सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्‍वयन मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

"सांख्यिकी दिवस" 29 जून, 2022 को मनाया गया


मुख्य विषय : सतत विकास के लिए डेटा

Posted On: 29 JUN 2022 5:21PM by PIB Delhi

सांख्यिकी और आर्थिक नियोजन के क्षेत्र में (दिवंगत) प्रोफेसर प्रशांत चंद्र महलनोबिस के उल्लेखनीय योगदान को सम्मान देने के लिए भारत सरकार 29 जून को उनकी जयंती को "सांख्यिकी दिवस" के रूप में मनाती आ रही है।

इस वर्ष सांख्यिकी दिवस, 2022 का मुख्य कार्यक्रम नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) सभा केंद्र, नई दिल्ली में फिजिकल-कम-वर्चुअल मोड के माध्यम से आयोजित किया गया। इसे सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (एमओएसपीआई) द्वारा सप्ताह भर चलने वाले आजादी का अमृत महोत्सव के एक हिस्से के रूप में भी मनाया गया जो भारत की आजादी के पचहत्तरवें वर्ष को मनाने के लिए सरकार की एक खास पहल है। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केंद्रीय सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन (एमओएसपीआई) और योजना राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने प्रतिभागियों को वर्चुअल तरीके से संबोधित किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग (एनएससी) के अध्यक्ष प्रो. बिमल कुमार रॉय और भारत के मुख्य सांख्यिकीविद् तथा सचिव, एमओएसपीआई डॉ. जी. पी. सामंत ने भी प्रतिभागियों को संबोधित किया। भारतीय सांख्यिकी संस्थान के निदेशक प्रो. संघमित्रा बंद्योपाध्याय ने वर्चुअल तरीके से प्रतिभागियों को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन (एमओएसपीआई) एवं अन्य केंद्रीय मंत्रालयों/विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों और संयुक्त राष्ट्र संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी इस कार्यक्रम में फिजिकल/वर्चुअल तरीके से भाग लिया। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में अर्थशास्त्र और सांख्यिकी निदेशालयों के प्रतिनिधियों ने वर्चुअल तरीके से इस कार्यक्रम में भाग लिया। इस कार्यक्रम का एमओएसपीआई के सोशल मीडिया हैंडल के माध्यम से सीधा प्रसारण भी किया गया।

कार्यक्रम के दौरान मंत्रालय द्वारा स्थापित राष्ट्रीय पुरस्कारों के विजेताओं को सम्मानित किया गया। इस वर्ष आधिकारिक सांख्यिकी, 2022 में प्रो. पी. सी. महलनोबिस राष्ट्रीय पुरस्कार संयुक्त रूप से एमओएसपीआई के उप महानिदेशक श्री दिलीप कुमार सिन्हा और प्रधान वैज्ञानिक, राष्ट्रीय पशु चिकित्सा संस्थान, महामारी विज्ञान और रोग सूचना विज्ञान (एनआईवीईडीआई), भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआई) के डॉ. के. पी. सुरेश को प्रदान किया गया। इसके अलावा, सांख्यिकी, 2022 के क्षेत्र में आजीवन योगदान के लिए प्रो. पी. वी. सुखात्मे राष्ट्रीय पुरस्कार राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग के पूर्व सदस्य डॉ. पदम सिंह को प्रदान किया गया। इस कार्यक्रम में 'ऑन द स्पॉट निबंध लेखन प्रतियोगिता, 2022' के विजेताओं को भी सम्मानित किया गया।

सांख्यिकी दिवस, 2022 के मुख्य विषय यानी थीम - सतत विकास के लिए डेटा पर सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (एमओएसपीआई) की ओर से एक संक्षिप्त प्रस्तुति दी गई। भारत में संयुक्त राष्ट्र के रेजिडेंट कोऑर्डिनेटर श्री शोम्बी शार्प और यूएनएफपीए के राष्ट्रीय कार्यक्रम अधिकारी डॉ. संजय कुमार ने भी सांख्यिकी दिवस, 2022 के मुख्य विषय सतत विकास के लिए डेटा पर प्रतिभागियों को संबोधित किया।

आयोजन के दौरान सतत विकास लक्ष्य - राष्ट्रीय संकेतक संरचना (एनआईएफ) प्रगति रिपोर्ट, 2022 जारी की गई। इस रिपोर्ट के साथ अद्यतन एनआईएफ 2022 और एसडीजी एनआईएफ रिपोर्ट 2022 पर डेटा स्नैपशॉट भी जारी किया गया।

 इस कार्यक्रम के दौरान "यूथ इन इंडिया 2022" प्रकाशन का विमोचन किया गया। यह प्रकाशन विभिन्न मंत्रालयों/विभागों/संगठनों के सार्वजनिक डोमेन में रखे गए आंकड़ों के रूप में सामाजिक-आर्थिक प्रासंगिकता के महत्वपूर्ण सांख्यिकीय संकेतकों के माध्यम से युवाओं की समग्र स्थिति को चित्रित करता है।

*****

एमजी / एएम / एके /वाईबी



(Release ID: 1838054) Visitor Counter : 391


Read this release in: English , Urdu , Tamil