राष्ट्रपति सचिवालय

राष्ट्रपति ने हिमाचल प्रदेश के केंद्रीय विश्वविद्यालय के 6ठे वार्षिक दीक्षांत समारोह में भाग लिया


छात्रों को हमेशा यह स्मरण रखना चाहिए कि उन्होंने जो कुछ उपलब्धि अर्जित की है उसमें समाज ने किसी न किसी प्रकार से जरुर योगदान दिया है: राष्ट्रपति श्री कोविंद

Posted On: 10 JUN 2022 6:42PM by PIB Delhi

राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने आज ( 10 जून, 2022 ) धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश के केंद्रीय विश्वविद्यालय के 6ठे वार्षिक दीक्षांत समारोह में भाग लिया तथा उसे संबोधित किया। 

इस अवसर पर राष्ट्रपति ने कहा कि शिक्षा किसी भी देश के निर्माण की आधारशिला होती है। इसलिए शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो न केवल छात्रों में बौद्धिक क्षमता और कौशल का विकास करे बल्कि उनके नैतिक मूल्य और चरित्र को भी सुदृढ़ बनाये। उन्होंने कहा कि युवाओं ने विश्व के सभी अग्रणी देशों की प्रगति में मुख्य भूमिका निभाई है। उन्होंने जोर देकर कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी किसी भी समाज के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण मानदंड है।

छात्रों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि उनके जैसे युवाओं के समक्ष कई क्षेत्रों में अवसर उपलब्ध हैं तथा भारत के युवाओ में इन अवसरों का लाभ उठाने की क्षमता है। आवश्यकता इस बात की है कि वे अपनी क्षमताओं में विश्वास बनाये रखें तथा आगे की ओर अग्रसर होते रहें। उन्होंने कहा कि दीक्षांत समारोह उनकी औपचारिक शिक्षा पूरी करने का एक अवसर है लेकिन सीखना उनके जीवन भर जारी रहेगा। उन्हें हर कदम पर, हर किसी से सीखने के लिए तैयार रहना चाहिए। राष्ट्रपति ने कहा कि छात्रों को हमेशा यह स्मरण रखना चाहिए कि उन्होंने अभी तक जो कुछ उपलब्धि अर्जित की है उसमें समाज ने किसी न किसी प्रकार से जरुर योगदान दिया है। यह उन पर समाज का ऋण है। उन्हें इसके लिए भुगतान करने के लिए तैयार रहना चाहिए। वे इसका भुगतान कैसे करेंगे, कब करेंगे, यह उन पर निर्भर करता है। उन्होंने कहा कि उन्हें भारत की शिक्षित, अनुशासित तथा दृढ़ निश्चयी युवा शक्ति की बुद्धिमत्ता पर पूरा भरोसा है।

हिमाचल प्रदेश के केंद्रीय विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के कार्यान्वयन के बारे में चर्चा करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि विश्वविद्यालय ने इसकी अनुशंसाओं को कार्यान्वित करने के लिए कई पहल की है। उन्होंने विश्वास जताया कि इन पहलों से छात्रों में नए कौशल, ज्ञान तथा क्षमता का विकास होगा और वे आत्मनिर्भरता तथा राष्ट्र-प्रथम की भाना के साथ जीवन में आगे बढ़ेंगे।

राष्ट्रपति ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के केंद्रीय विश्वविद्यालय ने अपनी स्थापना के 12 वर्ष पूरे कर लिए हैं। विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र संघ को सक्रिय बनने तथा अपने वार्षिक या द्विवार्षिक मिलन का आयोजन करने का यह बिल्कुल सही समय है। उन्होंने कहा कि किसी भी संस्थान का पूर्व छात्र अपने संस्थान के लिए विशेष लगाव महसूस करता है। इसलिए, पूर्व छात्र संघ इस भावना को संस्थान के लिए एक उपयोगी स्वरूप देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

राष्ट्रपति का अभिभाषण देखने के लिए कृपया यहां क्लिक करें :

 

एमजी/एमए/एसकेजे



(Release ID: 1833080) Visitor Counter : 269


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Punjabi