विधि एवं न्‍याय मंत्रालय

प्रधानमंत्री ने अपने ‘मन की बात’ प्रसारण में संविधान दिवस का  उल्‍लेख किया


संविधान दिवस के अवसर पर सुबह 11 बजे देशवासी संविधान की प्रस्‍तावना पढ़ेंगे

न्‍याय विभाग विविध गतिविधियों का समन्‍वय करने के लिए नोडल विभाग के रूप में कार्य करेगा

Posted On: 25 NOV 2019 5:09PM by PIB Delhi

संविधान दिवस पर संविधान सभा द्वारा भारतीय संविधान को अंगीकार किए जाने की 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर 26 नवंबर, 2019 से राष्ट्रव्यापी गतिविधियों की शुरुआत होने जा रही है। हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। इन गतिविधियों का उद्देश्य भारतीय संविधान में व्यक्त किए गए मूल्यों और सिद्धांतों को नागरिकों के समक्ष  दोहराना और पुन: अवगत करना है तथा सभी भारतीयों को भारतीय लोकतंत्र को मजबूत करने में अपनी उचित भूमिका निभाने के लिए प्रोत्साहित करना है।

समाज के विभिन्‍न वर्ग संविधान दिवस के अवसर पर प्रात: 11 बजे सामूहिक रूप से प्रस्‍तावना को पढ़ेंगे। हर साल की तरह, इस अवसर पर प्रत्येक मंत्रालय / विभाग / संगठन संविधान की प्रस्तावना का सामूहिक वाचन करेगा। संविधान दिवस के अवसर पर पूरे देश में चर्चा, विचार-विमर्श और संगोष्‍ठी का भी आयोजन किया जाएगा।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001TR9I.jpghttps://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002W3S4.jpg

इसका उद्देश्य हमारे राष्ट्र की गौरवशाली और समृद्ध गंगा-जमुनी संस्कृति और विविधता को प्रचारित करना है। इसके अलावा, इसका लक्ष्‍य भारतीय संविधान में प्रतिष्‍ठापित मौलिक कर्तव्यों के प्रति जागरूकता फैलाना है। हमारे महान राष्ट्र के नागरिक होने के नाते, हम इस गांधीवादी विचार पर दृढ़ विश्वास रखते हैं कि कर्तव्य अधिकारों का सच्चा स्रोत हैं। यदि हम सभी अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हैं, तो अधिकार ज्‍यादा दूर नहीं होंगेऔर जैसा कि सरदार पटेल ने कहा है, ‘प्रत्येक भारतीय को यह भूल जाना चाहिए कि वह राजपूत, सिख, या जाट है। उसे याद रखना चाहिए कि वह एक भारतीय है और उसे अपने देश में सभी अधिकार प्राप्त हैं लेकिन कुछ कर्तव्यों के साथ'

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003562L.jpghttps://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004T64C.jpg

 

 संविधान दिवस पर आयोजित गतिविधियों में केंद्र/राज्य सरकारों के सभी मंत्रालयों/विभागों, स्वायत्त निकायों/सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, सशस्त्र बलों और केंद्रीय सार्वजनिक संगठनों आदि की भागीदारी और सहयोग होगा। इतना ही नहींइसे जनांदोलन बनाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 24 नवंबर, 2019 को 'मन की बात' के माध्यम से समूचे देश के साथ संवाद किया। संविधान दिवस के अवसर पर संसद के केंद्रीय कक्ष में आयोजित होने वाले विशेष समारोह में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, कानून और न्याय मंत्री और सभी सांसद भाग लेंगे। इस अवसर पर एक डिजिटल फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन किया जाएगा और युवा संसद योजना पर एक पोर्टल भी लॉन्च किया जाएगा। एकजुटता और अभियान के दौरान योगदान देने की भारत के नागरिकों से अपील के रूप में प्रधानमंत्री द्वारा इलेक्‍ट्रॉनिक रूप से हस्‍ताक्षरित संकल्‍प बड़े पैमाने पर जनता के समक्ष प्रस्‍तुत किया जाएगा।

***

आरकेमीणा/आरएनएम/एएम/आरके/वाईबी–4391

 



(Release ID: 1593486) Visitor Counter : 446


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Bengali