जनजातीय कार्य मंत्रालय

एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय (ईएमआरएस) के शिक्षकों एवं प्रधानाचार्यों के लिए निष्ठा क्षमता निर्माण कार्यक्रम के लिए जनजातीय कार्य मंत्रालय और एनसीईआरटी एक संयुक्त मिशन पर साथ

Posted On: 20 JUN 2021 8:42PM by PIB Delhi

एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों (ईएमआरएस) में अकादमिक उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए जनजातीय कार्य मंत्रालय (एमओटीए) के दीर्घकालिक दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए 3 राज्यों के 120 ईएमआरएस शिक्षकों और प्रधानाचार्यों ने 40 दिवसीय निष्ठा- नेशनल इनिशिएटिव फॉर स्‍कूल हेड्स एंड टीचर्स होलिस्टिक एडवांस्‍मेंट प्रोग्राम- को 19 जून 2021 को पूरा किया जो एनसीईआरटी का एक प्रमुख राष्ट्रीय कार्यक्रम है। इस क्षमता निर्माण कार्यक्रम का उद्देश्य शिक्षकों और प्रधानाचार्यों में दक्षता का निर्माण करना और एकीकृत शिक्षक प्रशिक्षण के माध्यम से स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करना है।

जनजातीय कार्य मंत्रालय ने हाल ही में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के साथ सहयोग किया है जो देश भर में 350 कार्यात्मक ईएमअआरएस स्कूलों में इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करने और विभिन्‍न कार्यक्रम संबंधी पहल एवं हस्तक्षेप के लिए शीर्ष राष्ट्रीय शिक्षा निकाय है।

यह 3 राज्यों- हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के 120 ईएमआरएस शिक्षकों और प्रधानाचार्यों का पहला बैच था। प्रतिभागियों को अधिगम परिणाम, मूल्यांकन प्रथाएं, शिक्षार्थी केंद्रित शिक्षाशास्त्र, कला एकीकृत शिक्षा, लैंगिक समानता, कोविड पर स्कूलों की प्रतिक्रिया, पोक्सो अधिनियम, विज्ञान शिक्षाशास्त्र, गणित, भाषा, सामाजिक विज्ञान विषय जैसी शिक्षा की विभिन्न पहलुओं को कवर करते हुए 18 समग्र एवं व्यापक मॉड्यूल से समर्थ किया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम को एक मिश्रित दृष्टिकोण के साथ ऑनलाइन माध्‍यम से आयोजित किया गया। पाठ्यक्रम सामग्री, गतिविधियों, परियोजनाओं को निष्ठा ऑनलाइन पोर्टल पर साझा किया गया जबकि एनसीईआरटी के सम्मानित संकाय सदस्यों के साथ लाइव इंटरैक्टिव सत्रों का आयोजन वीसी प्लेटफॉर्म पर किया गया। एनसीईआरटी के नेशनल रिसोर्स ग्रुप (एनआरजी) के सदस्यों द्वारा प्रशिक्षण पद्धतियों के तहत कहानियों, प्रश्नोत्तरी एवं पहेली आदि का उपयोग करके एक मिश्रित रणनीति अपनाई गई। आने वाले समय में इस तरह के अन्‍य इन-सर्विस प्रशिक्षण कार्यक्रमों की योजना बनाने के लिए प्रतिभागियों की प्रतिक्रिया से प्रशिक्षण प्रभाव को स्पष्ट रूप से समझा जा सकता है।

जनजातीय कार्य मंत्री श्री अर्जुन मुंडा ने शिक्षकों को बधाई देते हुए कहा कि ईएमआरएस शिक्षकों के लिए निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी-2020) की उस सिफारिश की पुष्टि करता है जिसमें कहा गया है कि 'सेवा के दौरान निरंतर व्यावसायिक विकास के लिए प्रशिक्षण प्रदान करना आवश्‍यक है क्योंकि इससे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए समृद्ध शिक्षण अधिगम प्रक्रियाओं की आवश्‍यकताओं को पूरा करने के लिए मजबूती और विस्‍तार मिलता है।'  

राज्यमंत्री सुश्री रेणुका सिंह सरुता ने अपने संदेश में एनसीईआरटी के साथ सहयोग करने और आने वाले महीनों के दौरान आयोजित किए जाने वाले निष्ठा कार्यक्रमों के सभी बैच के प्रमुख रिसोर्स पर्सन का एक पूल बनाने की योजना तैयार करने में मंत्रालय के प्रयासों की सराहना की। शिक्षकों और प्राचार्यों के आंतरिक ईएमआरएस संसाधन ईएमआरएस स्कूली शिक्षा में अकादमिक उत्कृष्टता हासिल करने के लिए पथ प्रदर्शक साबित होंगे।

निष्ठा कार्यक्रम मंत्रालय द्वारा शुरू किए गए विभिन्न क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रमों का हिस्सा है। 25 मई से 5 जून, 2021 तक एक 10 दिवसीय 'अनबॉक्स टिंकरिंग - एटीएल शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम' भी आयोजित किया गया। इसे अटल इनोवेशन मिशन, नी‍ति आयोग, आईबीएम और 12 राज्यों के 60 ईएमआरएस प्रमुखों, शिक्षकों एवं एटीएल प्रभारी के लिए लर्निंग लिंक्स फाउंडेशन के समन्वय के साथ आयोजित किया गया। कार्यक्रम के दौरान परिचर्चा एवं अनुकरण सत्रों की श्रृंखला आयोजित की गई जिसमें डिजाइन थिंकिंग के लिए कम्प्यूटेशनल थिंकिंग, अर्डुइनो बेसिक्स कोडिंग आदि जैसे व्यापक विषयों पर विचारों के आदान-प्रदान किया गया।

 

……

 

एमजी/एएम/एसकेसी



(Release ID: 1728971) Visitor Counter : 410


Read this release in: English , Urdu , Marathi , Punjabi