वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

श्री पीयूष गोयल आईआईटीएफ का लोकार्पण 14 नवंबर को करेंगे

मेला ‘आत्मनिर्भर भारत’ विषय पर केंद्रित

Posted On: 10 NOV 2021 6:41PM by PIB Delhi

भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले 2021 का लोकार्पण वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल द्वारा नवंबर 14, 2021 को प्रगति मैदान, नई दिल्ली में किया जाएगा। आईआईटीएफ का 40वां संस्करण, इण्डिया ट्रेड प्रमोशन आर्गनाइजेशन का महाकाय मेला, व्यापार और निवेश के कई अवसरों के लिए एक आदर्श गंतव्य के रूप में समग्र रूप से भारत का प्रतिनिधित्व करता है। इस वर्ष, यह मेला एक विशेष महत्व रखता है क्योंकि यह ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ - भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष के उत्सव के साथ मनाया जा रहा है।

मेले का आयोजन प्रगति मैदान में नए प्रदर्शनी परिसर में किया जा रहा है। यह परिसर प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी-सह-सम्मेलन केंद्र (आईईसीसी) का अभिन्न अंग है, परिसर में चार नए आधुनिक प्रदर्शनी हॉल शामिल हैं जिनका लोकार्पण प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 13 अक्टूबर, 2021 को किया गया था।

मेला अपनी थीम "आत्मनिर्भर भारत" पर केंद्रित है, जिसका उद्देश्य घरेलू मांग को पूरा करने और वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला इको-सिस्टम का हिस्सा बनने के लिए विविध क्षेत्रों में निवेश और आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देना है।

यह मेला उन भारतीय उद्यमियों के उत्कृष्ट प्रदर्शन पर प्रकाश डालता है जिन्होंने कोविड19 महामारी के कारण सभी बाधाओं के बावजूद उत्कृष्टता के लिए अनुकरण योग्य समर्पण दिखाया है। महत्वपूर्ण रूप से, आईआईटीएफ ‘वोकल फॉर लोकल’ अभियान के तहत भारतीय उत्पादों को प्रदर्शित करने के लिए एक उपयुक्त मंच प्रदान करता है, और भारतीय अर्थव्यवस्था में नए सिरे से विश्वास और जोश का संचार करता है।

यह कार्यक्रम सभी कोविड प्रोटोकॉल के साथ सुरक्षित वातावरण में आयोजित किया जाएगा।

भारत और विदेश के लगभग 3,000 प्रदर्शकों के साथ, आईआईटीएफ 2021 कुल 70,000 वर्ग मीटर के क्षेत्र में आयोजित किया जा रहा है - पिछले संस्करण 2019 से लगभग तीन गुना। बिहार भागीदार राज्य है, जबकि उत्तर प्रदेश और झारखंड फोकस राज्य हैं।

विदेशी भागीदारी अफगानिस्तान, बांग्लादेश, बहरीन, किर्गिस्तान, नेपाल, श्रीलंका, यूएई, ट्यूनीशिया और तुर्की से है।

पूर्व की भांति, राज्य दिवस समारोह, सेमिनार, कार्यशालाएं और सांस्कृतिक कार्यक्रम आगंतुकों का आकर्षण बढ़ाएंगें।

सरस (SARAS), जूट मैनुफैक्चर्स डेवलप्मेंट काउंसिल, लघु और मध्यम उद्यम, हथकरघा, हस्तशिल्प, कयर बोर्ड, लघु उद्योग, खादी ग्रामोद्योग, कुटीर उद्योग आदि की भागीदारी परंपरागत क्षेत्रों की उपलब्धियों को प्रदर्शित करेगी ताकि उनकी स्थानीय ताकत और वैश्विक आकर्षण को मजबूत किया जा सके।

आईटीपीओ ने प्रदर्शकों और आगंतुकों के समग्र अनुभव को समान रूप से बेहतर बनाने के लिए व्यापक प्रयास किए हैं। उदाहरण के लिए आईटीपीओ ने स्टॉलों और अन्य सेवाओं की बुकिंग के लिए पारदर्शी ऑनलाइन प्रणाली, पहले पांच दिनों के दौरान गणमान्य व्यक्तियों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण, मेले के लिए मोबाइल एप्लिकेशन और सूचना प्रदर्शित करने के लिए एलईडी स्क्रीन का आगाज किया है।

समर्पित डाकघर, बैंकों और एटीएम के अलावा, अन्य सुविधाओं जैसे: मीडिया सेंटर, प्रोटोकॉल, व्यावसायिक दिनों के लिए पंजीकरण (केवल पहले पांच दिन) शामिल हैं। प्रदर्शकों के लिए भैरो मार्ग पर सशुल्क पार्किंग उपलब्ध होगी।

आईटीपीओ आईआईटीएफ और अन्य कार्यक्रमों के दौरान, परिसर को प्लास्टिक - मुक्त बनाने और इसे पर्यावरण अनुकूल विकल्पों से बदलने के लिए सक्रिय पहल को प्रोत्साहित करता है।

***

 

प्र. क. 



(Release ID: 1770678) Visitor Counter : 490


Read this release in: English , Urdu , Marathi