कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय

चमड़ा क्षेत्र कौशल परिषद ने कौशल भारत मिशन के तहत उन्नत गुणवत्ता आश्वासन के लिए स्केल इंडिया एंड्रॉयड ऐप का शुभारंभ किया

Posted On: 15 OCT 2020 6:39PM by PIB Delhi

अपनी सभी सेवाओं में गुणवत्ता को एकीकृत करने के लिए एकल मंच प्रदान करने के प्रयास में, चमड़ा क्षेत्र कौशल परिषद (एलएसएससी) ने आज चमड़ा कर्मचारियों के लिए कौशल प्रमाणन आकलन (स्केल) इंडिया एंड्रॉयड ऐप के शुभारंभ की घोषणा की। कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय (एमएसडीई) के तत्वावधान में संचालित, एलएसएससी प्रशिक्षण, निगरानी, आकलन, सत्यापन तथा असीम पोर्टल से जुड़ने को लेकर गुणवत्ता आश्वासन संबंधी अपनी डिजिटल क्षमताओं को मजूबत करने के लिए प्रतिबद्ध है। आकलन का पर्याय, गुणवत्ता आश्वासन का आधार और एलएसएससी के मुख्य कार्यों में से एक, इस अनूठी पहल का उद्देश्य चमड़ा और चमड़ा उत्पाद उद्योग के कौशल, सीखने, आकलन और रोजगार की जरूरतों के लिए एक-ही-जगह पर समाधान उपलब्ध कराना है।

केंद्रीय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पांडे ने एक वर्चुअल कार्यक्रम में इस एंड्रॉयड ऐप की शुरुआत की, इस कार्यक्रम में एलएसएससी के अध्यक्ष श्री पी. आर. अकील अहमद और सीईओ श्री राजेश रत्नम ने भी भाग लिया। यह मंच कुशलता और रोजगार के पारिस्थितिकी तंत्र के जरिए सभी हितधारकों- उम्मीदवार/प्रशिक्षु, नियोक्ता, कर्मचारी, आकलनकर्ता और प्रशिक्षक- की आवश्यकताओं को एक ही स्थान पर पूरा करता है। वेब और एंड्रॉयड एप्लिकेशन के माध्यम से सेवाएं सुलभ हैं जो वस्तुतः किसी भी स्मार्ट हैंडहेल्ड डिवाइस, डेस्कटॉप/लैपटॉप, स्मार्टफोन, टैबलेट या फैबलेट पर काम करती है। प्रशिक्षण, आकलन और प्रमाणन सेवाओं के दौरान हर स्तर पर गुणवत्ता प्रदान करने के अलावा, यह ऐप नियोक्ताओं को अन्य हितधारकों के साथ जुड़ने में मदद करेगा और चमड़ा उद्योग के लिए मानव पूंजी हेतु बाज़ार प्रदान करेगा।

डॉ. महेंद्रनाथ पांडे ने इस पहल पर टिप्पणी करते हुए कहा, “एलएसएससी द्वारा स्केल इंडिया प्लेटफ़ॉर्म की शुरुआत से चमड़ा उद्योग के लिए कुशल पारिस्थितिकी तंत्र को मज़बूत करने के हमारे अथक प्रयासों को बढ़ावा मिलेगा और हमारे माननीय प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत’ 'दुनिया की कौशल राजधानी बनाने के सपने को पूरा करने में मदद मिलेगी। मांग-आधारित और भविष्य-प्रासंगिक कुशलता कार्यक्रमों को चलाने के लिए कुशल और इंटेलिजेंस टूल्स को लाने हेतु प्रौद्योगिकी का लाभ उठाकर, यह प्लेटफ़ॉर्म एक निश्चित बिंदु इंटरफ़ेस के रूप में विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों में निर्बाध सामंजस्य और समन्वय सुनिश्चित करेगा। यह एक मंच के माध्यम से मांग को पूरा करने और आपूर्ति को जोड़कर सभी हितधारकों को गुणवत्ता-युक्त सेवाएं प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।"

स्केल एक विशिष्ट योग्यता सूचकांक पर ज्ञान, कौशल और व्यवहार का आकलन करने और प्रमाणित करने के लिए स्किलिंग पद्धति के जरिए उम्मीदवारों की मदद करेगा। यह कौशल अंतराल को पहचानने के लिए माइक्रो-लर्निंग मॉड्यूल तक पहुंच को भी सक्षम बनाता है जो विशिष्ट योग्यता पर सीखने के साथ फिर से आकलन और प्रमाणिकता प्रदान करेगा। यह आगे चलकर उम्मीदवार को एक उत्पादक संसाधन बनने के लिए प्रेरित करता है जो पहले से उद्योग जगत में कार्यरत हैं। उम्मीदवार रोजगार के अवसरों की तलाश कर सकते हैं और अपने प्रमाणीकरण के पूरा होने के बाद सीधे नियोक्ताओं के साथ जुड़ सकते हैं। वर्तमान में आकलन अंग्रेजी, हिंदी, तमिल और बंगाली में उपलब्ध हैं, जिसमें चरणबद्ध तरीके से और अधिक क्षेत्रीय भाषाओं को जोड़ने की योजना है।

