे। कोपोल्को की अध्यक्ष सुश्री सैडी डेंटन, आईएसओ के महासचिव श्री सर्जियो मुजिका और आईएसओ के अन्य उच्च अधिकारी भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।

आईएसओ कोपोल्‍को या उपभोक्ता नीति पर समिति, मानकीकरण प्रक्रिया में उपभोक्ता हितों को बढ़ावा देने और मानकों को उपभोक्ताओं की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए विकसित किया जाना सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार अंतर्राष्ट्रीय संगठन (आईएसओ) की एक समिति है। भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) द्वारा आयोजित किये जा रहे इस मेगा इवेंट में मानकीकरण प्रक्रिया में उपभोक्ता सम्‍पर्क को लक्षित अन्य विशिष्ट गतिविधियों के अलावा, भारत के राष्ट्रीय मानक निकाय में संबंधित विषयों पर संवाद सत्र और कार्यशालाएं भी आयोजित की जाएगी।

इस चार दिवसीय कार्यक्रम में सरकारी और व्यावसायिक क्षेत्रों के प्रमुखों की विशिष्ट उपस्थिति होगी और प्रतिष्ठित वैश्विक हितधारकों के अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल शामिल होंगे। इस वर्ष की पूर्ण बैठक में जन-केंद्रित दृष्टिकोण और 'उपभोक्ता सम्‍पर्क के लिए चुनौतियां और अच्छी प्रक्रियाएं, 'सतत भविष्य के लिए उपभोक्ताओं को सशक्त बनाना' और 'उपभोक्ता संरक्षण और कानूनी ढांचे' जैसे विषयों पर परिचर्चाएं होंगी जो भारत और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

सम्मेलन में विभिन्‍न विषयों पर कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा और इसके अलावा बैठक को विभिन्‍न उच्‍च स्‍तरीय वक्‍ता और मंत्री संबोधित करेंगे। 26 मई को समाप्त होने वाले इस कार्यक्रम में उपभोक्ता सम्‍पर्क से संबंधित विषयों पर पैनल चर्चाएं भी होंगी। ऐसा माना जाता है कि आईएसओ कोपोल्‍को पूर्ण बैठक का वैश्विक अर्थव्यवस्था पर और साथ ही लोगों के जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।

अंतर्राष्ट्रीय मानक संगठन (आईएसओ) एक अंतरराष्ट्रीय निकाय है और दुनिया के 168 देश इसके इसके सदस्‍य हैं। यह संगठन व्यापार और सामाजिक क्षेत्रों की विविध श्रेणियों को प्रभावित करने वाले वैश्‍विक मानकों का विकास करता है। मानक विकास पर उनकी उपभोक्ता समिति (कोपोल्‍को) के माध्यम से, आईएसओ मानकीकरण की प्रक्रिया में व्यापक जनता को शामिल करता है। इसलिए, आईएसओ कोपोल्‍को की पूर्ण बैठक को एक प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय घटना माना जाता है जिसमें आईएसओ के सदस्य देशों के प्रतिनिधियों को दुनिया में मानकों के विकास में तेजी लाने के लिए चर्चा और रणनीति विकसित करने का अवसर मिलता है।

भारत लंबे समय से अंतरराष्ट्रीय मानकीकरण के मामलों में सक्रिय रूप से शामिल रहा है और मानकीकरण के लिए अंतर्राष्ट्रीय संगठन (आईएसओ) के संस्थापक सदस्यों में से एक है।

भारत के राष्ट्रीय मानक निकाय के रूप में अपनी क्षमता में, बीआईएस अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय मानकीकरण के मामलों में सक्रिय रूप से शामिल है। बीआईएस अंतर्राष्ट्रीय मानकीकरण संगठन (आईएसओ) का सदस्य है और भारतीय राष्ट्रीय समिति (आईएनसी) के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय इलेक्ट्रो तकनीकी आयोग (आईईसी) का भी सदस्य है। बीआईएस प्रशांत क्षेत्र मानक कांग्रेस (पीएएससी) और दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय मानक संगठन (एसएआरएसओ) जैसे क्षेत्रीय मानक निकायों का भी सदस्य है वे आईबीएसए (भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका) के ढांचे के तहत है।

 

*****

एमजी/एमएस/आरपी/एसएम/एसएस



(Release ID: 1926308) Visitor Counter : 464