पर्यटन मंत्रालय

श्रीनगर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हाल में आयोजित जबरदस्‍त कार्यक्रम “कश्‍मीर की संभावनाओं का दोहन: स्‍वर्ग में एक और दिन” में बड़े पैमाने पर जम्‍मू और कश्‍मीर में पर्यटन की संभावना को उजागर किया गया

इस कार्यक्रम में हितधारकों द्वारा घरेलू पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए जम्मू और कश्मीर के सर्वश्रेष्ठ पर्यटन उत्पादों को प्रदर्शित करने की रणनीतियों पर विचार किया गया

Posted On: 18 APR 2021 12:12PM by PIB Delhi

जम्मू और कश्मीर की विभिन्न पर्यटन संभावनाओं को बढ़ावा देने और संघ शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में यात्रा, पर्यटन और आतिथ्य में विभिन्न अवसरों का लाभ उठाने के लिए पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार और जम्मू और कश्मीर सरकार के पर्यटन विभाग ने, फिक्‍की (नॉलेज पार्टनर) और आईजीटीएके सहयोग से, हाल ही में  'कश्‍मीर में पर्यटन की संभावनाओं का उपयोग: स्‍वर्ग में एक और दिन' का श्रीनगर में एक अनोखा नेटवर्किंग प्लेटफ़ॉर्म आयोजित किया। संघ शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल, श्री मनोज सिन्हा और केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने इसका उद्घाटन किया और इस समारोह में प्रतिनिधियों को वर्चुअली संबोधित किया। इस आयोजन का उद्देश्य संघ शासित जम्मू और कश्मीर के असंख्य पर्यटन उत्पादों का प्रदर्शन करना और छुट्टियां बिताने, साहसिक, इको, विवाह, फिल्मों और एमआईसीईपर्यटन के लिए गंतव्य के रूप में जम्मू और कश्मीर के पर्यटन को बढ़ावा देना है। पर्यटन सचिव श्री अरविंद सिंह; जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के सलाहकारश्री बशीर खान; जम्मू और कश्मीर सरकार में पर्यटन सचिव, श्री सरमद हाफ़िज़; पर्यटन मंत्रालय में अपर महानिदेशकश्रीमती रूपिंदर बराड़ और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उद्घाटन सत्र में उपस्थित थे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001YTTC.jpg

इस आयोजन में यात्रा, पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र, प्रमुख उद्योग हितधारकों और कश्मीर और भारत के विभिन्न हिस्सों के नीति निर्माताओं ने हिस्‍सा लिया।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002PBGA.jpg

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/33ODNK.jpg

जम्मू और कश्मीर के यात्रा, पर्यटन और आतिथ्य उद्योग के प्रमुख उद्योग हितधारकों और श्रीनगर आए शेष भारत के प्रतिनिधियों के बीच एक बी 2 बी बैठकों का एक विशेष कार्यक्रम भी आयोजित किया गया था। इस बैठक में स्थानीय टूर ऑपरेटर, होटल व्यवसायी, हाउसबोट मालिक, परिवहन कंपनियां और कश्मीर के विक्रेताओं के रुप में, पर्यटन और आतिथ्य के अन्य प्रमुख हितधारक शामिल हुए। खरीदारों में भारत के विभिन्न हिस्सों के शीर्ष टूर ऑपरेटर, डीएमसी, फिल्मी हस्तियां, इको पर्यटन विशेषज्ञ शामिल थे।

उद्घाटन सत्र के दौरान वर्चुअल सभा को संबोधित करते हुए श्री मनोज सिन्हा ने उल्लेख किया कि फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने और इस क्षेत्र को एक हॉट स्पॉट फिल्म शूटिंग गंतव्य के रूप में बढ़ावा देने के लिए संघ शासित जम्मू-कश्मीर प्रदेश फिल्म शूटिंग पर नई नीति के साथ सामने आएगा।

उद्घाटन सत्र के दौरान एकत्र लोगों को संबोधित करते हुए श्री मनोज सिन्हा ने उल्लेख किया कि फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने और इस क्षेत्र को एक हॉट स्पॉट फिल्म शूटिंग गंतव्य के रूप में बढ़ावा देने के लिए फिल्म शूटिंग पर नई नीति के साथ जम्मू-कश्मीर का संघ शासित प्रदेश सामने आएगा।

पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने उल्लेख किया कि अनुच्छेद 370 को हटाने और उसके बाद विकास कार्यों के होने से इस क्षेत्र में पर्यटकों की आमद में काफी वृद्धि हुई है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004BKEF.jpg

