संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

सी-डॉट ने गैलोर नेटवर्क के साथ एंड-टू-एंड 5-जी रेडियो एक्सेस नेटवर्क (आरएएन) उत्पादों और समाधानों के सहयोगात्मक विकास के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए


यह समझौता स्टार्टअप्स के माध्यम से एक बहु-भागीदार स्वदेशी 5-जी ईकोसिस्टम बनाने के उद्देश्य को आगे बढ़ाने के लिए होगा।

सहयोगात्मक ढांचे का उद्देश्य "आत्मनिर्भर भारत" और "स्टार्ट-अप इंडिया" की परिकल्पना के अनुरूप 5-जी के स्वदेशी विकास में तेजी लाना है

Posted On: 24 JUN 2022 5:59PM by PIB Delhi

टेलीमैटिक्स के विकास के लिए केंद्र (सी-डॉट) स्थानीय उद्योग और स्टार्ट-अप सहित स्वदेशी 5-जी ईकोसिस्टम के विभिन्न हितधारकों के साथ मजबूत साझेदारी बनाने का इच्छुक है। सी-डॉट ने एक अच्छी तरह से समन्वित सहयोगी ढांचे को विकसित करने पर अधिक बल देना जारी रखा है जो आउटपुट-संचालित और लक्ष्य-उन्मुख वातावरण में प्रमुख 5-जी कंपनियों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के लिए कई 5-जी भागीदारों का समर्थन करता है।

5-जी के स्वदेशी विकास को बढ़ावा देने के अपने प्रयास को आगे बढ़ाते हुए, सी-डॉट और गैलोर नेटवर्क्स ने एंड-टू-एंड 5-जी आरएएन उत्पादों और समाधानों के सहयोगात्मक विकास के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

wps5 

(श्री बालाजी के, निदेशक (एमडी), गैलोर नेटवर्क्स; डॉक्टर राजकुमार उपाध्याय, कार्यकारी निदेशक, सी-डॉट; और श्री औरिंदम भट्टाचार्य, रजिस्ट्रार सी-डॉट, समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद)

कई ईकोसिस्टम भागीदारों के बीच तालमेल और सद्भाव प्राप्त करने पर आधारित यह सहयोगात्मक दृष्टिकोण पारस्परिक रूप से उत्पादक और टिकाऊ गठबंधनों के विकास की सुविधा प्रदान करेगा। यह एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगा जिसके परिणामस्वरूप लागत प्रभावी 5-जी उत्पादों और समाधानों की स्वदेशी डिजाइन, विकास, निर्माण और तैनाती होगी। यह भारतीय अनुसंधान और विकास तथा उद्योग की तकनीकी दक्षताओं और पूरक शक्तियों को एक एकीकृत मंच पर लाएगा जिससे स्वदेशी बौद्धिक संपदा (आईपी) परिसंपत्तियों का निर्माण होगा जो वैश्विक स्तर पर घरेलू प्रौद्योगिकियों की व्यापक उपलब्धता और व्यावसायीकरण के लिए नए मार्ग पैदा कर सकते हैं।

wps6 

इस कार्यक्रम में बोलते हुए, सी-डॉट के कार्यकारी निदेशक, डॉक्टर राजकुमार उपाध्याय ने भारत के महान तकनीकी कौशल की अंतर्निहित क्षमता पर बल देने के लिए माननीय प्रधानमंत्री की "गति शक्ति" और "आत्मनिर्भर भारत" की परिकल्पना पर प्रकाश डाला, जो खुद को विभिन्न पथों - स्थानीय अनुसंधान और विकास, उद्योग और स्टार्टअप की नई पहल में प्रकट करता है। उन्होंने नए नवाचार और प्रतिस्पर्धी भावना को बढ़ावा देने के लिए प्रौद्योगिकी ईकोसिस्टम के विभिन्न प्रतिभागियों के बीच तालमेल प्राप्त करने के प्रमुख महत्व को रेखांकित किया, जिससे समग्र स्वदेशी समाधानों का तेजी से विकास हो सके। उन्होंने देश के कोने-कोने में स्वदेशी 5-जी के प्रसार को सक्षम करने के लिए अनुसंधान और विकास तथा उद्योग के बीच इन उभरती साझेदारियों में बहुत आत्मविश्वास और भरोसा व्यक्त किया। उन्होंने आगे टिप्पणी की कि प्रभावी सहयोगी संपर्क अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारतीय उत्पादों और समाधानों की विशाल क्षमता को प्रदर्शित करेंगे।

