इलेक्ट्रानिक्स एवं आईटी मंत्रालय

भारत का इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय एडब्ल्यूएस द्वारा चालित क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लीकेशन लैब की स्थापना करेगा

भारत की विज्ञान और प्रौद्योगिकी विकास पहलों और अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने की दिशा में क्वांटम कंप्यूटिंग का प्रयोग अग्रणी पहल

अभिनव प्रयोगों को संचालित करने के सरकार के राष्ट्रीय मिशन को

सहायता देने के लिए यह विश्व की पहली एडब्ल्यूएस समर्थित

क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लीकेशन लैब है

Posted On: 19 JAN 2021 6:35PM by PIB Delhi

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय क्वांटम कंप्यूटिंग के क्षेत्र में अनुसंधान और विकास में तेजी लाने और नई वैज्ञानिक खोजों को सक्षम बनाने हेतु, एडब्ल्यूएस के साथ सहयोग से क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लीकेशन लैब की स्थापना करेगा। मंत्रालय की क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लीकेशन लैब विनिर्माण, स्वास्थ्य सेवा, कृषि और एयरोस्पेस इंजीनियरिंग जैसे क्षेत्रों में प्रगति को सक्षम बनाने के लिए मंत्रालयों और विभागों, शोधकर्ताओं, वैज्ञानिकों, शिक्षाविदों और विकासकर्ताओं को क्वांटम कंप्यूटिंग सेवा प्रदान करेगी। एडब्ल्यूएस इस लैब के लिए तकनीकी और प्रोग्राम समर्थन प्रदान करेगा। इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की यह पहल सरकार की विज्ञान और प्रौद्योगिकी प्राथमिकताओं के साथ वैज्ञानिक, शैक्षणिक और विकासकर्ता समुदायों को क्वांटम कंप्यूटिंग विकास क्षेत्र तक पहुंच प्रदान करेगी।

क्वांटम कंप्यूटिंग एक उभरता हुआ क्षेत्र है जो सूचना को संसाधित करने के लिए शक्तिशाली उपकरण बनाने के लिए क्वांटम यांत्रिकी के नियमों का इस्तेमाल करता है। इसमें कम्प्यूटर क्षेत्र की उन सभी समस्याओं को हल करने की क्षमता है जो क्लासिकल कंप्यूटरों की पहुंच से परे हैं। इसके माध्यम से नई सफलताओं को हासिल करते हुए रासायनिक अभियांत्रिकी, सामग्री विज्ञान, औषध खोज, वित्तीय क्षेत्र अनुकूलन, मशीन शिक्षण और बहुत से अन्य क्षेत्रों में काफी बदलाव लाया जा सकता है।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव अजय साहनी ने कहा कि भारत के पास विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार में एक समृद्ध विरासत है। हम मानते हैं कि भारत के लिए आगामी मार्ग विश्वस्तरीय वैज्ञानिक समाधानों को प्राप्त करके ही संचालित होगा। हमारे वैज्ञानिक समुदाय को उन्नत तकनीकों के साथ सक्षम करना वैज्ञानिक प्रगति और शिक्षण की दिशा में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि कि एडब्ल्यूएस की सहायता से इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लिकेशन लैब की स्थापना के साथ भारत की विज्ञान और प्रौद्योगिकी यात्रा में एक और महत्वपूर्ण कदम उठाने पर आज अपार प्रसन्नता का अनुभव हो रहा है।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अपर सचिव डॉ. राजेंद्र कुमार  ने कहा कि क्वांटम कंप्यूटिंग में एक प्रारंभिक और सफल आधारशिला इस उभरते हुए क्षेत्र में नेतृत्व हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण है। एडब्ल्यूएस के समर्थन के साथ स्थापित इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लिकेशन लैब, दुनिया में अपनी तरह की पहली पहल है, और इसका उद्देश्य भारत के प्रतिभाशाली शोधकर्ताओं को क्वांटम कंप्यूटिंग के अपरिवर्तित अनुप्रयोगों का पता लगाने में सक्षम बनाने के साथ-साथ नई खोजों और अनुसंधानों में मार्ग प्रशस्त करना है।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस प्रभाग के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अभिषेक सिंह ने कहा मंत्रालय एक मुख्य मिशन नवाचार को बढ़ावा के साथ भारत को आगे बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकियों की पहचान करना और उन्हें स्थापित करते हुए भारत के लिए सक्षम दीर्घकालिक भविष्य बनाना है। उन्होंने कहा कि क्वांटम कंप्यूटिंग में देशों को पीढ़ियों तक प्रौद्योगिकी मदद देने के अलावा वैज्ञानिक नेतृत्व हासिल करने और जटिल आर्थिक और सामाजिक चुनौतियों से निपटने की असाधारण क्षमता है। यह पहल क्वांटम कम्प्यूटिंग अनुप्रयोगों के विकास में भारत में जारी प्रयासों का को बढ़ावा देगी।