इस अवसर पर जम्मू और कश्मीर केउपराज्यपालके सलाहकार बशीर खान ने उल्लेख किया कि यह देखना उत्साहजनक है कि लॉकडाउन के बाद संघ शासित जम्मू और कश्मीर में पर्यटकोंकी संख्‍या में काफी वृद्धि हुई है और आने वाले 3-4 महीनों में गर्मियों के मौसम के दौरान अधिक पर्यटकों के यहां आने की उम्मीद है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सरकार नए गंतव्यों की एक लंबी सूची बना रही है, जिन्हें अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए प्रदर्शित किया जा सकता है।

भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय के सचिव, श्री अरविंद सिंह ने कहा कि वे जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर पर्यटन शुरू करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं, इस दिशा में सर्दियों से प्रयास शुरू किया जा चुका है और विशेष रूप से घरेलू पर्यटकों के लिए ग्रीष्मकाल में प्रक्रिया जारी रहेगी।

जम्मू और कश्मीर सरकार में पर्यटन सचिव श्री सरमद हफीज ने इस अवसर पर क्षेत्र के कुछ ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों और उनके महत्व पर प्रकाश डाला।

पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार में अपर महानिदेशकश्रीमती रूपिंदर बराड़ ने उल्लेख किया कि घरेलू पर्यटन का उदय पुनरुद्धार का संकेत है और सम्मेलन घरेलू पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए जम्मू और कश्मीर के सर्वश्रेष्ठ पर्यटन उत्पादों का प्रदर्शन करने की रणनीतियों पर विचार-विमर्श करेगा।

जम्मू-कश्मीर सरकार में पर्यटन निदेशकडॉ. जी.एन. इटू ने पहले जम्मू और कश्मीर के विभिन्नपर्यटन स्थलों को दर्शाने के बारे में एक प्रस्तुति दी।

 

पूर्ण सत्र के दौरान "कश्मीर को एक पसंदीदा पर्यटक स्थल के रूप में अगले स्तर तक ले जाने" के बारे मेंविशेषज्ञों ने विभिन्न रणनीतियों की चर्चा की कि कैसे एक महामारी बाद क्षेत्र में पर्यटकों का दौरा बढ़ाया जा सकता है। अन्य सत्र में "कश्मीर को और अधिक प्रभावशाली बनाने" पर पैनल ने कश्मीर में विवाह, एमआईसीईऔर फिल्म टूरिज्म क्षमता को छुआ। एक अन्य सत्र में, "कश्मीर के विविध पर्यटन उत्पादों को प्रदर्शित करने" पर विशेषज्ञों ने संस्कृति, विरासत, फिल्म, छुट्टियां बिताने और गोल्फ पर्यटन सहित कश्मीर की विभिन्न आला पर्यटन संभावनाओं पर चर्चा की। सत्र में "वाज़वान, ज़ाफ़रान, और शिकारा – और बहुत कुछ ..." विशेषज्ञों ने कहा कि किसी भी विदेशी पर्यटक के लिए कश्मीर का "प्रतिबंधित क्षेत्र" के रूप में उल्लेख नहीं किया जाना चाहिए। कश्मीर में पर्यटन को विकसित करने के लिए वैश्विक विशेषज्ञों से सलाह ली जा सकती है। कश्मीर के समान अंतर्राष्ट्रीय स्थलों जैसे स्विट्जरलैंड आदि को कश्मीर में पर्यटन की बेहतरी के लिए एक मामले के अध्ययन के रूप में देखा जाना चाहिए। कश्मीर को पाक पर्यटन स्थल के रूप में बढ़ावा देने के लिए, भोजन और व्यंजनों से संबंधित लोगो, वीडियो, चित्र आदि जैसी अलग-अलग दृश्य रणनीतियों पर विचार किया जाना चाहिए।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image006ZMRP.jpg   https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image007LITK.jpg

कश्मीर के गैस्ट्रोनॉमिकल हेरिटेज को बढ़ावा देने के लिए, भारत सरकार ने मास्टर शेफ इंडिया विजेता और सेलिब्रिटी शेफ पंकज भदौरिया और शेफ रणवीर बराड़ के साथ लाइव कुकिंग क्लासेस का आयोजन किया। दोनों शेफ ने श्रीनगर के स्थानीय बाजार का दौरा किया और सामग्री खरीदी और  श्रीनगर के इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट (आईएचएम)  के छात्रों को कश्मीरी व्यंजनों में अपने खाना पकाने के कौशल का प्रदर्शन किया। सत्र का उद्देश्य कश्मीर के स्थानीय पाक और व्यंजनों को भारत और दुनिया के बाकी हिस्सों में बढ़ावा देना था।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image008KOG5.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0099S8S.jpg

