इलेक्ट्रानिक्स एवं आईटी मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav g20-india-2023

14 जून, 2023 को ‘जी20 डिजिटल इकोनॉमी वर्किंग ग्रुप (डीईडब्ल्यूजी)’ की तीसरी बैठक संपन्न हुई


जी20 डीईडब्ल्यूजी के प्राथमिकता वाले क्षेत्रों जैसे ‘डिजिटल पब्लिक इन्फ्रास्ट्रक्चर’, ‘डिजिटल स्किलिंग’ और ‘डिजिटल अर्थव्यवस्था में साइबर सुरक्षा’ पर विचार-विमर्श किया गया

ग्लोबल डीपीआई समिट का आयोजन 12-13 जून, 2023 को सफलतापूर्वक किया गया

शिखर सम्मेलन के दौरान भारत ने चार देशों के साथ इंडिया स्टैक (जनसंख्या के पैमाने पर लागू सफल डिजिटल समाधान) साझा करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

50 देशों के लगभग 150 विदेशी प्रतिनिधियों और 250 से अधिक प्रतिनिधियों ने व्यक्तिगत रूप से शिखर सम्मेलन में भाग लिया; शिखर सम्मेलन में 2000 से अधिक लोगों ने लाइव भाग लिया

शिखर सम्मेलन के दौरान आयोजित विभिन्न क्षेत्रों के और क्षेत्रीय डीपीआई पर 10 पैनल चर्चाएं आयोजित की गईं; डीपीआई पर 60 वैश्विक विशेषज्ञों ने व्यावहारिक, विचारोत्तेजक और परिणाम उन्मुख चर्चाओं का आयोजन किया

वैश्विक डीपीआई प्रदर्शनी - शिखर सम्मेलन और जी20 डीईडब्ल्यूजी के प्रतिनिधियों, पुणे के पेशेवरों, युवाओं और वरिष्ठ नागरिकों भाग लिया और डीपीआई और डिजिटल इंडिया यात्रा का प्रत्यक्ष अनुभव प्राप्त किया

Posted On: 14 JUN 2023 5:55PM by PIB Delhi

‘जी20 डिजिटल इकोनॉमी वर्किंग ग्रुप (डीईडब्ल्यूजी)’ की तीसरी बैठक आज पुणे में संपन्न हुई। बैठक के तीन दिनों के एजेंडे में ग्लोबल डीपीआई समिट और ग्लोबल डीपीआई प्रदर्शनी को साइड इवेंट्स के रूप में शामिल किया गया था और प्राथमिकता वाले क्षेत्रों पर जी20 प्रतिनिधियों, आमंत्रित देशों और आईओ के बीच बंद दरवाजे की बैठकें शामिल थीं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/WhatsAppImage2023-06-14at5.58.54PM8NO1.jpeg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/JSP05518-14623.21AE1.JPG

वैश्विक डीपीआई शिखर सम्मेलन (12-13 जून, 2023)

शिखर सम्मेलन में 250 से अधिक प्रतिनिधियों ने व्यक्तिगत रूप से भाग लिया, जिनमें से 50 देशों के लगभग 150 विदेशी प्रतिनिधि शामिल हैं। वर्चुअली 2000 से अधिक लोगों ने भाग लिया। भारत ने चार देशों - आर्मेनिया, सिएरा लियोन, सूरीनाम और एंटीगुआ और बारबुडा के साथ भारत स्टैक साझा करने पर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए - यानी जनसंख्या के पैमाने पर लागू सफल डिजिटल समाधान पर काम किया गया।

शिखर सम्मेलन ने क्षेत्र असंबंधी (आधारभूत) और क्षेत्रीय डीपीआई पर चर्चा करने के लिए वैश्विक मंच प्रदान किया जिसमें अन्य बातों के साथ-साथ डीपीआई पर कुल 60 वैश्विक विशेषज्ञों के बीच नेतृत्व, नीति और व्यवसायी स्तर की अंतर्दृष्टिपूर्ण, विचारोत्तेजक और भविष्य को आकार देने वाली चर्चा शामिल थी, जिन्होंने 10 महत्वपूर्ण सत्रों में भाग लिया, जिसमें 'डिजिटल सार्वजनिक अवसंरचना का अवलोकन', 'लोगों को सशक्त बनाने के लिए डिजिटल पहचान', 'डिजिटल भुगतान और वित्तीय समावेशन', 'न्यायिक प्रणालियों और विनियमों के लिए डीपीआई', 'कुशल सेवा वितरण के लिए डिजिटल दस्तावेज़ एक्सचेंज', 'सार्वजनिक कुंजी अवसंरचना (पीकेआई) डीपीआई के लिए', 'डिजिटल एजुकेशन एंड स्किलिंग', 'डिजिटल हेल्थ एंड क्लाइमेट एक्शन के लिए डीपीआई', 'डिजिटल एग्रीकल्चर इकोसिस्टम' और 'बिल्डिंग द ग्लोबल डीपीआई इकोसिस्टम' शामिल थे। 50 देशों और कई अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के डिजिटल निर्णय निर्माताओं को डीपीआई पर वैश्विक मंच प्रदान करके, भारत ने नेतृत्व किया और ग्लोबल नॉर्थ (जी20 सदस्य) और ग्लोबल साउथ (विकासशील और LMIC देशों) के बीच एक मजबूत पुल के रूप में कार्य करने की अपनी भूमिका को और मजबूत किया। ग्लोबल डीपीआई शिखर सम्मेलन के दौरान आयोजित सत्रों की रिकॉर्डिंग https://www.indiastack.global/global-dpi-summit/ पर देखी जा सकती है।

