विद्युत मंत्रालय

ऊर्जा मंत्रालय का आजादी का अमृत महोत्सव समारोह जारी


बीईई ने ऊर्जा दक्षता पर राष्ट्रीय कार्यशाला आयोजित की

बीईई ने बाजार परिवर्तन में ऊर्जा कुशल उपकरणों की भूमिका पर राष्ट्रीय कार्यशाला आयोजित की

बीईई ने इंडो-स्विस बिल्डिंग एनर्जी एफिशिएंसी प्रोजेक्ट के सहयोग से चार नए ज्ञान उत्पाद लॉन्च किए

Posted On: 11 DEC 2021 4:47PM by PIB Delhi

ऊर्जा मंत्रालय आजादी का अमृत महोत्सव के तहत 8 से 14 दिसंबर 2021 तक ऊर्जा संरक्षण सप्ताह मना रहा है।

 

ऊर्जा मंत्रालय की देखरेख में ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) ने आजादी का अमृत महोत्सव- भारत के 75 वर्षों की उपलब्धियों को दर्शाते एक राष्ट्रीय उत्सव, के तहत 10 दिसंबर, 2021 को भारतीय आवासीय क्षेत्र में ऊर्जा दक्षता पर एक राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला के दौरान बिजली सचिव श्री आलोक कुमार ने बीईई के सचिव और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में चार ज्ञान उत्पादों का शुभारंभ किया। इन ज्ञान उत्पादों को इंडो-स्विस बिल्डिंग एनर्जी एफिशिएंसी प्रोजेक्ट (बीईईपी) के सहयोग से विकसित किया गया है और इसका उद्देश्य भारत के राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (आईएनडीसी) को पूरा करने में योगदान देना है।

 

बीईई ने अभी चल रहे आजादी का अमृत महोत्सव के तहत प्रतिष्ठित सप्ताह के रूप में चिन्हित "राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण सप्ताह: 8-14 दिसंबर 2021" के दौरान 10 दिसंबर 2021 को बाजार परिवर्तन में ऊर्जा कुशल उपकरणों की भूमिका पर एक राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया। रेफ्रिजरेशन एंड एयर कंडीशनिंग मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (आरएएमए), कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड अप्लायंसेज मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (सीईएएमए) और कोलैबोरेटिव लेबलिंग एंड एप्लायंस स्टैंडर्ड्स प्रोग्राम (सीएलएएसपी) जैसे विभिन्न एजेंसियों और संघों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया और अपना सहयोग किया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन ऊर्जा दक्षता ब्यूरो के महानिदेशक ने किया।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001XIGG.jpg

 

इस कार्यक्रम में लॉन्च किए गए ज्ञान उत्पाद हैं:

 

  1. अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट इंजीनियरिंग छात्रों को हीट ट्रांसफर की मूल बातें और ऊर्जा कुशल इमारतों के डिजाइन में प्रशिक्षित करने के लिए "अंडरस्टैंडिंग हीट ट्रांसफर इन बिल्डिंग थ्रू न्यूमेरिकल एक्जाम्पल्स" पर एक किताब। इस पुस्तक को आईआईटी भिलाई के साथ साझेदारी में विकसित किया गया है।

 

2. बिल्डिंग एनवेलेप सॉल्यूशन सेट्स, ऊर्जा कुशल आवासीय भवनों को डिजाइन करने में डिजाइनरों के लिए यह एक रेडी रेकनर है और यह आवासीय भवनों या इको-निवास संहिता, 2018 के लिए ऊर्जा संरक्षण बिल्डिंग कोड के अनुपालन में मदद करता है।

 

3. बाहरी चलायमान छायांकन प्रणालियों (ईएमएसवाईएस) पर एक मैनुअल जो इमारतों में गर्मी के प्रवेश को कम करने और इमारतों को ठंडा रखने में मदद करने के लिए देश में उपलब्ध बाहरी छायांकन समाधानों का संकलन है।

 

4. वायु प्रवाह: इमारतों में प्राकृतिक वायु आवागमन (वेंटिलेशन) में सुधार करने और उन्हें ठंडा रखने तथा स्वस्थकर बनाने में डिजाइनरों की मदद करने के लिए एक ओपन-सोर्स कम्प्यूटेशनल फ्लूड डायनेमिक्स (सीएफडी) टूल।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002Y33O.jpg

 

बिजली सचिव ने एनडीसी के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के मोर्चे पर भारत के प्रदर्शन के बारे में विचार-विमर्श किया और इस बात पर प्रकाश डाला कि भारत ने समय से पहले ही राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित कुछ योगदान (एनडीसी) हासिल कर लिए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि बिजली की मांग बड़े पैमाने पर आवासीय क्षेत्र से आती है और अधिक शहरीकरण का अर्थ अधिक भवन है। उन्होंने जनता के लिए पर्याप्त तकनीकी सामग्री और ज्ञान उत्पाद उपलब्ध कराने के लिए बीईई को बधाई दी।

*********

एमजी/एएम/एके/डीवी



(Release ID: 1780533) Visitor Counter : 336


Read this release in: English , Urdu , Tamil , Telugu