सम्मेलन स्थल पर विभिन्न कश्मीरी वस्त्र, कढ़ाई और भोजन की प्रदर्शनी आयोजित की गई। इसके साथ ही प्रतिनिधियों के लिए डल झील में शिकारा और नाव की सवारी थी, जिसके बाद डल झील में एक सुंदर लेजर शो के साथ संगीतमय फव्वारा था। डल झील में लेजर शो परियोजना, एसकेआईसीसी अब स्थायी है, जो पर्यटन मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है।

 https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image010N2MP.jpg

कश्मीर का ट्यूलिप उद्यान एक अद्वितीय पर्यटन स्थल है, जिसमें कई बॉलीवुड फिल्मों को प्रदर्शित किया गया है, जिसमें दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करने की क्षमता है। यह एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन है जो लगभग 30 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला है। यह डल झील के अवलोकन के साथ ज़बरवान रेंज की तलहटी में स्थित है। उद्यान को 2007 में कश्मीर घाटी में फूलों की खेती और पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से खोला गया था। ट्यूलिप गार्डन की यात्रा का सबसे अच्छा समय मार्च के अंत और अप्रैल की शुरुआत के बीच है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image011EXL3.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image012YIXU.jpg

 

कश्मीर को अंतर्राष्ट्रीय गोल्फ पर्यटन स्थल के रूप में बढ़ावा देने और कश्मीर में विश्व स्तर के गोल्फ इन्फ्रास्ट्रक्चर का प्रदर्शन करने के लिए, भारत के विभिन्न हिस्सों से गोल्फरों के प्रतिनिधिमंडल और श्रीनगर के स्थानीय गोल्फरों द्वारारॉयल स्प्रिंग गोल्फ कोर्स में गोल्फ स्पर्धा का आयोजन किया जाता है और इसके बाद एक पुरस्कार समारोह होता है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image013ADRU.jpg

कश्मीर में भारत के शीर्ष और विश्व के प्रमुख गोल्फ पर्यटन स्थलों में से एक बनने की क्षमता है। जम्मू और कश्मीर गर्मियों के दौरान (अप्रैल से नवंबर तक) गोल्फ खिलाड़ियों के लिए उत्कृष्ट अवसर प्रदान करता है। जम्मू और कश्मीर में गोल्फ हमेशा एक सुखद और पर्यटकों के बीच मुख्य आकर्षण में से एक है।

वियतनाम के राजदूत एच.ई. फाम सनाह चाऊ जो दुनिया के विभिन्न हिस्सों की यात्रा कर चुके हैं, उन्होंने कश्मीर की विभिन्न प्राकृतिक सुंदरता की तुलना दुनिया के विभिन्न प्राकृतिक सौंदर्यों कनाडा, स्विटजरलैंड, यूरोप के अन्य हिस्सों, वियतनाम और कई अन्य से की है। उनके अनुसार, कश्मीर में ही पूरी दुनिया की खूबसूरती देखने को मिल सकती है।

केन्या के उच्चायुक्त महामहिम विली किपकोरिर बेट और उनकी पत्‍नी महामहिम आस्था जेमवताई बेट, दोनों श्रीनगर के रॉयल स्प्रिंग्स गोल्फ कोर्स से पूरी तरह से अभिभूत थे और इसका उल्लेख एक विश्व स्तरीय गोल्फ गंतव्य के रूप में किया। महामहिम बेट्ट ने यह भी उल्लेख किया कि वह कश्मीरी व्यंजनों की बहुत बड़ी प्रशंसक बन गई हैं। उन्होंने विशेष रूप से उल्लेख किया है कि वह घर पर कुछ व्यंजनों की कोशिश करेगी।

जॉर्जिया के राजदूत एच.ई. आर्चिल गुलमर्ग की सुंदरता से अभिभूत थे और उन्होंने गुलमर्ग की यात्रा के दौरान स्कीइंग का आनंद लिया। उन्होंने कहा कि गुलमर्ग में ढलान स्कीइंग के लिए आदर्श हैं और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्‍कीइंग स्‍थलों में से एक है।

*******

एमजी /एएम /केपी

 



(Release ID: 1712558) Visitor Counter : 65


Read this release in: English , Urdu , Bengali , Punjabi