रक्षा मंत्रालय

मिशन सागर III – आईएनएस किल्तान ‘हो ची मिन सिटी’ पहुंचा

Posted On: 24 DEC 2020 7:44PM by PIB Delhi

मिशन सागर III के अंतर्गत भारतीय नौसेना का पोत ‘किल्तान’ 24 दिसंबर 2020 को ‘हो ची मिन सिटी’ के नहारोंग बंदरगाह पर पहुंच गया है। यह मिशन कोविड महामारी के दौरान विदेशी मित्र देशों को भारत की ओर से मानवता के नाते सहायता और आपदा राहत (ह्यूमैनिटेरियन असिस्टेंस एंड डिजास्टर रिलीफ- एचएडीआर) पहुँचाने का एक हिस्सा है।

यह पोत सेंट्रल वियतनाम के बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए 15 टन एचएडीआर राशन पहुंचाएगा, जिसे वियतनाम के राष्ट्रीय आपदा निवारण और नियंत्रण विभाग की केन्द्रीय परिचालन समिति को सौंपा जाएगा। भारत की ओर से दी जाने वाली ये सहायता दोनों देशों के लोगों के बीच घनिष्ठ संबंधों को दर्शाती है।

मिशन सागर III को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के एसएजीएआर (क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा और विकास) दृष्टिकोण के तहत साकार किया जा रहा है। ये मिशन भारत की स्थिति को एक विश्वसनीय साझेदार के रूप में दोहराता है और इस बात पर बल देता है कि भारतीय नौसेना सबसे अधिक पसंद की जाने वाली सुरक्षा साझेदार और सबसे पहले मदद के लिए आगे आने वाला संगठन है। ये मिशन भारत की ओर से आसियान देशों को दिए जाने वाले महत्व को भी रेखांकित करता है और इन देशों के बीच आपसी रिश्तों को मज़बूत बनाता है।

भारत और वियतनाम के बीच हज़ारों साल पुराने रिश्ते हैं, जो दोनों देशों की सभ्यताओं पर आधारित हैं। पिछले कुछ समय में आर्थिक मोर्चे पर जुड़ाव और समान्य हितों के मुद्दे पर बढ़ती समानता के कारण भारत-वियतनाम के रिश्ते और मज़बूत हुए हैं। दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय रिश्तों को वर्ष 2016 में एक नया रूप देकर व्यापक रणनीतिक साझेदार बनने तक लाया गया था।

वर्तमान यात्रा से दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच समुद्री सहयोग बढ़ने की उम्मीद है। ये यात्रा दोनों देशों के बीच दोस्ती को और मज़बूत करने के अलावा इस क्षेत्र की सुरक्षा और स्थिरता में योगदान भी देगी। हो चिन मिन सिटी से प्रस्थान के बाद यह पोत 26 से 27 दिसंबर 2020 तक दक्षिण चीन समुद्र में वियतनाम पीपल्स नेवी के साथ एक अभ्यास (पैसेज एक्सरसाइज) में भाग लेगा।

 

एमजी/एएम/पीजी/डीसी


 



(Release ID: 1683565) Visitor Counter : 164


Read this release in: English , Urdu , Tamil