रक्षा मंत्रालय

आत्मनिर्भर भारत: आईडेक्स-डीआईओ ने उन्नत गैलियम नाइट्राइड सेमीकंडक्टर के डिजाइन और विकास के विशिष्ट क्षेत्र में रक्षा के क्षेत्र में नवाचार के लिए 300वें अनुबंध पर हस्ताक्षर किए

Posted On: 01 DEC 2023 5:10PM by PIB Delhi

रक्षा उत्पादन विभाग की प्रमुख पहल, इनोवेशन फॉर डिफेंस एक्सीलेंस (आईडेक्स-डीआईओ), अपने 300वें अनुबंध पर हस्ताक्षर के साथ एक मील के पत्थर पर पहुंच गई है। यह अनुबंध उन्नत गैलियम नाइट्राइड सेमीकंडक्टर के डिजाइन और विकास से संबंधित है जो रडार से लेकर ईडब्ल्यू (इलेक्ट्रॉनिक्स वारफेयर) जैमर तक रक्षा अनुप्रयोगों में वायरलेस ट्रांसमीटरों की अगली पीढ़ी के लिए आवश्यक है। वर्तमान में, लगभग सभी जीएएन घटकों को एक संवेदनशील और अत्याधुनिक तकनीक के रूप में आयात किया जाता है जिसका निर्यात कई देशों द्वारा नियंत्रित और प्रतिबंधित है। प्रस्ताव का उद्देश्य पूरी तरह से स्वदेशी जीएएन तकनीक का उपयोग करके भारत में रक्षा के लिए जीएएन घटकों का डिजाइन, विकास और निर्माण करना है। इससे स्वदेशी डिजाइन और विकास की क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि होगी, जिससे निर्यात सहित रक्षा क्षेत्र में अपार संभावनाओं का मार्ग प्रशस्त होगा।

अतिरिक्‍त सचिव (रक्षा उद्योग उत्पादन) और सीईओ/डीआईओ श्री टी. नटराजन ने नई दिल्ली में रक्षा सचिव श्री गिरिधर अरमाने और रक्षा मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ सदस्यों और सैन्य अधिकारियों की उपस्थिति में मेसर्स एग्निट सेमीकंडक्टर्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। 01 दिसंबर, 2023 आईडेक्स ने 15 फरवरी, 2023 को स्प्रिंट पहल के तहत लॉन्च किए गए भारतीय नौसेना प्राइम चैलेंज के विजेता के साथ अपने 200वें अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के नौ महीने के भीतर मील का पत्थर हासिल किया। आईडेक्स के 150वें अनुबंध पर दिसंबर 2022 में हस्ताक्षर किए गए थे।

अपने संबोधन में, रक्षा सचिव ने नवप्रवर्तकों की सफलता पर उनकी सराहना की और स्वदेशी प्रौद्योगिकियों के त्वरित विकास की आवश्यकता को दोहराया। उन्होंने 300वें अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के लिए आईडेक्स की सराहना की और अधिकारियों से नवप्रवर्तकों को रक्षा क्षेत्र से जोड़ने की प्रभावशाली गति बनाए रखने का आह्वान किया।

एक अन्य विकास में, 'मेक इन इंडिया' पहल और आईडेक्स को नवप्रवर्तकों के लिए 'खरीद का मार्ग' बनाने की प्रतिबद्धता को जारी रखते हुए, बीईएल ने अपने समाधान ‘ट्राइडेंट’ के लिए आईडेक्स विजेता मेसर्स ब्लर्ग्स इनोवेशन प्राइवेट लिमिटेड के साथ एक खरीद अनुबंध पर हस्ताक्षर किए, जो समुद्री सुरक्षा को बढ़ाने के लिए डिजाइन किए गए एक मजबूत समाधान के साथ एक बुद्धिमान समुद्री डोमेन जागरूकता संबधी है। यह समाधान असामान्य पहचान पर भरोसा करके बेहतर समुद्री डोमेन संबंधी जागरूकता बनाने में सहायता करता है और त्वरित निर्णय लेने में सहायता करेगा। यह आईडेक्स योजना के तहत रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों द्वारा दिया गया पहला खरीद आदेश है।

आईडीईएक्स फ्रेमवर्क को 2018 में प्रधानमंत्री द्वारा रक्षा क्षेत्र में सह-निर्माण और सह-विकास का एक मंच प्रदान करने, स्टार्ट-अप को शामिल करने और देश में रक्षा और एयरोस्पेस स्थापित करने के उद्देश्य से लॉन्च किया गया था। आईडेक्स को रक्षा उत्पादन विभाग के तहत स्थापित रक्षा नवाचार संगठन द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है।

थोड़े ही समय में आईडेक्स, जिसे वर्ष 2021 के लिए इनोवेशन श्रेणी में सार्वजनिक नीति के लिए प्रतिष्ठित प्रधानमंत्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है, डीआईएससी, प्राइम और खुली चुनौतियां जैसे अपने प्रमुख कार्यक्रमों के माध्यम से रक्षा इको-सिस्टम में गेम चेंजर के रूप में उभरा है। आईडेक्स आवश्यक गति बनाने और रक्षा क्षेत्र में बड़ी संख्या में स्टार्ट-अप उत्पन्न करने में सक्षम है। यह हजारों की संख्या में रोजगार सृजित करने और भारत की प्रतिभा को देश में वापस आकर्षित करने में भी सक्षम है।

***

एमजी/एआर/एसकेएस/एसके



(Release ID: 1981672) Visitor Counter : 181


Read this release in: English , Urdu