संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav g20-india-2023

पीएम-डब्ल्यूएएनआई कार्य योजना के लाइट-टच विनियमन से उद्यमियों को सार्वजनिक वाईफाई हॉटस्पॉट स्थापित करने और अतिरिक्त राजस्व पैदा करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा


पीएम-डब्ल्यूएएनआई कार्य योजना पर दूरसंचार विभाग द्वारा आज वेबिनार का आयोजन किया गया

Posted On: 24 NOV 2021 3:11PM by PIB Delhi

मुंबई में दूरसंचार विभाग (डीओटी) के उप महानिदेशक (प्रौद्योगिकी) श्री अजय कमल ने कहा कि प्रधानमंत्री वाई-फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस (पीएम-डब्ल्यूएएनआई) ढांचे का लाइट-टच विनियमन उद्यमियों को सार्वजनिक वाईफाई हॉटस्पॉट स्थापित करने और अपने लिए अतिरिक्त राजस्व पैदा करने के लिए प्रोत्साहित करेगा। दूरसंचार विभाग के वरिष्ठ अधिकारी आज इस बारे में आयोजित वेबिनार में बोल रहे थे। अपने उद्घाटन भाषण में, उन्होंने उल्लेख किया कि डिजिटल इंडिया की कलपना को साकार करने के लिए पीएम-डब्ल्यूएएनआई योजना में सस्ती ब्रॉडबैंड सुविधा के प्रसार की अपार संभावनाएं हैं।

दूरसंचार विभाग द्वारा शुरू की गई पीएम-डब्ल्यूएएनआई योजना का उद्देश्य सार्वजनिक डेटा कार्यालय एग्रीगेटर्स (पीडीओ) द्वारा सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क स्थापित करना है ताकि सार्वजनिक डेटा कार्यालयों (पीडीओ) के माध्यम से ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाओं के प्रसार में तेजी लाकर देश में सार्वजनिक वाई-फाई सेवाएं प्रदान की जा सकें। वेबिनार में मुंबई, ठाणे, पालघर, रायगढ़, नासिक, सिंधुदुर्ग और रत्नागिरी जिलों के बीबीएनएल (भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड), सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) के अधिकारियों और इसके 70 वीएलई (ग्राम स्तर के उद्यमियों) ने भाग लिया।

दूरसंचार विभाग, मुंबई एलएसए के निदेशक (प्रौद्योगिकी) श्री संजय सेठी, ने पीएम-डब्ल्यूएएनआई ढांचे के विभिन्न घटकों यानी सेंट्रल रजिस्ट्री, पीडीओ, पीडीओए और ऐप प्रोवाइडर्स के बारे में जानकारी प्रदान की। पीएम-डब्ल्यूएएनआई ढांचे के संबंध में संभावित पीडीओ द्वारा उठाए गए सभी प्रश्नों का डीओटी टीम द्वारा उत्तर दिया गया था।

 

पीएम-डब्ल्यूएएनआई के बारे में

राष्ट्रीय डिजिटल संचार योजना के अनुसार, केंद्र सरकार ने 2022 तक 10 मिलियन वाई-फाई हॉटस्पॉट स्थापित करने का लक्ष्य रखा है और पीएम-डब्ल्यूएएनआई योजना इस योजना को पूरा करने में सहायता करेगी।

इन सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क के माध्यम से ब्रॉडबैंड इंटरनेट सुविधा प्रदान करने के लिए डीओटी के पीडीओ द्वारा किसी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होगी।

पीएम-डब्ल्यूएएनआई के माध्यम से देश में वाई-फाई नेटवर्क के माध्यम से सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क के प्रसार से सार्वजनिक ब्रॉडबैंड सेवाओं के प्रसार में तेजी आएगी और यह स्थानीय उद्यमियों जैसे चायवालों, किराना स्टोर और भोजनालयों को अतिरिक्त राजस्व अर्जित करने में सक्षम बनाएगा।

इच्छुक भावी पीडीओ निम्नलिखित लिंक पर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं: https://pmwani.cdot.in/wani/pdo.

संचार विभाग-डीओटी पीएम-डब्ल्यूएएनआई के कार्यान्वयन और प्रसार में सभी हितधारकों की सहायता करेगा।

****

एमजी/एएम/एमकेएस/डीए



(Release ID: 1774765) Visitor Counter : 281


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Tamil