वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

वाणिज्य एवम् उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने ब्रिटेन, यूरोपीय संघ और कनाडा के साथ जारी मुक्त व्यापार समझौते के लिए भारत की बातचीत के तहत उद्योग जगत के लोगों से परामर्श किया


जिन मुक्त व्यापार समझौतों पर बातचीत चल रही है, उनसे द्विपक्षीय व्यापार को फायदा होगा, नौकरियां पैदा होंगी और ज्यादा व्यापक सामाजिक एवम् आर्थिक लाभ मिलेंगे: केंद्रीय उद्योग मंत्री पीयूष गोयल

Posted On: 14 MAY 2022 6:30PM by PIB Delhi

केंद्रीय वाणिज्य एवम् उद्योग और उपभोक्ता मामले, खाद्य एवम् सार्वजनिक वितरण तथा वस्त्र मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आज मुंबई में उद्योग जगत के अलग-अलग क्षेत्रों के हितधारकों से भारत की कनाडा, ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के साथ चल रही मुक्त व्यापार समझौते पर बातचीत की। केंद्रीय मंत्री ने ऑटोमोबाइल, रत्न और आभूषण, कपड़ा, इस्पात, तांबा और एल्यूमीनियम क्षेत्र के प्रतिनिधियों से अलग-अलग बैठक की। इस बैठक में अग्रणी उद्यमी और संगठनों के प्रतिनिधियों ने व्यक्तिगत उपस्थित होकर और ऑनलाइन माध्यम से हिस्सा लिया।

 

उद्योग मंत्री ने उद्योग जगत को बताया कि कैसे यह समझौते, जिन पर बातचीत चल रही है, उनसे संबंधित देशों के साथ समग्र आर्थिक और व्यापारिक संबंधों को बढ़ावा मिलेगा, जो ना सिर्फ द्विपक्षीय व्यापार को फायदा पहुंचाएंगे, बल्कि नई नौकरियों का सृजन करेंगे और कई सामाजिक व आर्थिक अवसर उपलब्ध करवाएंगे।

IMG_256

 

उद्योग मंत्री ने उद्योग जगत की उदार भावना को सराहते हुए उद्योग जगत के प्रतिनिधियों से देश के व्यापक हित में उसी भावना से व्यापार वार्ता का समर्थन जारी रखने का आग्रह किया, जिससे देश में बहु-क्षेत्रीय आर्थिक मूल्य श्रृंखलाओं के समग्र विकास में योगदान दिया जा सके।

 

यूएई, ऑस्ट्रेलिया और अन्य देशों से तेज गति के साथ मुक्त व्यापार समझौता करने के लिए उद्योग जगत के प्रतिनिधियों ने मंत्री को धन्यवाद दिया, जो कई लोगों तक चलने वाले सपने को पूरा किया। सभी हितधारकों ने मंत्री का भारतीय उद्योग जगत की चिंताओं को ध्यान में रखने के लिए आभार व्यक्त किया और इस मामले पर सकारात्मक परामर्श दिया, ताकि बाजार तक पहुंच और घरेलू चिंताओं के बीच संतुलन बनाया जा सके।

 

इस परामर्श में शामिल होने वाली व्यापारिक संस्थाओं/संगठनों/ईपीसी की सूची नीचे है।

 

क्र.सं.

क्षेत्र

भाग लेने वाली व्यापारिक संस्थाएं/संगठन

1.

ऑटोमोटिव उद्योग (ऑटोमोबाइल्स और इसके कलपुर्जे)

1) सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चर्रस (एसआईएएम)

2) ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्यूफैक्चर्रस एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसीएमए)

3) सोसायटी ऑफ मैन्यूफैक्चर्रस ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (एसएमईवी)

4) ईईपीसी इंडिया

5) सीआईआई

2.

रत्न और आभूषण

1) जीजेपीईसी

2) अखिल भारतीय रत्न एवम् आभूषण घरेलू परिषद

3.

कपड़ा

1) परिधान निर्यात संवर्धन परिषद

2) कपास परिधान निर्यात संवर्धन परिषद

3) भारतीय रेशम निर्यात

4) सिंथेटिक एवम् रेयान परिधान निर्यात संवर्धन परिषद

5) ऊन उद्योग निर्यात संवर्धन परिषद

6) आईसीसी

7) एफआईसीसीआई

8) एसोचैम

9)सीआईआई

10) भारतीय कपास निगम (सीसीआई)

11) हथकरघा निर्यात संवर्धन परिषद

12) भारतीय कपड़ा उद्योग परिसंघ

13) भारतीय रेशम संगठन

14) भारत कपड़ा उत्पादन संगठन

15) एसोसिएशन ऑफ मैन-मेड फाइबर इंडस्ट्री ऑफ इंडिया

16) दक्षिण भारत होजरी निर्माता संगठन

17) परिधान निर्यातक और निर्माता संगठन

18) भारतीय पोलिउरिथेन संगठन

19) भारतीय ऊन मिल परिसंघ

20) पीडीईएक्ससीआईएल

21) ऊन एवम् ऊनी निर्यात संवर्धन परिषद

4.

इस्पात

1) भारतीय इस्पात संगठन (आईएसए)

2) आईएसएसडीए

3)एएसपीए

4) आईएफएपीए

5) ईईपीसी इंडिया

6) एफआईसीसीआई

7) सीआईआई

5.

तांबा

1) इंडियन प्राइमरी कॉपर प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (आईपीसीपीए)

2) ईईपीसी इंडिया

3) इंडियन इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्यूफैक्चर्रस एसोसिएशन (आईईईएमए)

4) इंडियन नॉन-फेरस मेटल मैन्यूफैक्चर्रस एसोसिएशन (आईएनएफएमएमए)

5) बॉम्बे मेटल एक्सचेंज लिमिटेड

6.

एल्यूमीनियम

1) एल्यूमीनियम एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एएआई)

2) एल्यूमीनियम सेकंडरी मैन्यूफैक्चर्रस एसोसिएशन (एएसएमए)

3) एल्यूमीनियम कास्टर्स एसोसिएशन (एएलयूसीएएसटी)

4) इंडियन इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्यूफैकचर्रस एसोसिएशन (आईईईएमए)

5) ईईपीसी इंडिया

6) बॉम्बे मेटल एक्सचेंज लिमिटेड

7) एफआईसीसीआई

8) सीआईआई

 

 

एमजी/एएम/केसीवी/वाईबी



(Release ID: 1825577) Visitor Counter : 241


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Telugu