ग्रामीण विकास मंत्रालय

सामाजिक कार्यसमिति के सदस्य सर्वश्रेष्ठ प्रक्रियाएं साझा कर कर रहे हैं

Posted On: 13 APR 2021 7:13PM by PIB Delhi

`भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में हो रहा आजादी का अमृत महोत्सव 75 सप्ताह तक चलने वाला समारोह है, जिसका शुभारम्भ प्रधानमंत्री ने 12 मार्च, 2021 को किया था। इस महोत्सव के भाग के रूप में, ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा लागू किए जा रही दीनदयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई- एनआरएलएम) के तहत सभी राज्यों ने 22 से 28 मार्च, 2021 तक डीएवाई- एनआरएलएम के अंतर्गत ग्रामीण संगठनों और क्लस्टर स्तर के संगठनों के सामाजिक कार्यसमिति सदस्यों द्वारा जेंडर संबंधी हस्तक्षेपों के कार्यान्वयन में सर्वश्रेष्ठ प्रक्रियाओं और अनुभवों को साझा करने के लिए वर्चुअल सत्रों का आयोजन किया है। ग्रामीण महिलाओं ने कई प्रेरक अनुभव साझा किए, जहां उन्होंने अपने सामुदायिक संस्थानों के समर्थन से महिलाओं को लिंग संबंधी मुद्दों से उबरने और उनके अधिकारों व लाभों तक पहुंच में सहायता की थी। उन्होंने लिंग संबंधी समस्याओं का सामना करने वाले पीड़ितों की सहायता के लिए लागू संस्थागत व्यवस्था के बारे में भी बात की।

30 राज्यों/ संघ शासित क्षेत्रों ने वर्चुअल सत्रों का आयोजन किया और सभी राज्यों में हुए इस कार्यक्रम में कुल 86,539 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था। ग्राम और क्लस्टर स्तर की सामाजिक कार्यसमिति (एसएसी) सदस्यों के अलावा, सामुदायिक संसाधन व्यक्ति, राज्य, जिला और खंड विकास मिशन प्रबंधन इकाइयों के कर्मचारियों ने भी इसमें हिस्सा लिया। वर्चुअल सत्रों के दौरान विभिन्न राज्यों में निम्नलिखित व्यापक मुद्दों पर विचार विमर्श हुआ :

 

  1. वयस्क महिला साक्षरता पहल
  2. कम उम्र में विवाह पर रोकथाम
  3. अधिकारों और लाभों तक पहुंच
    • स्वच्छ भारत मिशन, कन्या सुमंगला योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति और प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा बीमा योजना जैसी सरकारी योजनाओं का संमिलन
  4. दहेज हत्या के शिकारों के परिवार को न्याय के लिए लिंग आधारित हिंसा- अभियान
  5. शराब रोधी कदम
  6. स्कूलों में बच्चों विशेषकर बालिकाओं को रोकना
  7. महिलाओं का स्वास्थ्य और सुरक्षा
  8. लड़कियों और लड़कों के लिए स्कूलों में अलग-अलग शौचालय
  9. मध्याह्न भोजन योजना की निगरानी
  10. कार्यस्थल पर लड़कियों के यौन उत्पीड़न और घरेलू हिंसा के मामले
  11. संस्थागत प्रसव में खामियां
  12. वेतन असमानता और मादक द्रव्यों का सेवन
  13. परिवार नियोजन पर जागरूकता बढ़ाना
  14. जरूरतमंद परिवारों को वित्तीय समर्थन
  15. कोविड-19 प्रतिक्रिया
  16. जीवन कौशलों पर किशोरों को सक्रिय और शिक्षित करना,
  17. मुश्किलों से जूझ रही महिलाओं को आजीविका उपलब्ध कराना
  18. बलात्कार के शिकार बच्चों की सहायता करना
  19. महिला आजीविका प्रोत्साहन
  20. महिला कानूनों के प्रति जागरूकता
  21. कन्या भ्रूण हत्या जैसे संवेदनशील मुद्दों के लिए जागरूकता गतिविधियां

********

एमजी/एएम/एमपी



(Release ID: 1711787) Visitor Counter : 294


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Punjabi