राष्ट्रपति सचिवालय

राष्ट्रपति ने 34 वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला का उद्घाटन किया; उन्होंने  सभी लोगों से ‘एक बेहतर कल के लिए स्थानीय खरीदारी’ को एक आंदोलन में बदल देने का आग्रह किया

Posted On: 01 FEB 2020 4:23PM by PIB Delhi

राष्ट्रपति, श्री रामनाथ कोविंद ने आज (1 फरवरी, 2020) को हरियाणा के सूरजकुंड में 34 वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेले का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर बोलते हुए, राष्ट्रपति ने कहा कि सूरजकुंड मेला जैसे अवसर साधारण कारीगरों और शिल्पकारों को उनके कौशल के लिए वास्तविक मान्यता और मूल्य प्रदान करते हैं। ये अवसर उन्हें ग्राहकों के सामने अपने उत्पादों का सीधा प्रदर्शन करने और बेचने का एक उत्कृष्ट अवसर भी प्रदान करते हैं। सूरजकुंड मेला ने भारत के विभिन्न उल्लेखनीय शिल्प परंपराओं को विलुप्त होने से बचाया है। कई कारीगरों, शिल्पकारों और बुनकरों के लिए यह मेला उनकी वार्षिक आय का प्रमुख स्रोत है।

राष्ट्रपति ने कहा कि हमें अपने देश के कारीगरों द्वारा निर्मित की गई वस्तुओं पर गर्व महसूस करना चाहिए। उन्होंने बेहतर कल के लिए स्थानीय खरीदारी वाले मंत्र को दोहराया। उन्होंने सभी लोगों से आग्रह किया कि 'बेहतर कल के लिए स्थानीय खरीदारी' के दर्शन को एक आंदोलन में बदल दें। उन्होंने कहा कि स्थानीय रूप से निर्मित उत्पादों का उपयोग करके  हम अपने क्षेत्र के छोटे उद्यमियों का बहुत हद तक मदद कर सकते हैं।

हिंदी में भाषण देखने के लिए यहां क्लिक करें।

आर.के.मीणा/आरएनएम/एएल/एमबी – 5555 

 



(Release ID: 1601626) Visitor Counter : 316


Read this release in: English , Urdu