वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने कारोबारियों और नागरिकों से कोई भी कारोबार शुरू करने एवं चलाने में आ रही समस्याओं की ओर ध्‍यान दिलाने को कहा है


सुझाव अभियान 15 अक्टूबर 2022 तक ‘माईगव के इनोवेट प्लेटफॉर्म’ पर लाइव रहेगा

Posted On: 07 OCT 2022 5:30PM by PIB Delhi

भारत सरकार देश भर में कारोबार करने में सुगमता और जीवनयापन में सुगमता बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। कारोबारियों और नागरिकों के साथ सरकार का जुड़ाव बढ़ाने के लिए पिछले कुछ वर्षों में अनगिनत सुधार लागू किए गए हैं।

कारोबार करने में सुगमता और जीवनयापन में सुगमता बढ़ाने के लिए डीपीआईआईटी कोई भी कारोबार शुरू करने और चलाने में आ रही समस्‍याओं को सुलझाने के बारे में कारोबारियों और नागरिकों से सुझाव मांग रहा है। विभिन्न प्रावधानों/धाराओं के तहत किसी भी मामूली नियम उल्लंघन को अपराधों की श्रेणी से बाहर करने के बारे में सुझाया जा सकता है। इसका मुख्‍य उद्देश्य नए भारत’ को पूरी दुनिया के लिए एक पसंदीदा निवेश गंतव्य बनाना और अंतिम लाभार्थी तक परेशानी मुक्त सेवाएं मुहैया कराने को सुनिश्चित करना है। यह सुझाव अभियान माईगव के इनोवेट प्लेटफॉर्म पर 15 अक्टूबर 2022 तक लाइव रहेगा।

 

अभियान के लिए लिंक यह है: https://innovateindia.mygov.in/suggestion-box/

 

निम्नलिखित कुछ सुझाए गए व्यापक क्षेत्र हैं जिन पर कारोबार करने में सुगमता और जीवनयापन में सुगमता बढ़ाने के लिए गौर किया जा सकता है:

 

अनुमति, स्वीकृति प्राप्त करना

प्रमाणपत्रों, लाइसेंसों का नवीनीकरण

मामूली अपराधों को अपराधों की श्रेणी से बाहर करना

दाखिल करना /रिटर्न

निरीक्षण/ऑडिट

ऑनलाइन प्रणालि‍यां/प्रक्रिया

रजिस्टरों और अभिलेखों का रखरखाव करना

प्रोत्साहन के लिए आवेदन करना

प्रोत्साहन राशि का भुगतान

प्रक्रिया संबंधी/दिशा-निर्देशों से संबंधित

भुगतान की व्‍यवस्‍था  

अन्य

 

***

एमजी/एएम/आरआरएस /वाईबी             



(Release ID: 1865942) Visitor Counter : 252


Read this release in: English , Urdu , Marathi