वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

एपीडा ने भारतीय कृषि उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए लुलु हाइपरमार्केट के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए


यह समझौता ज्ञापन अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भारतीय कृषि उत्पादों को बढ़ावा देने में मदद करेगा

Posted On: 06 NOV 2023 5:04PM by PIB Delhi

खाड़ी के सहयोगी देशों (जीसीसी) में कृषि उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने हेतु भारत सरकार के वाणिज्य मंत्रालय के कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) ने वैश्विक खुदरा बाजार की प्रमुख कंपनी लुलु हाइपरमार्केट एलएलसी के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। नई दिल्ली में आयोजित वर्ल्ड इंडिया फूड (डब्ल्यूआईएफ) 2023 में 3 नवंबर, 2023 को एपीडा के अध्यक्ष श्री अभिषेक देव और लुलु समूह के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री यूसुफ अली एमए के बीच इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इस समझौता ज्ञापन का उद्देश्य वैश्विक स्तर पर ब्रांड इंडिया को बढ़ावा देना है।

इस समझौता ज्ञापन के साथ, एपीडा पूरे जीसीसी में मोटे अनाजों (मिलेट्स) सहित भारतीय कृषि उत्पादों को बढ़ावा देगा क्योंकि लुलु ग्रुप इंटरनेशनल (एलएलसी) की जीसीसी, मिस्र, भारत और सुदूर पूर्व में 247 लुलु स्टोर और 24 शॉपिंग मॉल के साथ मौजूदगी है। लुलु समूह मध्य पूर्व और एशिया में सबसे तेजी से बढ़ती खुदरा श्रृंखला है।

यह समझौता ज्ञापन लुलु हाइपर मार्केट रिटेल श्रृंखला के साथ एपीडा के निर्धारित उत्पादों के लिए प्रचारात्मक गतिविधियों की भी सुविधा प्रदान करेगा। समझौता ज्ञापन के दस्तावेज़ के अनुसार, लुलु समूह अपने खुदरा दुकानों में कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों की एपीडा की टोकरी में उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला को सक्रिय रूप से बढ़ावा देगा और प्रदर्शित करेगा।

एपीडा के उत्पादों को प्रमुखता से प्रदर्शित करने और उनकी दृश्यता बढ़ाने हेतु लुलु समूह के स्टोर के भीतर एक समर्पित शेल्फ स्थान (विशेष खंड या गलियारे) आवंटित किए जायेंगे।

एपीडा और लुलु समूह संवादात्मक कार्यक्रमों, नमूनाकरण/चखने के अभियानों, मौसम के अनुसार फलों एवं सब्जियों के लिए विशिष्ट अभियानों, नए उत्पाद लॉन्च और हिमालयी/उत्तर पूर्वी राज्यों से आने वाले उत्पादों, जैविक उत्पादों आदि के प्रचार के जरिए उपभोक्ताओं के साथ जुड़ेंगे।

एपीडा ने हिमालयी और उत्तर पूर्वी राज्यों की निर्यात संबंधी संभावनाओं को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लुलु समूह के साथ अरुणाचल प्रदेश विपणन बोर्ड, जम्मू स्थित शेर-ए-कश्मीर कृषि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय और मेघालय कृषि विपणन बोर्ड के समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने में भी मदद की।

प्रचार संबंधी गतिविधियां गंतव्य देश में उपभोक्ताओं के लिए प्रजातीय, अनूठे और जीआई-टैग वाले कृषि-उत्पादों के लाभों के बारे में जानकारी एवं जागरूकता का अधिकतम प्रसार करने में सक्षम होंगी। उत्पाद संबंधी पेशकशों को बेहतर बनाने हेतु उपभोक्ताओं से सक्रिय रूप से प्रतिक्रियाएं मांगी जायेंगी।

इस समझौता ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि एपीडा और लुलु समूह संयुक्त रूप से अपने स्टोरों के अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क के जरिए कृषि उत्पादों के निर्यात को सुविधाजनक बनाने के अवसरों का पता लगाने के लिए काम करेंगे, जिससे भारतीय कृषि उत्पादों की वैश्विक पहुंच और उपभोक्ताओं तक इसकी सुलभता में विस्तार होगा।

एपीडा और लुलु समूह, दोनों संयुक्त रूप से विदेश में स्थित भारतीय मिशनों और संबंधित हितधारकों के सहयोग से क्रेता-विक्रेता बैठक (बीएसएम), आर-बीएसएम/बी2बी बैठकें, व्यापार मेले/रोड शो जैसे निर्यातोन्मुखी प्रचार कार्यक्रमों की सुविधा प्रदान करेंगे।

इस समझौता ज्ञापन के दस्तावेज में यह कहा गया है कि लुलु समूह विभिन्न आयातक देशों की आवश्यकताओं के अनुरूप उत्पादों की लेबलिंग में अपनी सहायता प्रदान करेगा। साथ ही, इसमें यह भी कहा गया है कि दोनों पक्ष वाणिज्यिक मामलों और लागू शर्तों को पारस्परिक रूप से तय करेंगे।

***

एमजी/एआर/आर/एसएस



(Release ID: 1975171) Visitor Counter : 304


Read this release in: English , Urdu