कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

संयुक्त अरब अमीरात में रोजगार के अवसरों के लिए कुशल कार्यबल तैयार करने के उद्देश्य से वाराणसी में स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर स्थापित होगा

कौशल आधारित सहयोग बढ़ाने के उद्देश्य से सभी प्रासंगिक हितधारकों को शामिल करने के लिए व्यापक संस्थागत ढांचे को विकसित और मजबूत बनाने पर भारत-संयुक्त अरब अमीरात सहमत

केंद्रीय शिक्षा तथा कौशल विकास मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान की उपस्थिति में एनएसडीसी इंटरनेशनल लिमिटेड तथा हिंदुस्तान पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड (डीपी वर्ल्ड की एक इकाई) के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए

Posted On: 12 MAY 2022 1:37PM by PIB Delhi

वाराणसी में स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर विकसित करने के लिए  एनएसडीसी इंटरनेशनल (एनएसडीसीआई) तथा डीपी वर्ल्ड की भारतीय इकाई हिंदुस्तान पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के बीच समझौता ज्ञापन का आदान-प्रदान किया गया। इस समझौता ज्ञापन का उद्देश्य विदेशों में लॉजिस्टिक्स, बंदरगाह संचालन तथा संबंधित क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों के लिए भारतीय युवाओं को कौशल प्रदान करना है। वाराणसी में स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार विश्व बाजार के लिए उम्मीदवारों को तैयार करने के उद्देश्य से कौशल प्रशिक्षण देगा। एनएसडीसी इंटरनेशनल के निदेशक श्री वेद मणि तिवारी तथा डीपी वर्ल्ड के कार्यकारी उपाध्यक्ष तथा एचपीएल के निदेशक मोहम्मद अल मुआलेम ने केंद्रीय शिक्षा तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान, कौशल विकास तथा उद्यमिता राज्यमंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर, संयुक्त अरब अमीरात के उद्यमिता तथा एसएमई राज्यमंत्री डॉ. अहमद बेलहोउल अल फलासी, एमएसडीई के सचिव श्री राजेश अग्रवाल, संयुक्त अरब अमीरात में भारत के राजदूत श्री संजय सुधीर, डीपी वर्ल्ड सबकंटिनेंट के सीईओ तथा प्रबंध निदेशक रिजवान सुमर की उपस्थिति में समझौता ज्ञापन का आदान-प्रदान किया।

इस अवसर पर श्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि भारत संयुक्त अरब अमीरात तथा विश्व के अन्य देशों का मूल्यवान साझेदार है। उन्होंने कहा कि सरकार भारत के युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा करने तथा उन्हें भविष्य के कार्य के लिए तैयार करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार एक विश्वसनीय, योग्यता संपन्न तथा सक्षम कार्यबल बना रही है, जो न केवल भारत के लिए बल्कि विश्व की अन्य अर्थव्यवस्थाओं के लिए भी आर्थिक सफलता को प्रेरित करेगा। उन्होंने कहा कि भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच मजबूत संबंधों के साथ यह समझौता एक और सफल साझेदारी होगी, जो हमारे संबंधों को प्रगाढ़ बनाएगी। स्किल इंडिया मिशन का उद्देश्य आर्थिक समृद्धि लाना और देश के युवाओं को अनूठा अवसर प्रदान करना है।

संयुक्त अरब अमीरात में कौशल संपन्न पेशेवर लोगों के महत्व पर बल देते हुए डॉ. अहमद बेलहोउल अल फलासी ने कहा कि इस सहयोग से दोनों देशों के युवाओं में कौशल विकास तेज करने में मदद मिलेगी और दोनों अर्थव्यवस्थाओं के श्रम बाजार की आवश्यक उभरते कौशल की समस्या के समाधान में लाभ होगा। उन्होंने भविष्य के लिए तैयार कौशल संपन्न कार्यबल बनाने में इस सहयोग के लिए एनएसडीसीआई तथा डीपी वर्ल्ड को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस समझौता ज्ञापन से संयुक्त अरब अमीरात और भारत के बीच संबंध और मजबूत होंगे और कार्यबल उत्पादकता बढ़ाने में मदद मिलेगी।

समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए जाने से पहले श्री धर्मेंद्र प्रधान तथा संयुक्त अरब अमीरात के उद्यमिता और एसएमई राज्यमंत्री डॉ. अहमद बेलहोउल अल फलासी की अध्यक्षता में द्विपक्षीय बातचीत हुई। दोनों मंत्रियों ने कौशल विकास तथा उद्यमिता के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने और भारत-संयुक्त अरब अमीरात सीईपीए को अप्रत्याशित ऊंचाइयों पर ले जाने के उपाय सुझाए। दोनों पक्ष कार्यबल को उन्नत बनाने, प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण, आदान-प्रदान कार्यक्रमों में सहायता तथा एप्रेंटिसशिप सहयोग सहित कौशल कौशल आधारित सहयोग बढ़ाने में सभी प्रासंगिक हितधारकों को शामिल करने के लिए व्यापक संस्थागत ढांचा को विकसित और मजबूत बनाने पर सहमति व्यक्त की। द्विपक्षीय बातचीत में संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय कौशल केंद्रों द्वारा जारी प्रमाणपत्रों की मान्यता तथा कौशल विकास तथा उद्यमिता मंत्रालय और संयुक्त अरब अमीरात के नेशनल क्वालिफिकेशन अथॉरिटी के बीच नवीकरण पर भी विचार किया गया, ताकि मूल्यांकन तथा भारतीय कार्यबल के प्रमाणीकरण की प्रक्रिया उदार बनाई जा सके और कार्यबल की अधिक मोबिलिटी सुनिश्चित की जा सके।

स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटरों का उद्देश्य भारतीय युवाओं को उच्च गुणवत्ता संपन्न प्रशिक्षण प्रदान करना है। केंद्र प्रशिक्षण सुविधा आयोजित करेंगे, संयुक्त अरब अमीरात, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया तथा अन्य जीसीसी क्षेत्रों में अंतर्राष्ट्रीय नियोक्ताओं की मांग के अनुसार प्रशिक्षण देंगे। स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर के पास सहयोगी संगठनों और विदेशी नियोक्ताओं का व्यापक नेटवर्क होगा ताकि दूसरे देशों में कौशल संपन्न तथा प्रमाणिक कार्यबल की सप्लाई में सहायता दी जा सके। ये सहयोग संगठन विदेशी बाजारों से मांग एकत्रित करने के लिए एनएसडीसीआई के साथ कार्य करेंगे। ये केंद्र मोबिलाइजेशन, काउंसिलिंग, कौशल प्रशिक्षण, प्रस्थान पूर्व ओरिएंटेशन, विदेशी भाषा प्रशिक्षण, प्लेसमेंट तथा आब्रजन और प्लेसमेंट के बाद सहयोग जैसी सेवाएं देंगे।

एनएसडीसी इंटरनेशनल लिमिटेड (एनएसडीसीआई) के बारे में  

एनएसडीसी इंटरनेशनल लिमिटेड भारत को विश्व की कौशल राजधानी बनाने के लिए स्किल इंडिया इंटरनेशनल मिशन को प्रेरित करने वाली राष्ट्रीय कौशल विकास निगम की सहायक प्रतिष्ठान है। इसका विजन कौशल संपन्न तथा प्रमाणित कार्यबल के स्रोत के लिए पसंदीदा सहयोग देश के रूप में भारत को बदलना है। इसका उद्देश्य अंतर्राषट्रीय रूप से मानक गुणवत्ता संपन्न स्किल इकोसिस्टम बनाना और योग्यता संपन्न प्रतिभा के लिए वैश्विक सप्लायर के रूप में अपनी स्थिति मजबूत करना है। यह प्रतिष्ठान देश में रहने वाले भारतीयों के लिए वैश्विक रोजगार के अवसरों तथा विदेशो में रहने वाले भारतीयों के लिए वैश्विक करियर मोबिलिटी की पेशकश करता है।

डीपी वर्ल्ड के बारे में

हिंदुस्तान पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड विश्व व्यापी स्मार्ट एंड टू एंड सप्लाई चैन लॉजिस्टिक प्रदानकर्ता डीपी वर्ल्ड का हिस्सा है। इसके उत्पादों और सेवाओं की व्यापक श्रृंखला मेरिटाइन और इनलैंड टर्मिनलों से लेकर मरीन सेवाओं, रेल नेटवर्क तथा आर्थिक क्षेत्रों और टैक्नोलॉजी प्रेरित उपभोक्ता सोल्यूशनों की एकीकृत सप्लाई चेन को कवर करती है। डीपी वर्ल्ड जहां कहीं भी संचालन में है, वहां अपनी गतिविधियों में स्थिरता और उत्तरदायी कॉरपोरेट सिटीजनशिप को एकीकृत करती है, अर्थव्यवस्थाओं और समुदायों के सकारात्मक योगदान का प्रयास करती है।

***

एमजी/एएम/एजी/एचबी



(Release ID: 1824790) Visitor Counter : 145


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Punjabi