अमेजन वेब सर्विसेज, इंक के वैश्विक सार्वजनिक क्षेत्र की अंतर्राष्ट्रीय बिक्री के उपाध्यक्ष मैक्स पेटर्सन ने कहा कि भारत में वैज्ञानिक समुदाय को सशक्त बनाने के लिए इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के दूरदर्शी नेतृत्व के लिए वह मंत्रालय को बधाई देते हैं। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की क्वांटम कंप्यूटिंग लैब को समर्थन के माध्यम से उनका उद्देश्य वैज्ञानिकों, शोधकर्ताओं, डेवलपर्स और संगठनों को अधिक क्वांटम कम्प्यूटिंग उपलब्ध कराने के साथ-साथ उन्हें प्रौद्योगिकी के उपयोग और प्रयोग में सक्षम बनाना  और क्वांटम क्षेत्र के व्यावहारिक अनुप्रयोगों का पता लगाने में सहायता प्रदान करना है।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लिकेशन लैब केंद्र और राज्य सरकारों, अनुसंधान संस्थानों और शिक्षाविदों के बीच प्रयोग के लिए क्वांटम कंप्यूटिंग से जुड़ी समस्याओं की पहचान करेगी। यह पहल समस्या से निपटने के लिए सरकारी क्षेत्र के विषय विशेष विशेषज्ञों के साथ इस दिशा में कार्य करने और उनका समाधान करने के लिए शोधकर्ताओं, शिक्षाविदों और संगठनों से आवेदनों को आमंत्रित करेगा। इसके बाद लैब अमेजॉन ब्रेकेट के जरिए बिना किसी शुल्क के चुनिंदा आवेदकों को क्वांटम कंप्यूटिंग हार्डवेयर, सिमुलेटर, और प्रोग्रामिंग टूल्स ऑन-डिमांड उपलब्ध कराएगा, जो वैज्ञानिकों और डेवलपर्स इसके संबंध में रूपरेखा तैयार करने और उन्नत प्रयोगों को संचालित करने में सक्षम बनाएगा। अमेज़ॉन ब्रेकेट उपयोगकर्ताओं को क्वांटम रूपरेखा को डिजाइन करने के साथ-साथ उन्हें क्वांटम कंप्यूटरों पर परीक्षण करने और उनका निवारण करने में सक्षम बनाते हुए अलग-अलग क्वांटम हार्डवेयर प्रौद्योगिकियों पर संचालन करने के लिए एक विकास वातावरण प्रदान करता है।

एआईएसपीएल, एडब्ल्यूएस इंडिया और साउथ एशिया के सार्वजनिक क्षेत्र के अध्यक्ष राहुल शर्मा ने कहा कि वैज्ञानिक अनुसंधानों के लिए वैज्ञानिकों और अनुसंधानकर्ताओं के समक्ष आने वाली चुनौतियों में जटिल बुनियादी ढ़ांचा और प्रबंधन एवं क्वांटम कम्प्यूटिंग हार्डवेयर और विशेषज्ञता तक सीमित पहुँच शामिल हैं। उन्होंने कहा कि क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लीकेशन लैब को स्थापित करने में इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साथ हमारा सहयोग इन चुनौतियों को दूर करने और नवाचार पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अनुसंधान, शैक्षणिक और वैज्ञानिक समुदाय को एडब्ल्यूएस सेवाओं की व्यापक उपलब्धता प्रदान करेगा।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की क्वांटम कम्प्यूटिंग एप्लीकेशन लैब सरकारी निकायों और वैज्ञानिक समुदाय को समस्याओं और अवसरों को तेजी से पहचानने में साथ-साथ कम जोखिम वाले वातावरण में दुनिया की वास्तविक चुनौतियों से निपटने के लिए अनुप्रयोगों और प्रोटोटाइप के माध्यम से परीक्षण करने में मदद करेगी। इन प्रयोगों के परिणामों से शोधकर्ताओं को समस्यापूर्ण विषयों को साक्ष्य-अवधारणाओं के साथ हल करने में मदद मिलेगी, साथ ही यह क्वांटम कंप्यूटिंग में नए अनुप्रयोगों, मॉडलों और रूपरेखाओं के विकास को भी बढ़ावा देगा।

****

एमजी/एएम/एसएस



(Release ID: 1690465) Visitor Counter : 102


Read this release in: English , Marathi , Tamil