गैलोर नेटवर्क्स के निदेशक (प्रबंध निदेशक) श्री बालाजी कुलोथुंगन ने टिप्पणी करते हुए कहा कि गैलोर सी-डॉट के साथ वाणिज्यिक रूप से तैनात 4जी/5जी एनएसए और एसए मैक्रो/माइक्रो बेस-स्टेशन के अपने पूरे सूट को सी-डॉट 4जी/ 5जी एनएसए और एसए नेक्स्ट जेनरेशन कोर के साथ सहयोग करने के लिए उत्साहित है। यह वास्तव में भारतीय दूरसंचार उद्योग के लिए एक "आत्मनिर्भर" क्षण है। हम भारतीय और वैश्विक टियर-1 दूरसंचार ऑपरेटरों, महत्वपूर्ण नेटवर्क और निजी नेटवर्क के लिए 5जी उत्पादों को विकसित करने के लिए सी-डॉट के साथ मिलकर काम करेंगे। यह सहयोग गैलोर जैसी स्वदेशी कंपनियों को वैश्विक दूरसंचार ओईएम के कार्य क्षेत्र में लाने के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करता है। स्वदेशी दूरसंचार उत्पादों के साथ वैश्विक स्तर पर जाने का भारत का समय आ गया है और भारतीय अर्थव्यवस्था जल्द ही निकट भविष्य में सफलता का फल प्राप्त करेगी।

इस अवसर पर श्री एस डेनियल जेबराज, निदेशक, सी-डॉट, बैंगलोर और सी-डॉट के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

सी-डॉट और गैलोर नेटवर्क्स ने स्वदेशी 5-जी के विकास के लिए इस सहयोगी साझेदारी को मजबूत करने और आपसी हित के अन्य क्षेत्रों में इसे आगे बढ़ाने के लिए अपनी दृढ़ प्रतिबद्धताओं को दोहराया।

टेलीमैटिक्स के विकास के लिए केंद्र (सी-डॉट) दूरसंचार विभाग, संचार मंत्रालय, भारत सरकार का प्रमुख अनुसंधान और विकास केंद्र है। सी-डॉट ने ऑप्टिकल, स्विचिंग और रूटिंग, वायरलेस, सुरक्षा और टेलीकॉम सॉफ्टवेयर अनुप्रयोगों के क्षेत्र में फैले विभिन्न अत्याधुनिक दूरसंचार प्रौद्योगिकियों को स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित किया है। सी-डॉट ने अपना स्वदेशी 4-जी समाधान विकसित किया है और 5 जी के क्षेत्र में उत्सुकता के साथ काम कर रहा है।

गैलोर नेटवर्क्स की वर्ष 2013 में स्थापना हुई थी और इसका मुख्यालय बेंगलुरु में है। वैश्विक संचार सेवा प्रदाताओं, उद्यमों और महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे और सीधे बाजार क्षेत्रों के लिए कैरियर ग्रेड उत्पादों और सेवाओं का विकास कर रहा है। गैलोर नेटवर्क्स एंड-टू-एंड समाधान प्रदान करता है जो जटिल अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म जैसे 5जी, आईओटी, क्लाउड/एनएफवी-एसडीएन और 2जी-3जी और 4जी से लेकर परंपरागत नेटवर्क उत्पादों पर केंद्रित हैं।

************

एमजी/एएम/एमकेएस/वाईबी



(Release ID: 1836828) Visitor Counter : 452


Read this release in: English , Marathi , Urdu