कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

श्री नरेन्द्र सिंह तोमर कल कृषि अवसंरचना कोष पुरस्कार प्रदान करेंगे


एआईएफ योजना में विभिन्न बैंकों, राज्यों और विभिन्न क्षेत्र के अधिकारियों के योगदान को सम्मानित करने के लिए पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे

विभिन्न ऋण देने वाले संस्थानों की ओर से 13,700 आवेदकों को लगभग 17,500 करोड़ रुपये के संयुक्त निवेश के साथ 10,000 करोड़ रुपये से अधिक के एआईएफ ऋण की मंजूरी दी गई

Posted On: 29 JUL 2022 7:28PM by PIB Delhi

केंद्र सरकार की एक समर्पित योजना के रूप में महत्वाकांक्षी आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत दो साल पहले यानी 2020 में कृषि अवसंरचना कोष (एआईएफ) को शुरू किया गया था। इसके तहत फसल के बाद के प्रबंधन के बुनियादी ढांचे और सामुदायिक कृषि परिसंपत्तियों के निर्माण में निवेश के लिए मध्यम अवधि की ऋण सुविधा प्रदान की जाती है। इस सुविधा के रूप में सरकार की ओर से तीन फीसदी ब्याज के रूप में आर्थिक सहायता और दो करोड़ रुपये तक के शुल्क पर क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट फॉर माइक्रो एंड स्मॉल एंटरप्राइजेज (सीजीटीएमएसई) की ओर से प्रदान की जाती है। इस योजना को मौजूदा केंद्र सरकार और राज्य सरकार की योजनाओं के साथ जोड़ा जा सकता है। इससे कृषि इकोसिस्टम में हितधारकों - किसान, कृषि-उद्यमी, एफपीओ, एसएचजी, जेएलजी, पैक्स, एपीएमसी, स्टार्टअप, केंद्रीय, विपणन सहकारी समिति, राज्य एजेंसियों आदि में अत्यधिक लाभ हुआ है।

अब तक कृषि अवसंचरना कोष के एकीकृत पोर्टल www.agriinfra.dac.gov.in पर 23,000 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनमें 13,700 आवेदकों के लिए विभिन्न ऋण देने वाली संस्थाओं की ओर से लगभग 17,500 करोड़ रुपये के संयुक्त निवेश के साथ 10,131 करोड़ रुपये के एआईएफ ऋण स्वीकृत किए गए हैं। इन स्वीकृत बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में भंडार गृह, परख इकाइयां, प्राथमिक प्रसंस्करण इकाइयां, सीमा-शुल्क हायरिंग केंद्र, छंटाई व ग्रेड निर्धारण इकाइयां, शीत भंडार और कोल्ड चेन परियोजनाएं, जैव-उत्तेजक विनिर्माण सुविधाएं और बीज प्रसंस्करण इकाइयां आदि शामिल हैं। इसका देश में कृषि परिदृश्य को रूपांतरित करने पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा।

इस योजना को कार्यान्वित करने में अच्छा प्रदर्शन करने वाले बैंकों और राज्य सरकारों को सम्मानित करने के लिए कल यानी 30 जुलाई, 2022 को नई दिल्ली में एक पुरस्कार समारोह का आयोजन किया जाएगा। केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र तोमर व मंत्रालय में राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी इस समारोह की गरिमा बढ़ाएंगे। वहीं, इस कार्यक्रम में कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय में सचिव श्री मनोज आहूजा, अपर सचिव श्री अभिलक्ष लिखी, मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी व विभिन्न राज्यों के सरकारी अधिकारी, बैंकों, नाबार्ड, नैबकॉन्स (नाबार्ड कंसल्टेंसी सर्विसेज) के शीर्ष कार्यपालक व वरिष्ठ अधिकारी, योजना के लाभार्थी और विभिन्न संगठनों के कई अन्य गणमान्य व्यक्ति हिस्सा लेंगे।

मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री सैमुअल प्रवीण कुमार ने बताया कि यह समारोह विभिन्न बैंकों, राज्यों और विभिन्न क्षेत्र के अधिकारियों के सराहनीय प्रयासों व योगदान को सम्मान देने और उन्हें इस योजना को नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आयोजित किया जा रहा है।

**************

एमजी/एएम/एचकेपी



(Release ID: 1846400) Visitor Counter : 142


Read this release in: English , Urdu , Bengali