एक नियोक्ता के दृष्टिकोण से, यह प्लेटफ़ॉर्म एक नौकरी पोर्टल के रूप में कार्य करेगा, जो उम्मीदवारों की एक प्रमाणित प्रतिभा पूल तक पहुंच बना सकता है, जिससे उत्पादकता और लाभप्रदता दोनों में वृद्धि होगी। नियोक्ता को अपने कौशल अंतर की आवश्यकताओं को साझा करने और अपने कार्यबल के कौशल अंतर को कम करने के लिए उपलब्ध उपयुक्त प्रशिक्षण मॉड्यूल की जांच करने और अल्पावधि/अनुकूलित प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षण अनुरोध बढ़ाने के लिए भी अवसर मिलता है जो एलएसएससी द्वारा प्रदान किया जाएगा। रोजगार मांग एकत्रीकरण स्केल प्लेटफॉर्म के साथ असीम पोर्टल के एकीकरण के माध्यम से कार्य करता है। नियोक्ताओं के लिए एनएपीएस पर आधारित प्रशिक्षण संसाधनों और प्रशिक्षुता कार्यान्वयन के लिए अनुरोध की सुविधा भी प्रदान की गई है। इसके अलावा, नियोक्ता प्रतिष्ठानों में आरपीएल को लागू करने के अनुरोध को स्केल प्लेटफॉर्म के माध्यम से भी कार्यान्वित कर सकते हैं।

चमड़ा और चमड़ा उत्पाद उद्योग के कर्मचारी ई-लर्निंग सामग्री को उन्नत बनाने हेतु खोजने और प्रमाणित जानकारी प्राप्त करने के लिए खुद को पंजीकृत कर सकते हैं, जिससे उत्पादकता में सुधार, बेहतर प्रदर्शन और करियर को गति मिल सकती है। स्केल प्लेटफ़ॉर्म कर्मचारियों को बाज़ार की गतिशीलता को बदलने और उद्योग की मांगों को विकसित करने के लिए अपने कौशल के आधार पर उन्नयन का आश्वासन देता है और प्राप्त किए गए नए कौशल को प्रमाणित करने के लिए एक प्रमाण-पत्र प्रदान करता है, जो उनके पाठ्यक्रम के महत्वपूर्ण घटक के रूप में कार्य करता है। आकलनकर्ताओं के लिए, प्लेटफॉर्म निर्धारित तारीखों पर प्रशिक्षण पाने वालों की योग्यता का आकलन करने की केंद्रीकृत पहुंच प्रदान करता है क्योंकि परिणाम आकलनकर्ता को तुरंत उपलब्ध होते हैं और आकलनकर्ता और वास्तविक समय पर उम्मीदवारों के डेटा का आकलन करने और प्रमाणित करने वाले निकाय के रूप में एलएसएसी उपलब्ध होता है।

यह मंच (प्लेटफॉर्म) भी प्रशिक्षकों को निर्धारित समय पर बैचों के लिए मानकीकृत प्रशिक्षण के प्रभावी वितरण हेतु आवश्यक सभी शिक्षण और प्रशिक्षण संसाधनों तक पूरी पहुंच प्राप्त करने में मदद करेगा। कार्य प्रशिक्षण अभ्यास और गतिविधियों पर प्रस्तुतियों, वीडियो क्लिप, क्विज, कक्षा की गतिविधियों जैसे संसाधनों को प्रशिक्षण सत्र योजना के अनुसार प्रशिक्षणकर्ता के लिए उपलब्ध कराया जाता है। यह सीखने वालों की गुणवत्ता बढ़ाने और गुणवत्ता मानकों के पालन में एकरूपता सुनिश्चित करने में प्रशिक्षकों की भी सहायता करता है। यह मंच प्रशिक्षुओं की उपस्थिति, प्रशिक्षण की प्रगति, प्रतिक्रिया और अनुपालन के लिए आवश्यक अन्य प्रलेखन की सुविधा प्रदान करता है। यह प्रशिक्षक को प्रभावी ढंग से समय का प्रबंधन करने और कुशल तथा रोजगार योग्य संसाधन बनने हेतु प्रशिक्षित उम्मीदवारों को रोजगार पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम बनाता है।

चमड़ा क्षेत्र कौशल परिषद के बारे में

चमड़ा क्षेत्र कौशल परिषद् (एलएसएससी) भारत में चमड़ा उद्योग में कुशल कर्मचारियों की मांग को पूरा करने के लिए समर्पित एक गैर-लाभकारी संगठन है। एलएसएससी को 2012 में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) द्वारा अनुमोदित प्रमुख क्षेत्र कौशल परिषदों में से एक के रूप में स्थापित किया गया था। यह चमड़ा उद्योग में विभिन्न उप-क्षेत्रों के प्रशिक्षण और रोजगार की जरूरतों को पूरा करता है- इसके तहत चमड़ा, जूते, वस्त्र, चमड़े के सामान, सहायक उपकरण, काठी और हार्नेस क्षेत्र आते हैं। हम इन उद्योग के सदस्यों, सरकारी संगठनों, शिक्षाविदों, प्रशिक्षण भागीदारों और मूल्यांकन भागीदारों के साथ एक मेजबान की तरह कार्य करते हैं। चमड़ा निर्यात परिषद (सीएलई) के साथ हमारी साझेदारी विशेष रूप से निर्यात और अंतर्राष्ट्रीय उद्योग मानकों के दृष्टिकोण से हमें उद्योग की जरूरतों के करीब लाती है।

कौशल विकास के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक को देखें

Facebook: www.facebook.com/SkillIndiaOfficial; Twitter: @MSDESkillIndia;

YouTube: https://www.youtube.com/channel/UCzNfVNX5yLEUhIRNZJKniHg

***

एमजी/एएम/पीकेपी/एसके



(Release ID: 1665088) Visitor Counter : 191


Read this release in: Punjabi , English , Urdu