कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने 2020-21 के लिए प्रमुख फसलों का तीसरा अग्रिम अनुमान जारी किया

खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 30.544 करोड़ टन रहने का अनुमान है; जो 2019-20 की तुलना में 79.4 लाख टन ज्यादा है

किसानों के अथक प्रयासों, कृषि वैज्ञानिकों के योगदान और सरकार की नीतियों का परिणाम हैं ये सकारात्मक नतीजे : श्री तोमर

Posted On: 25 MAY 2021 7:12PM by PIB Delhi

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने 2020-21 के लिए प्रमुख कृषि फसलों के उत्पादन का तीसरा अग्रिम अनुमान जारी किया है। कुल खाद्यान्न उत्पादन 30.544 करोड़ टन रहने का अनुमान है। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, हमारे किसान भाइयों और बहनों के अथक प्रयासों, कृषि वैज्ञानिकों के योगदान, भारत सरकार की नीतियों और राज्य सरकारों से मिले बेहतर सहयोग और समन्वय के चलते यह सकारात्मक स्थिति बनी है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का जोर कृषि क्षेत्र के विकास पर है।

विभिन्न फसलों के उत्पादन का आकलन राज्यों से मिले आंकड़ों पर आधारित है और अन्य स्रोतों से उपलब्ध जानकारी से इसका सत्यापन किया गया है। 2005-06 से अभी तक का प्रमुख फसलों के उत्पादन का तुलनात्मक अनुमान साथ में संलग्न है।

तीसरे अग्रिम अनुमान के तहत, 2020-21 के दौरान प्रमुख फसलों का अनुमानित उत्पादन इस प्रकार है :

 

  • खाद्यान्न – 30.544 करोड़ टन। (रिकॉर्ड)
    • चावल – 12.146 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
    • गेहूं – 10.875 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
    • पोषक तत्व/ मोटे अनाज – 4.966 करोड़ टन।
    • मक्का – 3.024 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
    • दालें – 2.558 करोड़ टन।
    • तुअर0.414 करोड़ टन।
    • चना – 1.261 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
  • तिलहन – 3.657 करोड़ टन।
        • मूंगफली – 1.012 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
        • सोयाबीन – 1.341 करोड़ टन।
        • रेपसीड और सरसों – 0.999 करोड़ टन।(रिकॉर्ड)
  • गन्ना – 39.280 करोड़ टन।
  • कपास – 3.649 करोड़ गांठें (प्रत्येक 170 किग्रा)
  • जूट और मेस्टा 0.962 करोड़ गांठें (प्रत्येक 180 किग्रा)

2020-21 के लिए तीसरे अग्रिम अनुमान के तहत, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 30.544 करोड़ टन रहने का अनुमान है, जो 2019-20 के दौरान हुए कुल 29.75 करोड़ टन खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 79.4 लाख टन ज्यादा है। इसके अलावा 2020-21 के दौरान उत्पादन पिछले पांच वर्षों (2015-16 से 2019-20) के औसत खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 2.666 करोड़ टन ज्यादा है।

वर्ष 2020-21 के दौरान चावल का कुल उत्‍पादन रिकॉर्ड 12.146 करोड़ टन रहने का अनुमान है। यह विगत 5 वर्षों के 11.244 करोड़ टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 90.1 लाख टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान गेहूं का कुल उत्‍पादन रिकॉर्ड 10.875 करोड़ टन अनुमानित है। यह विगत पांच वर्षों के 10.042 करोड़ टन औसत गेहूं उत्‍पादन की तुलना में 83.2 लाख टन अधिक है।

पोषक/मोटे अनाजों का उत्‍पादन 4.966 करोड़ टन अनुमानित है, जो वर्ष 2019-20 के दौरान हुए 4.775 करोड़ टन उत्‍पादन की तुलना में 19.1 लाख टन अधिक है। इसके अलावा, यह औसत उत्‍पादन की तुलना में भी 56.8 लाख टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान कुल दलहन उत्‍पादन 2.558 करोड़ टन अनुमानित है जो विगत पांच वर्षों के 2.193करोड़ टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 36.4 लाख टन अधिक है।

2020-21 के दौरान कुल तिलहन उत्‍पादन रिकॉर्ड 3.657 करोड़ टन अनुमानित है जो 2019-20 के दौरान 3.322 करोड़ टन उत्‍पादन की तुलना में 33.5 लाख टन अधिक है। इसके अलावा, 2020-21 के दौरान तिलहनों का उत्‍पादन औसत तिलहन उत्‍पादन की तुलना में 60.2 लाख टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान देश में गन्‍ने का उत्‍पादन 39.280 करोड़ टन अनुमानित है।वर्ष 2020-21 के दौरान गन्‍ने का उत्‍पादन औसत गन्‍ना उत्‍पादन 36.207 करोड़ टन की तुलना में 3.073 करोड़ टन अधिक है।

कपास का उत्‍पादन 3.649 करोड़ गांठें (प्रति 170 किग्रा की गांठें) अनुमानित हैं, जो औसत कपास उत्‍पादन की तुलना में 45.9लाख गांठें अधिक है। जूट एवं मेस्‍ता का उत्‍पादन 96.2 लाख गांठें (प्रति 180 किग्रा की गांठें) अनुमानित हैं।

 

2020-21 के लिए खाद्यान्न उत्पादन के तीसरे अग्रिम अनुमान के लिए यहां क्लिक करें

 

******

एमजी/एएम/एमपी/डीए



(Release ID: 1721748) Visitor Counter : 546


Read this release in: Telugu , Tamil , English , Urdu