वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

पहली बार भारत के सुदूरवर्ती जिलों के कृषि निर्यातक संयुक्त राष्ट्र अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात और जापान के अंतरराष्ट्रीय क्रेताओं से जुड़े

डीजीएफटी की ओर से आयोजित वर्चुअल ट्रेड फेयर में पंजाब, हिमाचल प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 197 प्रदर्शकों ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय क्रेताओं से जुड़े 300 आगंतुकों और आयातकों के लिए अपने उत्पादों को प्रदर्शित किया

डीजीएफटी निर्यात केंद्रों के रूप में जिलों के तहत वर्चुअल आउटरीच कार्यक्रम “फ्रॉम इंडिया टू वर्ल्ड” आयोजित करता है

Posted On: 30 JUL 2021 8:11PM by PIB Delhi

निर्यात केंद्रों के रूप में जिले पहल के तहत, वाणिज्य विभाग के विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) और इन्वेस्ट इंडिया के साथ साझेदारी में जिलों के निर्यातकों को भारत के बाहर के क्रेताओं से जोड़ने वाले दो दिवसीय वर्चुअल आउटरीच कार्यक्रम को आयोजित किया। उद्घाटन समारोह के बाद, एक वर्चुअल ट्रेड फेयर आयोजित किया गया, जिसमें पंजाब, हिमाचल प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 197 प्रदर्शकों ने हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम ने भारत के बड़े निर्यातकों के अलावा उन क्षेत्रों के छोटे विक्रेताओं को एक मंच प्रदान किया, जो पहले निर्यात के लिए नहीं जाने जाते थे। प्रदर्शनी में जम्मू-कश्मीर के 28 और लद्दाख के 5 स्टॉल्स को प्रमुखता से प्रदर्शित किया गया।

वर्चुअल आउटरीच कार्यक्रम ने संयुक्त राज्य अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात और जापान सहित घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रेताओं से जुड़े 300 से अधिक आगंतुकों और आयातकों की उपस्थिति देखी। कृषि उत्पादों पर मसाले और चाय, खाद्यान्न और कृषि उत्पाद, फल और सब्जियां, सूखे मेवे, और प्रसंस्कृत खाद्य नाम से पांच श्रेणियों के तहत जोर देते हुए, संयुक्त राज्य अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात और जापान के भारतीय दूतावासों की मदद से क्रेता-विक्रेता चर्चा के तीन सत्रों का आयोजन किया गया। कुछ प्रमुख सुपरमार्केट जैसे स्पिनी, वॉलमार्ट और लुलु ने भी चर्चा वाले सत्रों में भाग लिया और भारत के कृषि उत्पादों में गहरी रुचि दिखाई।

इस कार्यक्रम को निर्यात केंद्रों के रूप में जिले पहल के तहत भारत के निर्यात को बढ़ाने और भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की एक श्रृंखला की शुरुआत के रूप में चिन्हित किया गया।

****

एमजी/एएम/आरकेएस



(Release ID: 1740980) Visitor Counter : 209


Read this release in: English , Urdu , Punjabi