उप राष्ट्रपति सचिवालय
azadi ka amrit mahotsav

उपराष्ट्रपति ने भारतीय संगीत परंपरा का संरक्षण करने और उसे बढ़ावा देने का आह्वान किया

उपराष्‍ट्रपति ने कहा कि संगीत में मानसिक तनाव और चिंता को दूर करने की व्‍यापक शक्ति होती है

उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु प्रसिद्ध संगीतकार श्री घंटासाला वेंकटेश्वर राव के शताब्दी समारोह में शामिल हुए

Posted On: 13 MAY 2022 8:46PM by PIB Delhi

उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु ने आज युवा पीढ़ी के बीच भारतीय संगीत परंपरा को लोकप्रिय बनाकर भारतीय संस्कृति और विरासत, विशेष रूप से भारतीय संगीत परंपरा का संरक्षण करने की आवश्यकता पर जोर दिया। यह देखते हुए कि भारतीय संगीत की उत्पत्ति बहुत प्राचीन है और इसका प्राचीन काल से ही ज्ञान का संचार करने में उपयोग किया जाता था, श्री नायडु ने कहा कि वास्‍तव में संगीत में आधुनिक जीवन के मानसिक तनाव और चिंताओं को दूर करने की व्‍यापक शक्ति है।

श्री नायडु आज हैदराबाद में किन्नर आर्ट थिएटर द्वारा आयोजित भारतीय फिल्मों के प्रसिद्ध संगीतकार और पार्श्व गायक श्री घंटासाला वेंकटेश्वर राव के शताब्दी समारोह को संबोधित कर रहे थे। उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए, श्री नायडु ने कहा कि भारतीय संगीत परंपरा का विश्व संगीत में एक विशिष्‍ट स्थान है और संगीत का अभ्यास न केवल एक कला के रूप में, बल्कि एक सटीक विज्ञान के रूप में भी प्रयोग किया जाता था। उन्होंने स्‍मरण किया कि संगीत सामाजिक बदलाव के एक उपकरण के रूप में भी काफी प्रभावी है। संगीत न केवल मनोरंजन प्रदान कर सकता है, बल्कि समाज को भी ज्ञानवान बना सकता है।

इस अवसर पर श्री नायडु ने गायक और संगीतकार श्री घंटासाला को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि इस प्रसिद्ध गायक ने स्वर्गीय श्री एस.पी. बालासुब्रमण्यम के साथ मिलकर सिनेमा में संगीत के स्वर्ण युग में बहुत योगदान दिया है। उन्होंने प्रसिद्ध पार्श्व गायक श्री नागूर बाबू (मानो) को घंटासाला स्मृति पुरस्कार प्रदान किया। इससे पहले, उपराष्ट्रपति ने श्री मानो और अन्य कलाकारों का संगीत प्रदर्शन देखा, जिन्होंने श्री घंटासाला की कई अनेक शाश्‍वत संगीत धुनों को प्रस्तुत किया था।

डॉ. के.वी. रामनाचारी सलाहकार, तेलंगाना सरकार, श्री मंडली बुद्ध प्रसाद पूर्व उपाध्यक्ष, आंध्र प्रदेश विधान सभा, डॉ. आर. प्रभाकर राव पूर्व पुलिस महानिदेशक, आंध्र प्रदेश, श्री मदाली रघुराम महासचिव, किन्नर आर्ट थिएटर और अनेक गणमान्य व्यक्ति इस कार्यक्रम में मौजूद थे।

****

एमजी/एएम/आईपीएस/एसएस



(Release ID: 1825796) Visitor Counter : 40


Read this release in: English , Urdu , Punjabi