रक्षा मंत्रालय

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह कल नई दिल्ली में आईडेक्स-डीआईओ के डिफकनेक्ट 2.0 कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे

Posted On: 21 APR 2022 1:22PM by PIB Delhi

रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्पादन विभाग (डीडीपी) के रक्षा उत्कृष्टता के लिए नवाचार - रक्षा  नवाचार संगठन (आईडेक्स-डीआईओ) ने 22 अप्रैल, 2022 को नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में स्टार्ट-अप्स और विविध हितधारकों के साथ नियमित रूप से जुड़ने की रणनीति को जारी रखने के लिए डिफकनेक्ट 2.0 का आयोजन करने जा रहा है। रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह इस कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे।

यह कार्यक्रम रक्षा क्षेत्र में भारत के अग्रणी उद्योगों से एक बड़ी संख्या में नए अन्वेषकर्ताओं और निवेशकों को आकर्षित करेगा। इसमें उद्योग के दिग्गजों के साथ सत्र, विभिन्न घोषणाएं और आईडेक्स-डीआईओ की समर्थित स्टार्ट-अप्स की एक श्रृंखला समूह की स्थिर प्रदर्शनियां शामिल होंगी। यह कार्यक्रम हमें एक उज्ज्वल भविष्य की ओर ले जाने वाले स्वदेशी नवाचारों का पता लगाने के लिए स्टार्ट-अप्स, उद्योग जगत और सैन्य प्रतिनिधियों को एक साथ लाएगा।

डिफकनेक्ट, आईडेक्स-डीआईओ से जुड़े नवअन्वेषकों को उद्योग जगत की हस्तियों के लक्षित दर्शकों के लिए अपनी क्षमताओं, उत्पादों और अत्याधुनिक तकनीकों का प्रदर्शन करने का एक अनोखा अवसर प्रदान करेगा। वहीं, स्टार्ट-अप्स के लिए यह अवसर निवेश प्राप्त करने और भविष्य के परिचालनों का नेतृत्व करने को लेकर लाभ उठाने के लिए है। यह आईडेक्स स्टार्ट-अप्स से मिलने व आईडेक्स और इससे संबंधित भागीदारों की ओर से अपेक्षित समर्थन के साथ विकसित की जा रही उनकी नवीन तकनीकों को समझने का एक अनूठा अवसर होगा।

आईडेक्स जैसे मंच सेना को अपने प्रमुख कार्यक्रमों जैसे डिफेंस इंडिया स्टार्टअप चैलेंज (डीआईएससी) और ओपन चैलेंज (ओसी) के माध्यम से जटिल चुनौतियों का विघटनकारी समाधान खोजने में सक्षम बनाते हैं। ये सैन्य प्रौद्योगिकी के भविष्य के लिए प्रमुख घटक होंगे। अब तक आईडेक्स ने डीआईएससी के पांच दौर (राउंड) और ओसी के तीन दौर लॉन्च किए हैं। इनके लिए अलग-अलग नव अन्वेषकों और स्टार्ट-अप्स से 2,000 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं। इसके अलावा आईडेक्स अपने अनुदान सहायता ढांचे यानी प्रोटोटाइप और अनुसंधान  किकस्टार्ट के लिए सहायता (स्पार्क) के जरिए कई तकनीकी क्षेत्रों की परियोजनाओं को धनराशि देने में सक्षम है। इसके तहत नए उद्यमियों को 1.50 करोड़ रुपये तक का अनुदान प्रदान करने का प्रावधान है।

नवाचार सामाजिक विकास की गति को आगे बढ़ाने वाला प्रमुख कारक बन गया है और यह अनोखे परिणाम के साथ सामाजिक मानकों को फिर से परिभाषित करता है। आईडेक्स, हमेशा रक्षा और आंतरिक सुरक्षा में नवाचार के मामले में सबसे आगे रहा है और इसकी अधिकांश परियोजनाओं में जबरदस्त नागरिक एप्लीकेशन भी हैं, जैसे कि क्वांटम कम्प्यूटेशन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस/प्रेडिक्टिव मेंटेनेंस/ लॉजिस्टिक्स/डेटा एनालिटिक्स, सुरक्षा/एन्क्रिप्शन और संचार आदि। इसे और आगे ले जाने के लिए आईडेक्स विभिन्न हितधारकों के कई विविध समस्या विवरणों के साथ डीआईएससी के छठें संस्करण को लॉन्च करेगा।

आईडेक्स, रक्षा नवाचार में नई क्षमताओं को विकसित करने के लिए भारत के मजबूत विज्ञान, प्रौद्योगिकी और अनुसंधान प्रतिभा के आधार का उपयोग करने में सक्षम है। इस योजना के जरिए प्रदान किए गए सहायता से रक्षा नवाचार के संबंध में दर्शकों को संवेदनशील बनाने के लिए नवोदित उद्यमियों की समझ में और भी बढ़ोतरी की जा रही है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 2018 में आईडेक्स को शुरू किया था। यह अनिवार्य रूप से रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्रों में विभिन्न हितधारकों को एक एकीकृत मंच प्रदान करता है। यह इस विशिष्ट क्षेत्र में प्रौद्योगिकी विकास और संभावित सहभागिता के पर्यवेक्षण के लिए एक व्यापक संगठन की तरह कार्य करता है।

**************

एमजी/एएम/एचकेपी/सीएस



(Release ID: 1818738) Visitor Counter : 358


Read this release in: Malayalam , English , Urdu , Tamil