ग्रामीण विकास मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

ग्रामीण विकास मंत्रालय और ऐमाजॉन के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर और आदान-प्रदान के माध्यम से स्वयं सहायता समूह के उत्पादों के ऑनलाइन विपणन के लिए समझौता

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को 'लखपति' बनाने का लक्ष्य : श्री गिरिराज सिंह

Posted On: 12 MAY 2022 4:37PM by PIB Delhi

 

ग्रामीण विकास मंत्रालय और ऐमाजॉन सेलर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड (ऐमाजॉन) के बीच आज नई दिल्ली के कृषि भवन में केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री श्री गिरिराज सिंह और ग्रामीण विकास सचिव श्री नागेंद्र नाथ सिन्हा की उपस्थिति में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

निम्नलिखित सदस्यों ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए और समझौता ज्ञापन का आदान-प्रदान किया:

श्री चरणजीत सिंह, संयुक्त सचिव-आरएल-1, ग्रामीण विकास मंत्रालय

श्री सुमित सहाय - निदेशक, आईएन मार्केट प्लेस बिजनेस, ऐमाजॉन सेलर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड

समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के दौरान, केंद्रीय मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने ग्रामीण विकास मंत्रालय और ऐमाजॉन के बीच समझौता ज्ञापन के बाद ऐमाजॉन मंच पर बिक्री में वृद्दि करने और यह सुनिश्चित करने पर बल दिया कि इस समझौते से अधिक से अधिक महिला कारीगर 'लखपति' बनें। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि ऐमाजॉन और ग्रामीण विकास मंत्रालय दोनों को मौजूदा उत्पादों, उनकी पैकेजिंग और ब्रांडिंग के दौरान आने वाली चुनौतियों की पहचान करनी चाहिए। मंत्री महोदय ने यह भी कहा कि ग्रामीण विकास मंत्रालय और ऐमाजॉन के बीच समझौता ज्ञापन पहला कदम है और समझौता ज्ञापन में परिकल्पित परिणामों को समझौते की नियमित निगरानी के बाद सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

इस समझौता ज्ञापन से यह परिकल्पना की गई है कि यह समझौता एनआरएलएम के अंतर्गत एसएचजी उद्यमियों को ऐमाजॉन सहेली स्टोरफ्रंट के माध्यम से पूरे भारत में खरीदारों को अपने उत्पादों की पेशकश करने में सक्षम करेगा और एसएचजी महिलाओं को उनके विभिन्न उत्पादों के लिए अच्छे मूल्य प्राप्त करने में मदद करेगा।

एसएचजी उत्पादों के विपणन को और अधिक सुविधाजनक बनाने के लिए, एनआरएलएम ऐमाजॉन सहेली के साथ समझौता कर रहा है और दोनों संस्थाओं ने स्व सहायता समूह की महिलाओं को ऐमाजॉन सहेली के स्टोरफ्रंट की पेशकश करने के लिए एक गैर-वित्तीय समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। यह ऐमाजॉन पर सभी भारतीय खरीदारों के लिए एसएचजी उत्पादों को उपलब्ध कराने के लिए नया मंच प्रदान करेगा।

 

 

ऐमाजॉन सहेली स्टोर फ्रंट प्लेटफॉर्म के माध्यम से बेचने वाले एसएचजी उत्पादों को सहयोग करने के लिए आज हस्ताक्षर किए गये समझौता ज्ञापन की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

· ऐमाजॉन और ग्रामीण विकास मंत्रालय संयुक्त रूप से पहचाने गए राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में महिलाओं के नेतृत्व वाले ग्रामीण उद्यमों के वाणिज्यिक और सामाजिक विकास को सक्षम बनाएंगे।

· ऐमाजॉन डॉट इन पर ग्रामीण विकास मंत्रालय से जुड़े स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) के उत्पादों को सूचीबद्ध करने के लिए ऐमाजॉन, ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा नियुक्त विक्रेताओं को प्रशिक्षण और जानकारी प्रदान करने में सहायता प्रदान करेगा।

· ऐमाजॉन एसएचजी के लिए धीमी शुरूआत को कम करने के लिए शुभारंभ पर रेफरल शुल्क में छूट, इमेजिंग और कैटलॉगिंग और खाता प्रबंधन सहायता प्रदान करेगा

· ऐमाजॉन सहेली स्टोरफ्रंट, सोशल मीडिया, इवेंट्स और ऑनसाइट व्यापार के माध्यम से एसएचजी द्वारा सूचीबद्ध उत्पादों को बाजार उपलब्ध कराने और बढ़ावा देने में मदद करेगा।

· ग्रामीण विकास मंत्रालय (संबंधित एसआरएलएम के माध्यम से) ऐमाजॉन डॉट इन पर बेचने के लिए जीएसटी सत्यापित विक्रेताओं की पहचान करने और उन्हें अवगत कराने में मदद करेगा, और जीएसटी, पीएएन आदि हासिल करने में विक्रेताओं की सहायता करेगा।

· ग्रामीण विकास मंत्रालय और ऐमाजॉन जागरूकता सृजन के लिए संयुक्त कार्यशालाएं आयोजित करेंगे और विक्रेताओं को अपने उत्पादों को सूचीबद्ध करने और ऐमाजॉन डॉट इन पर अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए विकास में वृद्धि करने में सहायता करेंगे।

डीएवाई-एनआरएलएम ने एसएचजी को अपने उत्पादों के लिए बाजारों तक पहुंच बनाने में सहायता करने के लिए कई कदम उठाए हैं। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा भी -कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर एसएचजी उत्पादों को पंजीकृत कराने के प्रयास किए गए हैं, उदाहरण के लिए, फ्लिपकार्ट, ऐमाजॉन और मीशो आदि शामिल हैं। इसमें कुछ राज्यों द्वारा प्रबंधित समर्पित वेब-पोर्टल भी शामिल हैं। संभावित -कॉमर्स प्लेटफॉर्म का पता लगाया गया है और एनआरएलएम एसएचजी के लिए उनके तैयार किए गए उत्पादों को बिक्री प्लेटफॉर्म पर शामिल करने के लिए सरकारी -मार्केटप्लेस (जीईएम) में "सरस संग्रह" जैसे विशिष्ट प्रावधान बनाए गए हैं। 30 अप्रैल, 2022 तक, 455 एसएचजी / एसएचजी सदस्यों द्वारा जीईएम पर कुल 1088 उत्पाद अपलोड किए गए हैं। इसी तरह, फ्लिपकार्ट पर 14 राज्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले 114 एसएचजी विक्रेताओं के 445 उत्पाद उपलब्ध हैं।

 

*******

एमजी/एएम/एमकेएस/डीवी



(Release ID: 1824889) Visitor Counter : 226


Read this release in: Urdu , English , Bengali , Punjabi