विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय

कैरियर शोधकर्ताओं को भारत और जर्मनी के बीच वैज्ञानिक एवं तकनीकी सहयोग के क्षेत्र में  नेटवर्किंग अवसरों की खोज के लिए पुरस्कार दिया गया

Posted On: 16 NOV 2022 3:39PM by PIB Delhi

भारत और जर्मनी के कुल 11 कैरियर शोधकर्ताओं ने 'अनुप्रयोगी अनुसन्धान (एप्लाइड रिसर्च) में पेयर्ड अर्ली करियर फेलोशिप (पीईसीएफएआर )' प्राप्त किया है जिससे उन्हें अग्रणी क्षेत्रों में भारत और जर्मनी के बीच विज्ञान और प्रौद्योगिकी में अनुसंधान सहयोग के लिए कनेक्टिंग और नेटवर्किंग के अवसरों का पता लगाने के लिए उनकी छोटी अवधि की यात्रा की सुविधा प्रदान मिल सकेगी।

यह पहली बार है जब शोधकर्ताओं ने पीईसीएफएआर के अंतर्गत यह पुरस्कार प्राप्त किया है और  जिसे हाल ही में भारत और जर्मन के शुरुआती करियर शोधकर्ताओं के बीच द्विपक्षीय आदान-प्रदान की सुविधा के लिए प्रारम्भ किया गया था। यह परिकल्पना की गई है कि नेटवर्किंग के माध्यम से इस तरह के जुड़ाव दीर्घकालिक द्विपक्षीय सहयोग को और स्थापित करेंगे तथा  संभावित सहयोग के लिए भारतीय और जर्मन अनुसंधान परिदृश्य का पता लगाने का अवसर प्रदान करेंगे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0012Y0U.jpg

इस पहल को व्यवहारिक अनुसंधान पर ध्यान देने के साथ विज्ञान और प्रौद्योगिकी सहयोग को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के भारत-जर्मन विज्ञान और प्रौद्योगिकी केंद्र (आईजीएसटीसी) और जर्मनी सरकार के संघीय शिक्षा और अनुसंधान मंत्रालय (बीएमबीएफ) द्वारा स्थापित एक द्विपक्षीय संस्था द्वारा शुरू किया गया है।

आईजीएसटीसी ने 15 नवंबर 2022 को एक वर्चुअल पुरस्कार समारोह का आयोजन किया। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार में सलाहकार और प्रमुख, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और भारतीय सह-अध्यक्ष श्री एस.के. वार्ष्णेय तथा एशिया और ओशिनिया, संघीय शिक्षा और अनुसंधान मंत्रालय (बीएमबीएफ), जर्मनी सरकार में एशिया और ओशिनिया डिवीजन सहयोग की  प्रमुख और जर्मन सह-अध्यक्ष सुश्री कैथरीन मेयर ने पुरस्कार विजेताओं को संबोधित किया और उन्हें बुनियादी ढांचे/प्रयोगशाला सुविधाओं, कार्य संस्कृति, उद्यमशीलता के मार्गों एवं अंतर- संस्थागत नेटवर्किंग सहित विभिन्न एसएंडटी पहलुओं की खोज के लिए भारत और जर्मनी का दौरा करने का अवसर लेने के लिए प्रेरित किया। भारतीय और जर्मन पुरस्कार विजेताओं की प्रत्येक जोड़ी ने कार्यक्रम पर अपने विचार रखे और कहा  कि कैसे इस प्रकार के अवसर उनके भविष्य के अनुसंधान प्रयासों के लिए एक नींव तैयार करेंगे।

पीईसीएफएआर-2022 के पुरस्कार विजेताओं का विवरण निम्नवत  है :

जोड़ीदार अध्येताओं ( फेलोज ) का नाम और संबद्धता

क्रम सं.

भारत

जर्मनी

I

तरुण रंभा, आईआईएससी बेंगलुरु

मैक्सिमिलियन शिफर, टीयू म्यूनिख

II

सुरभि जैन, आईआईटी-आईएसएम धनबाद

एना पाउला रिबेरा, टीयू म्यूनिख

III

पंकज खन्ना, आईआईटी गांधीनगर

 

शमूएल थॉमस थीले हेल्महोल्ट्ज इंस्टीट्यूट फ्रीबर्ग फॉर रिसोर्स टेक्नोलॉजी 

IV

अंकित जैन, आईआईटी बॉम्बे

अभिषेक खेतान, आरडब्ल्यूटीएच आचेन

V

साई गौतम गोपालकृष्णन, आईआईएससी बेंगलुरु

हंस-जॉर्ज स्टीन्रक, पैडरबोर्न विश्वविद्यालय

VI

उमा शंकर, केन्द्रीय विश्वविद्यालय  पंजाब

अमित खुराना, आरडब्ल्यूटीएच विश्वविद्यालय अस्पताल

VII

सैकत कुमार शोम, सीएसआईआर-सीएमईआरआई, दुर्गापुर

अमर्त्य गांगुली, टीयू म्यूनिख

 

VIII

तन्मय चक्रवर्ती, आईआईटी दिल्ली

देबार्घ्य घोषदास्तिदार, टीयू म्यूनिख

IX

प्रतीक सक्सेना, आईआईटी मंडी

क्रिश्चियन लाहोडा, टीयू बर्लिन

X

बुक्के किरण नाइक, एनआईटी राउरकेला

सुमित अग्रवाल, पीटीबी, ब्राउनश्विक

XI

खालिद मुजामिल गनी, एनआईटी श्रीनगर

तवसीफ मैराज शाह, हैम्बर्ग प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय

 

*****

एमजी/एएम/एसटी



(Release ID: 1876647) Visitor Counter : 138


Read this release in: English , Urdu , Hindi