आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय

नवजात, छोटे बच्चे तथा उनकी देखभाल करने वाले लोगों के अनुकूल पड़ोस प्रशिक्षण तथा क्षमता सृजन कार्यक्रम लॉन्च किया गया

शहर के अधिकारियों तथा युवा पेशेवर लोगों को प्रमाणित प्रशिक्षण तथा क्षमता सृजन मॉड्यूल के माध्यम से कौशल संपन्न बनाया जाएगा

Posted On: 13 APR 2021 4:54PM by PIB Delhi

राष्ट्रीय शहरी कार्य संस्थान (एनआईयूए) ने बर्नाड वैन लीयर फाउंडेशन (बीवीएलएफ) की साझेदारी में आज वर्चुअल रूप से इन्फेंट टोडलर एंड केयरगिवर फ्रेंडली नेवरहुड(नवजात, छोटे बच्चे और उनकी देखभाल करने वालों के लिए अनुकूल पड़ोस (आईटीसीएन)) प्रशिक्षण तथा क्षमता सृजन कार्यक्रम लॉन्च किया।यह कार्यक्रम भारत के शहरों में बच्चों तथा परिवार अनुकूल पड़ोस विकसित करने के लिए शहर के अधिकारियों तथा युवा पेशेवर लोगों के क्षमता सृजन में सहायता के लिए बनाया गया है। कार्यक्रम को आवासन तथा शहरी कार्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव तथा मिशन निदेशक (स्मार्ट सिटी) श्री कुणाल कुमार ने लॉन्च किया। इस अवसर पर एनआईयूए के निदेशक श्री हितेश वैद्य, बीवीएलएफ की भारत प्रतिनिधि सुश्री रूश्दा माजिद, राष्ट्रीय प्रोग्राम प्रमुख-सेंटर फॉर डिजिटल गवर्नेंस, एनआईयूए सुश्री काकुल मिश्रा, एनआईयूएल के बिल्डिंग एक्सेसेबल सेफ एंड इनक्लूसिव इंडियन सिटीज के टीम लीडर श्री उत्सव चौधरी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में भाग लेने वालों में स्मार्ट सिटी के सीईओ, पालिका आयुक्त तथा युवा पेशेवर शामिल हैं।

श्री कुणाल कुमार ने कहा कि बच्चों के लिए डिजाइन किया गया नगर, सबके लिए है। उन्होंने कहा कि डेटा स्मार्ट नवजात छोटे बच्चों की देखभाल करने वालों के अनुकूल पड़ोस सुनिश्चित करने के लिए क्षमता सृजन भविष्य की उत्पादक अर्थव्यवस्था में निवेश है।

यह कार्यक्रम एनआईयूए तथा बीवीएलएफ के बीच दीर्घकालिक सहयोग की निरंतरता है ताकि प्रयासों को बढ़ाया जा सके और नगर स्तर के कार्यक्रमों में पड़ोस स्तर की आईटीसी जरूरतों को शामिल किया जा सके। कार्यक्रम के अंतर्गत नगर के अधिकारियों तथा युवा पेशेवर लोगों को प्रमाणित प्रशिक्षण तथा क्षमता सृजन मॉड्यूल के माध्यम से कौशल संपन्न बनाया जाएगा। यह प्रशिक्षण सुगठित प्रशिक्षण मॉड्यूल के माध्यम से देने का प्रस्ताव है। आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय तथा एनआईयूए द्वारा ज्ञान प्रसार के लिए विकसित प्लेटफॉर्म नेशनल अर्बन लर्निंग प्लेटफॉर्म (एनयूएलपी) के माध्यम से ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। कार्यक्रम जुड़वांउद्देश्यों के साथ बनाया गया है। पहला उद्देश्य हैं- पड़ोस तथा नगर स्तर पर जारी या प्रस्तावित शहरी विकास पहलों के अंतर्गत एनआईयूए तथा बीवीएलएफ द्वारा विकसित ज्ञान को शामिल करना और दूसरा उद्देश्य बच्चों तथा उनकी देखभाल करने वाले लोगों की दैनिक जरूरतों को ध्यान में रखने वाले विभिन्न कदमों में सहयोग देना है। इसके अतिरिक्त युवा पेशेवर लोगों के लिए एक अकादमिक प्रमाणित पाठ्यक्रम की योजना बनाई गई है ताकि नगर में युवा नागरिकों (0-5 वर्ष) की आवश्यकताओं के बारे में उन्हें संवेदनशील बनाया जा सके और इसके लिए पर्याप्त साधनों से लैस किया जा सके।

राष्ट्रीय शहरी कार्य संस्थान के निदेशक श्री हितेष वैद्य ने कहा कि जब हम एक बच्चे की दृष्टि से नगर की योजना बनाते हैं तब हम न केवल वर्तमान में निवेश करते हैं बल्कि विकास के फल का आनंद लेने वाली अगली पीढ़ियों के लिए भी निवेश करते हैं।

बर्नाड वैन लीयर फाउंडेशन की भारत प्रतिनिधि सुश्री रूश्दा माजिद ने कहा कि एनआईयूए की साझेदारी के साथ फाउंडेशन का उद्देश्य नगर के अधिकारियों और युवा शहरी नियोजकों को सही प्रशिक्षण, उपाय तथा संसाधन प्रदान करना है ताकि उनके नगर और अधिक समावेशी तथा बच्चों और उनके परिवारों के लिए अनुकूल बन सकें।

एनआईयूए के बारे में

राष्ट्रीय शहरी कार्य संस्थान (एनआईयूए) 1976 में शहरी क्षेत्र के लिए अनुसंधान और क्षमता सृजन के लिए किया गया था। यह भारत सरकार के आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय का प्रमुख संस्थान है। यह संस्थान शहरी भारत के लिए प्रमुख क्षेत्रों को आगे लाने में सक्रिय है ताकि विभिन्न शहरी मानकों पर शहरी विमर्श हो सके। संस्थान ने अपने प्रयासों को सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने की दिशा से जोड़ा है। संस्थान ने अनुसंधान, ज्ञान प्रबंधन, नीति समर्थन तथा क्षमता सृजन में अपनी योग्यता का उपयोग किया ताकि शहरी चुनौतियों का समाधान किया जा सके। संस्थान निरंतर रूप से देश में सतत, समावेशी और उत्पादक शहरी इकोसिस्टम विकसित करने का प्रयास कर रहा है। यह भारत में शहरी विकास के लिए ज्ञान केन्द्र के रूप में उभरा है और भारत के शहरी परिवर्तन की यात्रा में सहयोग देने वाले भारतीय तथा अंतरराष्ट्रीय संगठनों का चहेता बन गया है।

https://www.niua.org/

एनयूएलपी के बारे में

नेशनल अर्बन लर्निंग प्लेफॉर्म (एनयूएलपी) की परिकल्पना शहरी हितधारकों के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान को डिजिटल रूप से मजबूत बनाने का साधन है। यह प्लेटफॉर्म कौशल और ज्ञान को सभी को उपलब्ध करा रहा है। एनयूएलपी कन्टेंट क्रिएशन, कन्टेंट ऑर्गनाइजेश तथा प्रबंधन, कोर्स बिल्डिंग, कोर्समैनेजमेंट, मूल्यांकन तथा प्रमाणीकरण का सक्षम बनाने के उपायों को शामिल करेगा।

https://nulp.nuis.in/

 

***

एमजी/एएम/एजी/ओपी/एसके

 



(Release ID: 1711550) Visitor Counter : 75


Read this release in: Punjabi , English , Urdu , Kannada