वैश्विक डीपीआई प्रदर्शनी (12-14 जून, 2023)

प्रदर्शनी में 14 अनुभव क्षेत्रों को प्रदर्शित किया गया जिसमें डीपीआई को सफलतापूर्वक लागू किया गया है। इन क्षेत्रों में डिजिटल पहचान, तेज़ भुगतान, डिजिलॉकर, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार, नए युग के शासन के लिए एकीकृत मोबाइल ऐप, डिजिटल वाणिज्य के लिए ओपन नेटवर्क, हवाई अड्डे पर निर्बाध यात्रा का अनुभव, भाषा अनुवाद, शिक्षण समाधान, टेली-मेडिकल परामर्श और डिजिटल इंडिया यात्रा शामिल हैं। शिखर सम्मेलन और जी20 डीईडब्ल्यूजी बैठक में भाग लेने वाले प्रतिनिधियों ने इसका दौरा किया। पेशेवर, युवा और वरिष्ठ नागरिकों सहित पुणे शहर के लोग भी प्रदर्शनी में शामिल हुए।

जी20 डीईडब्ल्यूजी की बंद कमरे की बैठक (13-14 जून, 2023)

जी20 डीईडब्ल्यूजी बैठक की बंद कमरे की बैठक 13 जून, 2023 को जी20 सदस्यों, 9 अतिथि देशों, 5 अंतर्राष्ट्रीय संगठनों और दो क्षेत्रीय संगठनों के 77 विदेशी प्रतिनिधियों की भागीदारी के साथ शुरू हुई। भारतीय अध्यक्षता के तहत चर्चा का नेतृत्व श्री सुशील पाल, सह-अध्यक्ष जी20 डीईडब्ल्यूजी ने किया। बैठक में, डिजिटल पब्लिक इन्फ्रास्ट्रक्चर (डीपीआई) और डीपीआई के लिए “वन फ्यूचर एलायंस एंड वन फ्यूचर फंड” की अवधारणा, अच्छे डीपीआई के लिए सिद्धांतों को सक्षम करने, और निम्न और मध्यम आय वाले देशों (एलएमआईसी) में डीपीआई के लिए वित्तपोषण के अवसरों की आवश्यकता की पहचान पर चर्चा हुई। इसके बाद, डिजिटल स्किलिंग, अपस्किलिंग और रीस्किलिंग, क्षमता निर्माण और जागरूकता, डिजिटल कौशल और सूचना साझा करने के लिए एक पारस्परिक मान्यता ढांचे के निर्माण पर चर्चा की गई।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/JSP05518-14623.21AE1.JPG

बैठक के आखिरी दिन यानी 14 जून, 2023 को एक सुरक्षित, लचीली और भरोसेमंद डिजिटल अर्थव्यवस्था की सुरक्षा और बच्चों और युवाओं के लिए क्षमता निर्माण और संभावित सुरक्षा खतरों का मुकाबला करने जैसे विभिन्न पहलुओं पर विचार-विमर्श किया गया।

पिछले तीन दिनों में कई सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए और प्रतिनिधियों को भारतीय संस्कृति, भारतीय व्यंजन, भारतीय कला, योग और भारत के लोक रूपों के अनुभव कराये गए और इन्हीं के अनुसार व्यवहार भी किया गया। भारत सरकार इस कार्यक्रम के आयोजन में पूर्ण समर्थन और समन्वय प्रदान करने के लिए महाराष्ट्र राज्य सरकार के योगदान को स्वीकार करती है और धन्यवाद देती है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/DSC06038MPI9.jpeg

अगले कदम के रूप में, डिजिटल इकोनॉमी वर्किंग ग्रुप और डिजिटल इकोनॉमी मिनिस्टर्स मीटिंग की चौथी इन-पर्सन मीटिंग अगस्त, 2023 में बेंगलुरु, कर्नाटक में आयोजित करने की योजना है।

***********

एमजी/एमएस/एकेएस/डीए



(Release ID: 1932513) Visitor Counter : 619


Read this release in: Marathi , Tamil , Urdu , English